संदेश

मार्च, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

निजामुद्दीन मरकज़ तबलीगी कार्यक्रम से जौनपुर आये 50 लोग क्वारेंटाइन में रखें गये - डीएम जौनपुर

चित्र
सरायख्वाजा पुलिस ने  14 बंगला देशीयों की किया गिरफ्तार रखें गये क्वारेंटाइन में      जौनपुर। दिल्ली के निजामुद्दीन में आयोजन मरकज़ तबलीगी धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होकर 50 लोग जौनपुर में आये हैं।  इनके आने  की खबर मिलते ही जिले के प्रशासनिक हलके में हड़कंप मच गया। जिला प्रशासन ने आनन फानन में सभी को शिया कालेज में बनाये गये क्वारेंटाइन में रखने के बाद इन लोगो की जन्मकुण्डली खंगालने में जुट गया है। इस कार्य की जिम्मेदारी सीआरओ और सीडीओं को सौप दिया गया है। ये दोनो अधिकारी तेज से अपने काम को अंजाम देने में लग गये है।  बतादे  दक्षिण दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में पिछले दिनों आयोजित हुए मरकज़  तबलीगी  जमात में शामिल होने वाले 24 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित होने की खबर मिलने के बाद पूरा देश दहशत के साये  में है और चौतरक हड़कंप मचा हुआ है। इस धार्मिक कार्यक्रम में मलेशिया,अफगानिस्तान,म्यांमार,थाईलैंड,श्रीलंका समेत तमाम देश के सभी राज्यों से लोग शामिल होने के लिए आये हुए थे। यूपी सरकार के सख्त निर्देश के बाद इसमें शामिल होने वालो की तलाश करने का काम शुरू हो गया था । डीएम दिनेश क

लाक डाऊन अवधि में घरों पर पहुचेगी खाद्य सामग्री जनता घरों में रहे सरकार की अपील माने - डीएम जौनपुर

चित्र
 जौनपुर।  जनपद में लाक डाऊन की अवधि में आम जनता को परेशानियों से बचाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा  62 गाड़ियों से खाद्यान्न मोहल्लों में उपलब्ध कराया जा रहा है । 120 ठेले लगाए गए तथा 39 दुकानें ऐसी हैं जो टेलीफोन पर आर्डर से घर सामान पहुंचा रही है।ं 17 मेडिकल की शॉप ऐसी हैं जो दवा टेलीफोन पर घर पहुंचा रही हैं। 06 हजार से अधिक भोजन के पैकेट बनवा करके पूरे जनपद में गरीबों में बटवाए गए हैं। सभी सामाजिक संगठन इस काम में लगे हुए हैं । 5100 श्रमिक जो श्रम विभाग में पंजीकृत उनके खातों में सरकार द्वारा आज रू1000 भी डाला गया है। 11 लोग ऐसे हैं जिन्होंने क्वॉरेंटाइन के नियमों को नहीं माना उनके खिलाफ एफआई आर दर्ज कराई गई । 02 लोग जो मुनाफाखोरी करते हुए पाए गए उनके खिलाफ एफआई आर दज कराई गई है। 9570 मुसहर परिवारों में 05 किलो आटा, 02 किलो चावल, 01 किलो दाल, 01 किलो चीनी, 01 किलो नमक, 10 बिस्किट के पैकेट तथा हल्दी और मसाले का 01 पैकेट बनाकर खंड विकास अधिकारियों के माध्यम से उनके घरों में भेजा गया । अब तक 3000 परिवारों में भेजा जा चुका है यह सभी सामाजिक संगठनों ने ही उपलब्ध कराया है।

क्वाटराइन नियमों का पालन न करने वाले 11 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज - डी एम जौनपुर

चित्र
    जौनपुर।  जिलाधिकारी  दिनेश कुमार सिंह के अनुसार  जनपद जौनपुर में अब तक 434 लोग ऐसे हैं जो विदेश से आए हैं और लगभग 12080 लोग हैं जो विभिन्न राज्यों से आए  हैं।इन सभी को अपने-अपने घरों में अलग बिल्कुल रहना है किसी को स्पर्श नहीं करना है ।और इस तरह की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं कि वह लोग घर के बाहर निकलते हैं घूमते  हैं।सभी थानाध्यक्ष को इस संबंध में कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए गए अब तक 11 लोगों के खिलाफ  क्वाटराइन के नियमों को ना मानने के कारण एफ आई आर दर्ज की गई है। आज मुख्य चिकित्सा अधिकारी को इस संबंध में निर्देश दिए गए हैं जिनको 14 दिन से अधिक हो गए लेकिन उनमें किसी प्रकार के लक्षण हैं तो उनको घर से लाकर की प्रशासन द्वारा बनाई गई व्यवस्था में क्वॉरेंटाइन में रखा जाए और उनकी निगरानी हो।इसी प्रकार ऐसे लोग हैं जिनका 14 दिन अभी पूरा नहीं हुआ लेकिन उनमें किसी प्रकार के लक्षण परिलक्षित होते हैं तो उनको भी लाकरके प्रशासन द्वारा बनाई गई व्यवस्था के अंतर्गत रखा जाए एवं निगरानी की जाएगी। तथा ऐसी सभी संदिग्ध लोगों के  नमूने  लेकर के बीएचयू में जांच के लिए भेजा जाये।मेरी पुनः ऐ

लाक डाऊन अवधि में मोहम्मद हसन कालेज प्रशासन के साथ - डा.अब्दुल कादिर

चित्र
जौनपुर। कोरोनावायरस से आज के समय में पूरा देश लाकडाउन हो चुका है जो प्रधानमंत्री के अपील के बाद पूरे देश में हर तरह के संचालन पर रोक लगा दी गई जो प्रधानमंत्री के इस अपील का देश के सभी नागरिक बखूबी कर्मठता से पालन कर रहे हैं इसी तरह जनपद जौनपुर के शिराज ए हिंद में देश के में अपनी एक अहम भूमिका निभाने के लिए जिलाधिकारी श्री दिनेश कुमार सिंह एवं जिला विद्यालय निरीक्षक श्री प्रवीण त्रिपाठी के निर्देशानुसार जिले के  प्रतिष्ठित कॉलेज मोहम्मद हसन इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य मोहम्मद नासिर खान ने अपने विद्यालय में अध्ययनरत सभी बच्चों को उनके दूरभाष नंबर पर एवं अभिभावकों को कोरोना वायरस ऐसे भयानक बीमारी से बचने के लिए उन्होंने एक संघर्षशील एवं सशक्त होने के लिए अपना सुझाव दिया। प्रधानाचार्य मोहम्मद नासिर खान ने बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति के संपर्क में आने के बाद इसका वायरस मैग्नेट की तरह दूसरे व्यक्ति से चिपक जाता है। वहीं, किसी कोरोना वायरस के संक्रमित लोगों से बात करने पर उसका मुंह से निकले पानी की बूंद (ड्रॉपलेट) के कारण आपके शरीर में वायरस संक्रमित होता है। बात

कोरोना के चलते पहली किस्त में जेल से रिहा हुए 75 बन्दी

चित्र
   जौनपुर। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते अब  जिला कारागार में बंद पहली  किस्त में बिचाराधीन बन्दियो में   दो महिलओं समेत 75 विचाराधीन बन्दियो को आज रविवार को निजी मुचलके पर अल्प समय के जमानत पर जेल से बाहर  कर दिया गया है । जेल छुटते ही बन्दियों के चेहरे पर खुशी साफ झलक रही थी।  बतादे  बन्दियों को छोड़ने का आदेश सुर्पीम कोर्ट ने कोरोना वायरस को देखते हुए दिया था । जेल अधीक्षक/जेलर राज कुमार सिंह ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के क्रम में  अभी 44 और बन्दियों को रिहा करने की सूची है जिसके रिहायी की  प्रक्रिया चल रही है।  देश में बढ़ते कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए सुर्पीम कोर्ट ने जेल में बंद सात वर्ष से कम सजा वाले मामले में जेल में बंद बन्दियों को रिहा करने का आदेश दिया है । इस आदेश के अनुपालन में यूपी सरकार ने बंदियों को छोड़ने की प्रक्रिया पूरी करके बन्दियों को छोड़ने का काम शुरू कर दिया। रविवार को जिला जेल में बंद 75 बन्दियों को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया है ।  प्रभारी जेल अधीक्षक ने यह भी बताया कि बन्दियो के रिहायी की पूरी प्रक्रिया  विधिक पैनल के आदेश

बाहर से आने वालों को सीधे घर जाने से रोका जाये

चित्र
     जौनपुर। शासन द्वारा दिये गये  निर्देश के तहत कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत घोषित लॉक डाउन के दौरान अन्य राज्यों में कार्य करने वाले प्रदेश के निवासी वापस अपने मूल जनपदों में आने वालों को  महामारी फैलाने से रोकने हेतु यह आवश्यक है कि उन्हें  जनसामान्य से अलग  रखा जाए।    इसे दृष्टिगत रखते हुए  ऐसे व्यक्तियों को सीधे उनके घर पर पहुचाने के बजाय धर्मशालाओं, हॉस्टलों इत्यादि में क्वॉरेंटाइन करने की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी है।   वहीं पर  उनका चिकित्सकीय परीक्षण कराया जाए। उक्त स्थल पर उनके खान-पान इत्यादि की भी व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए उन्हें क्वॉरेंटाइन अवधि के उपरांत ही उनके गांव,घर, निवास स्थलों पर जाने की अनुमति दी जाएगी । जनपद में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की नियमित समीक्षा सुनिश्चित की जाए तथा आवश्यक वस्तुओं की दरों का अधिकतम मूल्य जिलाधिकारियों द्वारा निर्धारित करते हुए ऐसी वस्तुओं की जमाखोरी एवं मुनाफाखोरी पर अंकुश लगाये जाने का निर्देश दिया गया है । सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए ईट-भट्टों को चालू रखने को कहा है।   वहां कार्य कर रहे श्रमिकों हेतु खानपान एवं अ

अखबारों के भविष्य पर खतरा साबित हो सकता है कोरोना का कहर

चित्र
  देश के अन्दर अब कोरोना का भय अब मीडिया पर भी छाने लगा है.  अब अखबार वितरित करने वाले हाकरो की संख्या कम हो गयी है कोरोना के दहशत से घरों से बाहर निकलने से परहेज कर रहे है । आज स्थिति यह है कि लगभग सभी अखबारों ने अपनी पेज संख्या भी कम कर दिया है मेरे घर दैनिक जागरण अखबार आता है वह मैगजीन के साथ मात्र 12×4 यानी 16 पेज का है इसी तरह अमर उजाला, हिन्दुस्तान,  जनसत्ता, नव भारत टाइम्स,  आदि सभी समाचार पत्रों की पेज संख्या के साथ ही प्रसार में खासी नीचे गयी है।     अखबारों में कोई कॉमर्शियल विज्ञापन नहीं है. यही हाल है टाइम्स ऑफ़ इंडिया का है. वह भी कुल 14+4 पेज का ही है दिल्ली  लखनऊ से प्रकाशित होने वाले अखबारों के एजेंसी चलाने वाले ने बताया कि कोरोना के चलते  दिल्ली लखनऊ आदि राजधानियों से प्रकाशित होने वाले अखबारो का आना ही बन्द हो गया है।  इन्डियन एक्सप्रेस आज हाकर ने दिया नहीं. और वैसे भी उसकी हालत सदा पतली ही रही है. न तो वह सेल में कभी ऊपर गया, नहीं विज्ञापन में  अब देखिए ये वही अखबार हैं, जो अपनी सेल के लिए ज़मीन-आसमान एक करते थे, और विज्ञापन के लिए तीन-तीन, चार-चार पेज के क

विदेेश से जनपद में आये 378 लोग, 278 की जांच हुई किसी को कोरोना नहीं - डीएम जौनपुर

चित्र
  जौनपुर। जिलाधिकारी द्वारा जारी विज्ञप्ति में  बताया कि जनपद में अब तक जिले में  378 लोग ऐसे चिन्हित हुए हैं जो विदेश से वाापस लौटे है। इनमें से 278 लोगों के घरों पर पहुंच कर खंड विकास अधिकारी, पुलिस निरीक्षक और संबंधित  विकास खन्ड के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी की संयुक्त टीमों ने भ्रमण कर इनका परीक्षण कर लिया है। इनमें किसी भी में करोना जैसे लक्षण नहीं पाए गए हैं और इनको हिदायत की गई है कि वह होम क्वॉरेंटाइन के लिए 28 दिन तक अपने घरों में ही रहे जिस दिन से विदेश से लौटे है। अधिकारियों को आगे भी निर्देशित किया गया कि गांव के भ्रमण के दौरान अगर होम क्वॉरेंटाइन के सिद्धांतों का कोई उल्लंघन कर रहा है तो उसके खिलाफ प्रथम सूचना रिपोर्ट भी दर्ज कराई जाय। इसी प्रकार 6629 महाराष्ट्र से आए हैं और 180 लोग केरला से आए चिन्हित किए गए। इनके घरों में भी टीमें भेजने का कार्य प्रारंभ हो गया है। सब पर निगाह रखी जा रही है। सभी से अपील भी किया गया है कि क्वॉरेंटाइन में 28 दिन तक अवश्य रहे। घर से बाहर न निकले। दूसरों को स्पर्श न करें न कोई उन्हें स्पर्श करें। संक्रमण को रोकने के लिए इसके अलावा

काला बाजारी करने वालों पर दर्ज होगा मुकदमा - डीएम जौनपुर

चित्र
जौनपुर।  जिलाधिकारी दिनेशकुमार सिंह ने जनपद के सभी एसडीएम को निर्देशित किया है कि उनके स्तर से  खाद्यान्न आपूर्ति मे तहसील क्षेत्र में कोई कठिनाई ना हो और ना कोई कालाबाजारी करें और ना ही कोई मुनाफाखोरी करें । सभी एसडीएम तत्काल अपने-अपने क्षेत्र में निकले ।और  देखें कि दुकानों पर क्या और  किस रेट पर सामान बेचा जा  रहा है ।अगर कहीं पर कोई मुनाफाखोरी कर रहा हो तत्काल उसके विरुद्ध ३/७ आवश्यक बसतु अधिनियम के तहत  एफ आई आर दर्ज कराई जाए । जो इस संकट की घड़ी में भी मुनाफाखोरी की सोच रहा है वह व्यक्ति समाज का दुश्मन है ।उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो । एसडीएम बाजारों में स्वयं जाकर तहकीकात करें और   कुछ बाजारों में  तहसीलदार को भेजे।कुछ बाजारों में नायब तहसीलदार को भेजा जाये और कुछ भी बाजारों में खंड विकास अधिकारी स्वयं जाएं। सुनिश्चित  करे कि कहीं पर भी मुनाफाखोरी  ना हो। कहीं पर भीड़ भाड़ ना हो ।लोग एक दूसरे से 1 मीटर की दूरी पर खड़े हो।पूर्व स्टेप डिलीवरी के बाद अपनी देखरेख में भेजें उस पर रेट बोर्ड जरूर चस्पा हो।अपने तहसील क्षेत्र के गांव में भी आपूर्ति की स्थिति पर दृष्टि रखने की

कर्फ़्यू के दौरान भूख से परेशान गरीबों की सेवा में पुलिस का सराहनीय क़दम, करा रहे है भोजन की व्यवस्था

चित्र
       जौनपुर।  कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री द्वारा पूरे देश को किये गये लाक डाऊन के दौरान पुलिस जहां सुरक्षा व्यवस्था में दिन रात लगी है और  आवाम से लाक डाऊन का पालन कराने में पूरी ताकत के साथ लगी है।  वही पर जनपद के पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार के निर्देशन में एक  और अनोखी पहल शुरू किया है कि  इस लाक डाऊन की अवधि में कोई भी परिवार भूखे न रहे।  इस अभियान के तहत  जिले के  लगभग सभी पुलिस अधिकारी एवं थाने दार इस पहल को अंजाम देने का पूरा प्रयास करते हुए झुग्गी झोपड़ी में पहुंच कर गरीब परिवारों का हाल चाल लेते हुए उनके भोजन का इन्तजाम कर रहे है।  पुलिस की पहल को जनपद के प्रबुद्ध जनो द्वारा सराहा जा रहा है ।  इस क्रम में  पहले दिन  सीओ सिटी के साथ  थाना प्रभारी कोतवाली सदर के इंस्पेक्टर  ने  लगभग एक दर्जन से अधिक गरीब परिवारों को रात्रि में भोजन पहुंचाया  तो  दूसरे दिन  गरीबों को पूड़ी सब्जी का पैकेट वितरित किया गया है इसके अलावां  सीओ सदर के साथ  थाना प्रभारी बक्शा  ने गरीब परिवारों के घरों तक पहुचने का का काम किया है साथ कोरोना के चलते दो दिन से रास्ते में फंसे भ

पहले प्लेग हैजा तावन में लोग घरों से बाहर निकलते थे कोरोना वायरस से बचने के लिए घरों में कैद हो रहे है

चित्र
     जौनपुर । अब तक लोग बीते दिनों में प्लेग,हैजा आदि संक्रमित महामारी के बिषय में अपने बुजुर्गों से कहानी के रूप में  सुनते आ रहे है । लेकिन पहली बार कोरोना नामक संक्रमित महामारी से  सापका पड़ा है।  पूरा देश ही नहीं पूरा विश्व दहशत के साये में है।  भारत में  21दिन तक कर्फ्यू लगा कर आवाम को घरों में कैद कर दिया गया है ताकि इस महामारी से बचाया जा सके। अब इस महामारी से निपटने के लिए कोई दवा का इजाद नहीं किया जा सका है जो बेहद चिन्तनीय है।  इस बिषय पर जनपद में पत्रकारिता के पितामह के रूप में विख्यात बरिष्ट पत्रकार पं. चन्द्रेश मिश्रा से  बात करने पर उन्होंने बताया कि  वर्ष 1940 से 50 के बीच प्लेग  नामक महामारी  का प्रकोप देश में फैला था  अपने ही देश गुजरात से शुरू हुआ था । इस महामारी का प्रकोप  पहले घरों में चूहों पर पड़ता था  जब चूहे मरने लगते थे तब लोग गांव छोड़ कर बाहर खुले स्थानों बाग बगीचे में महीनों गुजारा करते थे । हैजा में भी  यही स्थिति रहती थी।  चेचक की बीमारी से ग्रसित लोगों को एक कमरे में रखा जाता था वहां घर का एक सदस्य साफ सुथरा हो कर जाता था । लेकिन लगभग 80वर्षों बाद आयी महा

सभी एसडीएम सुनिश्चित करे कि डोर टू डोर खाद्यान वितरित हो - डीएम जौनपुर

चित्र
 जौनपुर। जिलाधिकारी जौनपुर ने आदेशित किया है कि सभी उप जिला मजिस्ट्रेट अपनी-अपनी तहसीलों में यह सुनिश्चित करें खाद्यान्न की कोई दिक्कत ना हो। इस विषय में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व जिला आपूर्ति अधिकारी से लगातार संपर्क बनाए रखें। अपने मंडी सचिव को भी सतर्क रखें ।डोर स्टेप डिलीवरी की व्यवस्था भी करें। जिस प्रकार जनपद के जौनपुर कस्बे में की गई है। मेडिकल की और किराना की दुकानों के सामने एक एक मीटर की दूरी पर गोले बना दें और उस पर नंबर लिख दे । लोग उन्हीं गोलों में खड़े होंगे ।आपस में चिपक कर न खड़े हो यह सुनिश्चित किया जाए। कालाबाजारी अगर कोई करता हुआ मिले तो बिना हिचक  ३/7 आवश्यक वस्तु अधिनियम के अंतर्गत उनके विरुद्ध एफ आई आर दर्ज करा दी जाए। तहसील क्षेत्र के सभी ग्राम पंचायतों के प्रधानों से बात कर ले और उनको आदेशित कर दें  कि वह अपने गांव को पूरी तरह से लाक डाउन करें ।ना गांव में बाहर का कोई व्यक्ति आये ना गांव का व्यक्ति कोई बाहर जाएगा। यह भी सुनिश्चित करें कि कुछ ऐसे भी लोग हो सकते हैं जिनके पास पैसे भी ना हो और खाने-पीने का सामान भी ना हो उनकी मदद के लिए स्वयंसेवी

कर्फ़्यू के दौरान घरों तक खाद्यान पहुचाने की पहल प्रशासन ने शुरू किया

चित्र
जौनपुर। कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में  लाॅकडाउन के दौरान जनपद जौनपुर में जिला प्रशासन ने आवाम को घर पर खाद्यान पहुचाने की पहल शुरू कर दिया है। डीएम की अपील है कि  जनता घर पर ही रहे खाने पीने के समानो के लिए भी बाहर निकलने की भी जरूरत नही अब जिला प्रशासन,राशन,सब्जी फल की आपूर्ति सभी के घर करवाने की शुरूआत कर दिया है। इसके बाद दवाओ की सप्लाई आपके द्वार पहुंचाने प्रबंध करने रहा है।  लाॅकडाउन के बावजूद भी लोग राशन,पानी, दूध फल और सब्जी खरीदने के बहाने बाहर निकल रहे हैै। जिसके कारण मार्केट में भीड़ उमड़ रही है। इसको देखते हुए डीएम दिनेश कुमार सिंह ने गल्ला व्यापारी और फल सब्जी विक्रेताओ बुलाकर डोर टू डोर समानों की आपूर्ति करने का निर्देश दिया। साथ सभी सप्लाई वाहनों पर रेट लिस्ट में चस्पा कर दिया गया है। डीएम ने ग्राहको से अनुरोध किया कि वे अपने घर में रहे समानों की आपूर्ति उनके घर ही हो जायेगी। डीएम ने मौके का फायदा उठाकर समानों को अधिक दाम पर बेचने वाले दुकानदारों को आगाह किया कि यदि अधिक पैसा वसूला तो जेल जाना पड़ेगा। 

दीवानी न्यायालय भी 28मार्च तक बन्द कर दिया गया

चित्र
  जौनपुर।  जनपद न्यायाधीश मदन पाल सिंह ने बताया है कि महानिबंधक, माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद द्वारा महामारी (कोविड-19) के रोकथाम हेतु निरोधात्मक एवं उपचारात्मक उपाय के संबंध में गठित माननीय समिति उच्च न्यायालय इलाहाबाद में की गई बैठक में पारित समिति के आदेश के माध्यम से प्रेषित किया गया है, जिसमें समिति द्वारा बैठक में यह आदेश पारित किया गया कि संपूर्ण उत्तर प्रदेश में माननीय उच्च न्यायालय के अधीन समस्त अधीनस्थ न्यायालय कमर्शियल कोर्ट मोटर एक्सीडेंट क्लेम ट्रियूबनल एवं लैण्ड एक्यूजीशन, रिहैबिलिटेशन एवं रिसेटिलमेण्ट एथारिटी के न्यायालय 28 मार्च 2020 तक बंद रहेंगे। जहां तक अत्यंत महत्वपूर्ण आवश्यक केसो के संबंध हैं उनमें जनपद न्यायाधीश या सुनिश्चित करेंगे कि इसमें सुनवाई की आवश्यकता है अथवा नहीं। इस संबंध में सुविधानुसार कार्यवाही करेंगे। गिरफ्तार किए गए व्यक्ति के संबंध में रिमांड एवं जमानत के संबंध में कार्यवाही अवकाश के दिनों की तरह ही की जाएगी। उपरोक्त वर्णित समय में बंद न्यायालयों को निर्देशित किया गया है कि उनके द्वारा इसके बदले में अग्रिम ग्रीष्मावकाश में कार्य किया

कोरोना वायरस के चलते इस चैत के नवरात्रि में माँ शीतला के दर्शन से वंचित रहेगी पूर्वांचल की आवाम

चित्र
     जौनपुर।  कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते अब जनपद में हर स्तर पर  सुरक्षा के इन्तजाम किये जा रहे हैं।  सरकारी कार्यालयों से लगायत माल एवं सभी सार्वजनिक स्थलो पर जन मानस को रोकने की व्यवस्था किया जा रहा है।  यहां तक कि  जिला प्रशासन ने धारा 144 लगा दिया है ताकि  एक स्थान पर एक समय में पांच आदमी से अधिक इकट्ठा न हो सके । इसी कोरोना वायरस के चलते जनपद मुख्यालय से तीन किमी की दूरी पर स्थित चौकियां  धाम में बिराजमान पूर्वांचल की आदि शक्ति  माता शीतला देवी का दर्शन अब तब तक श्रद्धालु  जन नहीं कर सकेगे जब तक कोरोना के प्रकोप से निजात नहीं मिल सकेगी।  बतादे  पूर्वांचल की इस शक्ति पीठ  मां शीतला देवी चौकियां धाम में नवरात्रि के अलावा प्रत्येक शुक्रवार को अपार श्रद्धालुओं की भीड़ मां के दर्शन पूजन के लिए इकट्ठा होती है । लेकिन अब मां के भक्त जनों को रोकने के लिए चौकियां धाम के पन्डा समाज ने कोरोना से बचने के लिए निर्णय लेते हुए मन्दिर के मुख्य द्वार को ही बन्द कर दिया है।  इस सन्दर्भ में मन्दिर के प्रबन्धक  एवं पन्डा समाज के अगुआ अजय पन्डा ने जानकारी दिया है कि  नवरात्रि सह

पीएम की अपील पर जनता कर्फ्यू के लिए सक्रिय हुआ प्रशासन

चित्र
       जौनपुर।  देश के प्रधानमंत्री द्वारा गत 18 मार्च 2020 को कोरोना को लेकर देश वासियों को दिये गये संदेश के क्रम में जनपद जौनपुर का जिला प्रशासन भी सक्रिय हो गया है  और ज़िले के सभी नागरिकों से अपील है कि 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के लिए मानसिक रूप से हम सब तैयार रहे  और यह सुनिश्चित करें कि उस दिन हम सभी लोग सुबह 7:00 बजे से लेकर के रात्रि 9:00 बजे तक अपने अपने घरों में रहेंगे, बाहर नही निकलेंगे। कोरोना  वायरस के कारण उत्पन्न परिस्थितियों के दृष्टिगत रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग और आइसोलेशन ही एक बचाव का रास्ता है। हम सब यह  आने वाले समय में सुनिश्चित करें कि एक दूसरे से हाथ न मिलाए स्पर्श न  करें, दूर से नमस्कार करें और समय-समय पर अपने हाथों को निर्धारित प्रक्रिया अनुसार धोते रहे व आवश्यकतानुसार मास्क  का उपयोग करें ।अगर कोई वायरस पीड़ित संदिग्ध व्यक्ति हो तो उसकी जानकारी जिले में स्थापित कंट्रोल रूम में अवश्य दी जाए क्योंकि वह हजारों लोगों को वायरस फैला सकता है सकता है।  हम लोगों को डरने की जरूरत नहीं है लेकिन सतर्क रहना पड़ेगा। सभी संगठनों से अपील है कि 22 तारीख को अपने

अखिलेश के अपमान का बदला चुनाव में लेगी जनताः लाल बहादुर यादव

चित्र
सपाजनों ने काली पट्टी बांध करके मनाया अपमान दिवस  जौनपुर। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष लाल बहादुर यादव के निर्देश पर शुक्रवार को जिले भर में समाजवादी पार्टी के नेता व कार्यकर्ता काली पट्टी बांध करके विरोध जताया। श्री यादव ने बताया कि 20 मार्च 2017 को समाजवादी सरकार के जाने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री आवास को गंगाजल से धुलवाकर राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को नहीं, बल्कि इस देश के किसान, गरीब, नौजवान, व्यापारी आदि को अपमानित करने का काम किया था। उसी को लेकर आज सारे हमारे बूथ से लेकर जिले भर के नेताओं व कार्यकर्ताओं ने जहां कहीं भी थे, काली पट्टी बांधकर 20 मार्च को अपमान दिवस के रूप में मनाने का काम किया। न कोई सभा किया और न ही कोई कार्यक्रम किया। आज जिस तरह समाज के सारे लोगों ने काली पट्टी बांध करके यह साबित कर दिया कि योगी सरकार ने जो अपमान अखिलेश यादव का किया था, आने वाले समय में उस अपमान का बदला अपने वोट से दिया जायेगा। वहीं उन्होंने अपील किया कि इस समय देश की जो परिस्थिति कोरोना वायरस के वजह से बनी हुई है, हम लोगों को बचना है और समाज में लोगों को भी

प्रदेश की सरकार ने तीन साल में प्रदेश में बहाई विकास की गंगा - उपेन्द्र तिवारी प्रभारी मंत्री

चित्र
       जौनपुर। जब पूरा देश कोरोना के दहशत में है और केन्द्र एवं प्रदेश सरकारें  देश में धारा 144 लगा कर एक भी स्थान पर भीड़ इकट्ठा न होने की हिदायत दे रही है ।वहीं पर  प्रदेश सरकार के  राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) खेल, युवा कल्याण एवं पंचायती राज, उ प्रभारी मंत्री जनपद जौनपुर उपेन्द्र तिवारी ने कलेक्ट्रेट सभागार में      जनपद के बड़  संख्या में पत्रकारों को इकट्ठा करके  उत्तर प्रदेश सरकार के तीन वर्ष पूर्ण होने पर सरकार के कार्यो को गिनाया और दावा किया कि तीन साल में प्रदेश की सरकार ने विकास की गंगा बहाया है ।        सरकार द्वारा तैयार किये गये 20 पेज के कथित विकास पत्र को लगभग 45 मिनट तक बिना कामना पुलिस्टाप के पढ़ते हुए सरकार का  गुणगान किया वहीं पर जब मीडिया के लोगों जनपद में चल रही परियोजना मेडिकल कॉलेज के निर्माणरूकने के संदर्भ में सवाल किया तो मंत्री जी गोल मोल बात बनाते नजर आये।  इस अवसर पर प्रभारी मंत्री ने सरकार के गुणगान में  कहा कि जो काम आजादी के 60-65 सालों के इतिहास में नहीं हुआ वह काम  मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ जी ने 03 सालों में कर दिखाया है। यह पहली ऐसी सरकार है जो

अधिकारी गण चेक करे कोई कोचिंग या स्कूल खुला हो तो बन्द कराये - डीएम जौनपुर

चित्र
 जौनपुर। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को दृष्टिगत रखते हुए जिलाधिकारी दिनेशकुमार सिंह ने अपने अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देश दिया है कि नगर मजिस्ट्रेट, उप जिला अधिकारी गण अपने-अपने क्षेत्रों में चेक कर लें कि अगर कोई भी कोचिंग अभी भी चला रहा है या स्कूल अभी भी चला रहा हो तो उसे हर हालत में बंद किया जाए। सभी राजस्व न्यायालय यह सुनिश्चित करेंगे कि अगर बादकारी किसी मुकदमा में नहीं आता है तो  उसके वाद में कोई विपरीत आदेश उसकी अनुपस्थिति के कारण ना किया जाए।सभी अधिवक्ता गण से अनुरोध है कि वह अपने अपने क्लाइंट्स को सूचित कर दें कि उन्हें 2 अप्रैल तक न्यायालय में आने की आवश्यकता नहीं है। उनकी अनुपस्थिति कारण उनके वाद में कोई विपरीत आदेश उनके विरुद्ध नहीं किया जाएगा। अधिवक्ता गण भी 2 अप्रैल तक जब किसी वाद में उपस्थित होना  बहुत आवश्यक ना हो कृपया ना आए तो और अच्छा रहेगा। हम सबको मिलकर क्रोना वायरस की कारण उत्पन्न परिस्थितियों से लड़ना है और इसको किसी दशा में फैलने नहीं देना है। शिकायतकर्ता भी अधिकारियों के समक्ष उपस्थित होने के बजाय सीधे ऑनलाइन शिकायत अपनी दर्ज करा सकते हैं जब तक क

विकास के नाम पर सरकार के अब तक कार्यकाल में स्थित शून्य रही

चित्र
जौनपुर।  प्रदेश की वर्तमान योगी सरकार ने अपने लगभग तीन साल के कार्यकाल में ऐसा कोई भी विकास का काम नहीं किया जिसे  सरकार की उपलब्धियों में गिनाया जा सके।  विकास कार्य  भले ही नहीं हो सका है  सरकार की नीतियों के चलते छुट्टा आवारा पशुओं ने जिले के किसानों की कमर तोड़ कर रख दिया है।  बतादे जनपद की विकास की सबसे बड़ी परियोजना राजकीय मेडिकल कॉलेज  जिसके बनने से जहां जनपद ही नहीं आस पास के जिलों के मरीजों को बेहतर उपचार की सुविधा मिलती वही पर हजारों बेरोजगारो को रोजगार के साधन उपलब्ध हो सकते थे  लेकिन  वर्तमान सरकार ने अपने कार्यकाल में मेडिकल कॉलेज के निर्माण हेतु बजट की कोई व्यवस्था ही नहीं किया जिसका परिणाम है कि पहले से निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज के निर्माण का काम पूरी तरह से ठप हो गया है ।  अभी बीते  14 मार्च 2020 को प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज के बगल से एक कार्यक्रम में भाग लेने गये  लेकिन मेडिकल कॉलेज के निर्माण की प्रगति जानने देखने की जरूरत नहीं महसूस किया है।  इसके अलावा पुल पुलिया की बात की ज

कोरोना संक्रमण के बिषय में भ्रामक अफवाहों पर ध्यान न दें - मुख्य विकास अधिकार

चित्र
   जौनपुर। मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला की अध्यक्षता में कलेक्टेªट सभागार में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा की गयी। उन्होंने जिले के सप्लायरों को निर्देश दिया कि किसी भी दशा में कोरोना से सम्बन्धित आवश्यक चीजो की ब्लैक मार्केटिंग न हो। आवश्यक चीजो का एक निश्चित स्टाक भविष्य के लिए रखा जाय। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर फैलने वाले भ्रामक अफवाहो पर ध्यान न दे। जिले में कन्ट्रोल रुम की स्थापना की गयी है जिसका मोबाइल नम्बर 9569434388 है, किसी भी प्रकार की सूचना प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने कहा कि पंचायती एवं ग्राम्य विकास विभाग ग्राम पंचायत लेवल पर बैठक कर ले तथा पंम्पलेट के माध्यम से लोगो को जागरुक करे। उन्होंने सभी अधिशासी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत को निर्देशित किया कि अभियान चलाकर साफ-सफाई कराई जाय। एआरएम रोडवेज को निर्देशित किया कि यात्रा करने वाले यात्रियों की जानकारी एक रजिस्टर बनाकर अंकित करे।               मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 राम जी पांडेय ने बताया कि कोरोना वायरस जनित बीमारी एक आम वायरस जनित फ्लू की तरह है। यह अन्य फ्लू की

एक सप्ताह के अंदर राहत सहायता राशि किसानों को प्रदान कर दिया जाये - सीएम योगी आदित्य नाथ

चित्र
जौनपुर में ओलावृष्टि से पीड़ित किसानों एवं दैवी आपदा में मरने वालो के आंसू पोछे सीएम        जौनपुर । विगत  12/13 मार्च की रात्रि में आंधी तुफान एवं ओलावृष्टि से हुई किसानों की भारी क्षति तथा दैवी आपदा के चपेट में आने से जिले में मरने वालों के परिजनों को आर्थिक  सहायता प्रदान कर उनके आंसू पोछने के लिए प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ आज अचानक जौनपुर आये और मुख्यालय से लगभग 7 किमी दूर स्थित करंजाकला ब्लाक मुख्यालय पर जनपद के 51 ओलावृष्टि से पीड़ित किसानों को सहायता राशि प्रदान किया। साथ ही इस दैवी आपदा में मरने वाले तीन मृतकों के परिजनों को चार - चार लाख रुपये आर्थिक सहायता राशि प्रदान किया है ।  इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि प्रदेश की सरकार इस दैवी आपदा में किसानों के साथ खड़ी है  ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों को एक सप्ताह के अंदर राहत  सहायता राशि प्रदान कर दिया जायेगा इस आशय का निर्देश प्रदेश के सभी जिलाधिकारीयो को दे दिया गया है। इसका सर्वे करा कर पात्र किसानों के घर राहत सहायता राशि पहुंचा दिया जाये। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसमें किसी भी तरह की लापरवाही ब

कोरोना वायरस से ग्रसित मनोज सिंह अब है स्वास्थ्य विभाग टीम की निगरानी में

चित्र
जौनपुर ।   जनपद के तहसील मड़ियाहू क्षेत्र स्थित ग्राम दामोदरा  निवासी कोरोना वायरस से पीड़ित मनोज कुमार सिंह इस समय स्वास्थ्य विभाग की टीम निगरानी में रखा गया  है। टीम गहन जांच में जुटी हुई है। बतादे मनोज कुमार सिंह विगत तीन माह पूर्व खाड़ी देश दुबई रोटी रोज़ी के सिलसिले में गये थे। वहां पर कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से ग्रसित होने के उपरान्त घर आने का निर्णय लेते हुए।  वहां से अपने वतन के लिए चल दिए।  बाबत पुर हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद स्वस्थ्य विभाग की टीम ने गहन जांच किया और प्रदेश सरकार के कोरोना वायरस निगरानी टीम को सूचित करने के बाद मनोज को घर जाने की अनुमति दिया।  मनोज घर पहुंचा तो उसे कोरोना संक्रमण के लक्षण की संभावना की सूचना जिला प्रशासन सहित स्वास्थ्य विभाग को होने पर सरकारी तंत्र में  हड़कंप मच गया । आनन फानन में  स्वास्थ्य विभाग की टीम तत्काल दमोदरा गांव मनोज के घर पहुंच गयी  रात्रि में ही गहन जांच के साथ ही मनोज के खून का सैम्पल  लेकर वाराणसी स्थित बीएचयू भेज दिया है।  साथ ही मनोज को 28 दिनों तक के लिए गहन चिकित्सकीय निगरानी में रख दिया गया है। हलांकि सी एम ओ कहते ह

पाल समाज का सम्मान सपा में ही निहितः पूजा पाल

चित्र
 जौनपुर। समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय पर शुक्रवार को इलाहाबाद के शहर पश्चिमी की पूर्व विधायक पूजा पाल  कहा कि जहां हमारे जैसे पिछड़े समाज के लोगों को सम्मान सपा में मिला, कहीं और नहीं मिला है ।भाजपा ने पिछड़े वर्गों का वोट तो ले लिया मगर सबसे ज्यादा इसी पर अत्याचार हो रहा है। ऐसे कृत्य में  भाजपा नेताओ का  ही हाथ हैं लेकिन सरकार उन्हें बचाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ती है जिससे आज हमारा पिछड़ा समाज अपने को ठगा महसूस कर रहा है   इसलिए अब हम हर जिले में जाकर अपने पाल समाज के बीच में बैठकर समाजवादी पार्टी में जोड़ने का काम कर रही  हूँ । ताकि आगामी 2022 के विस चुनाव में अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाकर ही दम लिया जाये । अब हम तब तक नहीं रुकूंगी जब तक भाजपा के झूठ के नकाब को अपने समाज में बता नहीं देती हूं। जिस तरह हमारे समाज के लोग आज समाजवादी पार्टी की तरफ मन बना रहे हैं, हमें पूरा विश्वास है कि पाल समाज आने वाले चुनाव में समाजवादी सरकार बनाने में महत्वपूर्ण योगदान देगा। इसी क्रम में निवर्तमान जिलाध्यक्ष लाल बहादुर यादव ने कहा कि पूजा पाल ने आज अपने समाज को समाजवादी पार्टी में

अनी वजाज की मोटर साइकिलें प्रदूषण नियंत्रण में होगी सहायक - धनन्जय सिंह

चित्र
     जौनपुर । जनपद मुख्यालय पर स्थित नईगंज  निकट पालिटेकनिक चौराहा पर अनी वजाज मोटरसाइकिल शो रूम का उदघाटन पूर्व सांसद धनन्जय सिंह एवं  एम एल सी  बृजेश सिंह प्रिन्सू  ने संयुक्त रूप से किया  तत्पश्चात उपरोक्त ने   शो रूम के प्रबंध निदेशक  शिवेन्द्र सिंह के साथ मीडिया से रूबरू होते हुए बताया कि  इस शो रूम से बिकने वाली मोटरसाइकिले प्रदूषण को कम करने में  सहायक साबित होगी । 31 मार्च 2020 तक  बाइक खरीदने वालों को 15 हजार रुपये तक की छूट मिल सकती है। शो रूम के अधिष्ठाता एवं प्रबंध निदेशक शिवेन्द्र सिंह ने बताया कि सभी बाइक पूरी तरह से इलेक्ट्रॉनिक है।  इसमें कंपनी खुद ही माइलेज एवं तेल की सेटिंग करके दे रही है।  कार्बेटर की  इलेक्ट्रॉनिक पार्ट लगाया गया है।  इसके अलावा सर्विस आदि की सुविधायें प्रदान की जाएगी। शो रूम उदघाटन के समय जिले के तमाम संभ्रांत नागरिक गणो की उपस्थिति रही है। सभी का स्वागत खुद शो रूम के अधिष्ठाता शिवेन्द्र सिंह ने किया।

जन कवि के रूप में विख्यात थे पं. रूप नरायन त्रिपाठी

चित्र
जौनपुर। रचनाओं में हृदय को छूने और पढ़ने वालों को अपने रस में पिरोने की अद्भुत क्षमता तथा गांव की कोमल महक, कौमार्य की कामुकता कविताओं में परिलक्षित करने वाले कालजयी रचनाकार थे पं0 रूप नारायण त्रिपाठी। जिनकी समस्त रचनाओं में भारतीयता और स्थानीयता का रंग उन्हें रेखांकित करने योग्य बनाता है। चैथे दशक के प्रारम्भिक वर्षों में स्वाधीनता लड़ाई से जुड़ उनकी अन्तःकरण की आत्मा कविता से जुड़ गयी। उन दिनों राष्ट्रगीत लिखने लगे, प्रभातफेरियों और कविता मंच से जुड़ गये साथ ही साथ समाचार पत्र के सम्पादन से भी जुडे रहे। छठवें दशक में उ0प्र0 सरकार द्वारा गठित लोक-साहित्य समिति में पं0 राहुल सांस्कृत्यायन द्वारा सार्थक दिशा बोध एवं डा0 विद्या निवास मिश्र के साथ लोकगीतों का संग्रह, लोकसाहित्य उन्नयन तत्वों की छानबीन कर विकास करते रहे। पंडित जी के व्यक्तित्व का विवरण अपने आप में काफी महत्वपूर्ण है। मानवीय संवेदना की झलक उनकी रचनाओं में साफ दिखती है। रमता जोगी बहता पानी मुक्तक काव्य में उनकी यह रचना इस बात को रेखांकित करती है कि मनुष्य का मानवीय पक्ष दुर्बल है और अन्तःकरण कलुषित है तो उसका जीवन व्यर्थ है- ‘‘रू

बेटियों के सम्मान हेतु दहेज प्रथा का खात्मा जरूरी है - संगीता यादव

चित्र
जौनपुर । पूर्व राज्य मंत्री एवं सामाजिक कार्यकर्ती  संगीता यादव ने  महिला सशक्तीकरण के अवसर पर समाज से दहेज रूपी दानव को मिटाने का संकल्प लेते हुए बहन बेटियों से इस अभियान में साथ देने की अपील किया है। समाज में व्याप्त दहेज प्रथा के खिलाफ आवाज बुलंद करने निकली संगीता यादव यहाँ मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि आज समाज में बहन बेटियों का उत्पीड़न दहेज के लिए किया जा रहा है।  बेटियों को दहेज के दरिन्दों द्वारा जलाया जाता है। यह कुरीति समाज में बहन बेटियों के लिए एक गम्भीर समस्या बन चुकी है। इससे निजात पाने के लिए अब संघर्ष करना पड़ेगा।  महिला सशक्तिकरण के अवसर पर हमनें इसके खिलाफ आन्दोलन चलाने का संकल्प लिया है।  पूर्व मंत्री ने कहा कि आज समूचे महिला समाज को इस कुरीति के खिलाफ आवाज उठाने की जरूरत है तभी बेटियों को समाज में न्याय मिल सकेगा। साथ यह भी कहा कि आज समाज में बहन बेटियों के साथ दहेज के अलावां बलात्कार  एवं प्रताड़ना जैसी जघन्य अपराधिक घटनाये हो रही है।  लेकिन किसी भी स्तर पर इसके खिलाफ आवाज उठाने का काम किसी भी राजनैतिक दल अथवा समाजिक संगठन के द्वारा नहीं किया जा रहा है। इसी लिए आ

शिक्षण संस्थान को व्यवसायिक प्रतिष्ठान न बनाया जाये - न्यायाधीश हाई कोर्ट

चित्र
    जौनपुर।  पूर्वांचल ही नहीं उप्र के शिक्षण संस्थानों अति अहम स्थान रखने वाले जनपद जौनपुर के शिक्षण संस्थान टीडी पीजी कालेज को प्रबन्ध समिति द्वारा व्यवसायिक प्रतिष्ठान बना कर रख दिया गया था। इसके खिलाफ क्षत्रिय सभा के सदस्य दीपेन्द्र सिंह द्वारा हाई कोर्ट में दाखिल की गयी याचिका को गम्भीरता से लेते हुए हाई कोर्ट के न्यायधीश ने आदेश दिया कि शिक्षण संस्थान को व्यवसायिक प्रतिष्ठान न बनाया जाये । जौनपुर सहित प्रदेश के सभी जिलाधिकारी आदेश का पालन कराये और प्रबंधन से स्पष्टीकरण लेकर व्यवसाय चलाने वालो के विरुद्ध विधिक कार्यवाही करे।  बतादे कि टीडी पीजी कालेज को प्रबन्ध समिति ने पूरी तरह से व्यवसायिक प्रतिष्ठान बनाते हुए चार मैरेज हाल कालेज  परिसर के अन्दर बना दिया है। कालेज के भवन को मैरेज हाल लिए उपयोग कर रहे है। यहा यह भी बता दे कि कृषि विभाग के लिए कालेज की जमीन एवं भवन पर शिक्षण कार्य कराने के बजाय दो  मैरेज हाल चलाया जा रहा है।  कालेज के मुख्य भवन पर लक्ष्मण सिंह छात्रावास पर तिलक मैरेज हाल बनाया गया है जबकि इसके लिए सरकार से प्रति वर्ष आर्थिक सहायता भी दी जाती है। धन कहाँ जाता है पत

एडीएम वित्त ने दिया कोरोना वायरस बिषयक जानकारी

चित्र
जौनपुर।   अपर जिलाधिकारी वित्त एंव राजस्व  राम प्रकाश ने बताया कि कोरोना वायरस से सम्बन्धित विस्तृत जानकारी एडवाइजरी एंव दिशा निर्देश राज्य स्तरीय विडियो कान्फ्रेसिगं के माध्यम से जनपद को अवगत कराया गया है कि कोरोना वायरस संक्रमण मुख्यतः चाइना, साउथ कोरिया ,थाइलैण्ड, जापान, इरान, इटली सिंगापुर, इण्डोनेशिया, मलेशिया,हांगकागं,नेपाल, वियतनाम की यात्रा कर आये हुये भारतीय एंव विदेशी यात्री के माध्यम से भारत में फैलने की सम्भावना है। इसलिए उपरोक्त देशों के भ्रमण या प्रवास के उपरान्त भारत में आने वाले सभी यात्रियों की निगरानी की जा रही है । ऐसे यात्रियों की स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रतिदिन चिकित्सकीय लक्षण एंव स्वास्थ्य सम्बन्धित जानकारी ली जाती है । किसी भी ऐसे व्यक्ति जिन्हे बुखार, खॉसी एंव सास सम्बन्धित कोई भी तकलीफ होने पर तत्काल उन्हे आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करने एंव जॉच सेम्पल एकत्र कर निर्धारित लैब में भेजने की व्यवस्था की गयी है।     जनपद स्तर पर जिला चिकित्सालय में कोरोना वायरस के ग्रसित मरीजों के लिए पृथक वार्ड एंव अन्य आवश्यक उपकरणों की व्यवस्था कर ली गयी है । इस रोग क

न्यायालय से फरार अभियुक्त के खिलाफ पुलिस ने घोषित किया 25हजार रूपये का इनाम

चित्र
जौनपुर। पुलिस अधीक्षक जौनपुर द्वारा न्यायालय, जनपद जौनपुर से फरार हुए शातिर अभियुक्त अनिल गौड़ उर्फ सौनू तोमर की गिरफ्तारी हेतु 25000/- रुपये का इनाम घोषित -  अशोक कुमार,पुलिस अधीक्षक जौनपुर के निर्देशन में जनपदीय पुलिस द्वारा चलाए जा रहे अभियान के तहत शातिर अभियुक्त अनिल गौड़ उर्फ सोनू तोमर पुत्र हरिशचन्द्र गौड़ निवासी कसिगांव थाना नेवढ़िया जौनपुर की गिरफ्तारी हेतु 25 हजार रु0 का पुरस्कार घोषित किया गया है। उक्त अभियुक्त दिनांक 03.03.2020 को मा0 न्यायालय जनपद जौनपुर से पेशी के दौरान फरार हो गया था। जिसके विरुद्ध थाना लाईनबाजार पर मु0अ0स0- 73/2020 धारा 147/323/504/332/224/225/120बी भादवि व 7 सीएलए एक्ट पंजीकृत किया गया है। जिसकी गिरफ्तारी हेतु जौनपुर पुलिस द्वारा सम्भावित स्थल पर लगातार दबिश दी जा रही है किन्तु अभी पुलिस गिरफ्त में नहीं आ सका है।

दीवानी न्यायालय से फरार अभियुक्त मामले में पुलिस और अधिवक्ता लगा रहे हैं एक दूसरे पर आरोप

चित्र
   जौनपुर । बीते दिवस 3 मार्च  मंगलवार को  जनपद के दीवानी न्यायालय में पुलिस एवं अधिवक्ता के बीच हुए विवाद के दौरान मौके का फायदा उठाकर फरार हो गये हत्या के अभियुक्त  के मामले में पुलिस और अधिवक्ता आपस में एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं।  हलांकि पुलिस ने अधिवक्ता को जिम्मेदार मानते हुए अपने सिपाही की तहरीर के आधार पर अधिवक्ता एवं फरार हत्या अभियुक्त के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के बाद एक अधिवक्ता को  रात्रि में  12 बजे के आसपास गिरफ्तार कर लिया और दूसरे दिन 4 मार्च बुधवार को न्यायालय में चालान भेजा मजिस्ट्रेट ने अधिवक्ता को जमानत पर छोड़ दिया है । फरार अभियुक्त पुलिस पकड़ से दूर है।  बतादे  गत 3 मार्च दिन  मंगलवार को हत्या के अभियुक्त अनिल गौड़ को जेल से  पुलिस सुरक्षा में पेशी पर ले जाया गया था पेशी से वापस कोर्ट के लाकप में वापस  ले जाते समय पुलिस एवं अधिवक्ता के बीच झड़प के बाद धक्का मुक्की हो गयी इसका लाभ उठा कर अभियुक्त पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया।  इसके बाद दीवानी न्यायालय  छावनी में तब्दील हो गया पुलिस के आला अधिकारियों सहित कई थानो की पुलिस फरार अभियुक्त की तलाश में जुटी लेकिन बद

प्री अरेस्ट वारंट के बाबत दी गयी विधिक जानकारी

चित्र
जौनपुर। उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के निर्देशानुसार  जनपद न्यायाधीश जौनपुर के संरक्षण में प्री-अरेस्ट एवं अरेस्ट स्टेज पर। विधिक सहायता प्रदान किए जाने हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जौनपुर के नामित पैनल अधिवक्ता गण का एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम मीटिंग हॉल जनपद न्यायालय जौनपुर में आयोजित किया गया । प्रशिक्षक के रूप में उपस्थित शाजिया नजर जैदी , प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय महेंद्र सिंह ,अपर जिला जज आलोक वर्मा, सिविल जज जौनपुर उपस्थित रहै। शाजिया नजरजैदी द्वारा उपस्थित पैनल अधिवक्ता गणों को प्री अरेस्ट-स्टेज पर गिरफ्तार व्यक्ति की सहायता हेतु भारतीय संविधान एवं दंड प्रक्रिया संहिता की विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान की गयी। महेंद्र सिंह द्वारा गिरफ्तार व्यक्ति की अरेस्ट स्टेज पर विधिक सहायता हेतु संविधान एवं दंड प्रक्रिया संहिता में दी गई व्यवस्था के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान किया गया ।आलोक वर्मा द्वारा रिमांड के स्टेज पर गिरफ्तार व्यक्ति को विधिक सहायता प्रदान करने संबंधी जानकारी प्रदान किया गया तथा पैनल अधिवक्ता द्वारा अपने अपने विचार व

भाजपा सरकार के शासन में नौजवानों के हक का हो रहा है हनन - रामकरन निर्मल

चित्र
 जौनपुर। सपा जिला कार्यालय पर समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए समाजवादी लोहिया वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष  डा. राम करन निर्मल ने नौजवानों से कहा कि आज भाजपा सरकार में नौजवानों का हनन हो रहा है, उस पर आत्ममंथन आवश्यक है। संविधान को भाजपा खत्म कर रही है। अपने हक की लड़ाई भी शान्ति से लड़ रहे हों तो योगी सरकार की पुलिस नहीं देख रही है कि महिला है या पुरूष, सबको पिटने का काम कर रही है। डा. निर्मल ने कहा कि आज जिस तरह उच्च शिक्षा में धांधली की जा रही है और जिस तरह दलितों व पिछड़ों को नौकरी खत्म की जा रही है, वह आने वाले दिनों के लिये नासूर बन रहा है। आज भाजपा मुसलमानों के प्रति नफरत फैला रही है। इस देश की आजादी में मुसलमान ने जो कुर्बानी दी है, यह भाजपा भूल गयी है। जब आजादी की लड़ाई लड़ी जा रही थी, तब सब हिन्दुस्तानी थे। आजादी के बाद भाजपा ने हिन्दू-मुसलमान में बंटवारा करके अपनी रोटी सेंक रही है, इसलिये नौजवानों अब आपको जागरूक होकर समाज को जागरूक करना होगा तभी प्रदेश सरकार को उखाड़ फेंकने में सफल होंगे। समाजवादी पार्टी नौजवानों की है। अब हम नौजवानों को नेताजी को आगामी 2022 के विस चुनाव