संदेश

फ़रवरी, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

जौनपुर प्रेस क्लब के नेतृत्व में पत्रकारों ने दिनेश पाल सिंह के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त किया

चित्र
जौनपुर । जनपद में पुलिस अधीक्षक पद पर तैनात रह चुके डीआइजी  रेलवे दिनेश पाल सिंह के  निधन पर यहाँ जौनपुर प्रेस क्लब के तत्वावधान में जिले के पत्रकारों ने शोक सभा करके  मृत आत्मा को शांति प्रदान करने एवं परिवार को इस पीड़ा को सहन करने की शक्ति प्रदान करने  के लिए ईश्वर से प्रार्थना किया है।  शोक सभा की अध्यक्षता कर रहे जौनपुर प्रेस क्लब के अध्यक्ष कपिल देव मौर्य ने  स्व. दिनेश पाल सिंह कार्यकाल की सराहना करते हुए कहा कि वे सरल एवं मृदुभाषी होने के साथ ही आम जनता की पीड़ा को समझने वाले महान व्यक्ति थे।  उनके निधन से जहां परिवार के लिए अपूर्णीय क्षति है वहीं पर समाज ने एक महान शुभचिंतक खोया है।  जिले में उनकी लोकप्रियता उनके व्यक्तित्व का अवलोकन कराती है।  शोक सभा में  मुख्य रूप से पत्रकार संघ  के उपाध्यक्ष लोलारक दूबे , शम्भू नाथ सिंह कोषाध्यक्ष जौनपुर प्रेस क्लब, वीरेन्द्र मिश्रा विराट महामंत्री , राकेश कान्त पाण्डेय अध्यक्ष सम्पादक मंडल,  आशीष पाण्डेय मंत्री, आसिफ, दीपक सिंह रिन्कू  ने अपनी शोक संवेदना व्यक्त किया।  शोक सभा में मो. अब्बास  अवधेश तिवारी,  विरेन्द्र पाण्डेय, मंगला प्रसाद

शहीद के परिजनों को मदद व सम्मान देने के लिए रक्षा मंत्रालय को लिखूंगा पत्र - पारसनाथ यादव

चित्र
जौनपुर- जम्मू कश्मीर के कठुआ मे तैनात अस्टेंट कमांडेड द्वारा खुद को गोली मारकर आत्म हत्या कर लेने वाले असिस्टेंट कमान्डेन्ट विजय बहादुर यादव  के पैतृक गांव पहुचे सुबे के पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं विधायक मल्हनी पारसनाथ यादव ने परिजनों से  बातचीत कर उन्हें सन्तावना दिया  और मृत सैनिक  की उपेक्षा पर ग्रामीणों व परिजनों क़ो पूर्व मंत्री श्री यादव ने आश्वासन देते हुए कहा कि वह रक्षामंत्रालय को पत्र लिखकर न्याय की मांग करेगे जरुरत पड़ने पर रक्षामंत्री श्री राजनाथ सिंह  से भी करुंगा बात करके शहीद के परिजनों को न्याय व सम्मान दिलाउंगा। इस अवसर पर पूर्व मंत्री ने साथ मे मौजूद अपने पुत्र एवं युवा नेता सपा लकी यादव के हाथ से शहीद की पत्नी को आर्थिक मदद दिया और हमेशा परिवार को मदद करने का आश्वासन दिया । इस अवसर पर पूर्व विधायक श्रद्धा यादव,विवेक यादव प्रधान,वेद यादव,आर.बी.यादव सहित बडी संख्या मे क्षेत्रवासी व सपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

शिक्षा में तकनीकी के मानवता का विकास जरूरी है प्रो. राजाराम यादव

चित्र
जौनपुर  ।  शिक्षक शिक्षा विभाग टीडी कॉलेज जौनपुर के  तत्वावधान में आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के समापन  समारोह  में आज  कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रोफेसर राजाराम  यादव कुलपति ने कहा कि मानव के जीवन में  भौतिक विकास के साथ साथ चारित्रिक विकास हेतु  आवश्यक नवाचार द्वारा नई नई विधाओं का प्रयोग करना चाहिए  लेकिन मानवीय संवेदना भी आवश्यक है ।  कुलपति जी ने कहा कि तिलकधारी  महाविद्यालय में 1972 से ही आना जाना लगा रहा एवं यहाँ का अनुशासन, शिक्षण एवम नवाचार के प्रति लगाव प्रेरणा दायक है । इलाहाबाद विश्वविद्यालय के प्रोफेसर धनंजय यादव ने कहा कि  नवाचार को आत्मसात करके ही प्रगति कर सकते हैं । नई विधाओं की जानकारी विद्यार्थियों के लिये आवश्यक है । आवश्यकता है सभी को सूचना एवं तकनीकी के बारे में जानना चाहिए । विशिष्ट अतिथि डॉ  आलोक गार्डिया  ने कहा कि  मानव विकास के दौर में  सभी के लिए यह आवश्यकहै तकनीक की जानकारी विद्यार्थी, शिक्षक  और समाज के लिये  उसे लागू करें  नए भाव ,नए खोज के साथ कार्य करें ।प्रो डी आर सिंह  शिक्षा संकाय  इलाहाबाद विश्वविद्यालय, इलाहाबाद ने संस्कृति के साथ साथ समाज

समाजवाद ही असली राम राज है - जगदीश नरायन राय

चित्र
      जौनपुर।  सपा नेता एवं पूर्व मंत्री जगदीश नरायन राय ने एक भेंट में राजनैतिक चर्चा के  दौरान कहा कि समाजवाद ही  असली  राम राज है।  श्री राय ने रामायण की चर्चा करते हुए बताया कि राम ने  सेवरी नामक भीलनी के जूठे बैर खाये तो निषाद ने उनका पैर धोया। राम ने एक प्रजा के कहने पर पत्नी तक परीक्षा ले लिया। यही तो समाजवाद रहा है। आज कल  भाजपा के नेता मुख्यमंत्री सभी रामराज की बात कर रहे हैं लेकिन  समाजवाद की आलोचना कर रहे हैं।  राम किसी का अनादर नहीं करते थे  यहाँ तो भाजपा के लोग लोगों का अनादर ही करते है तो रामराज कहाँ है । श्री राय ने कहा कि भाजपा नेतृत्व के कथनी करनी में बड़ा अन्तर है।  सरकार विकास करने के बजाय समाज को बांटने का षड्यन्त्र करने में जुटी है।  विगत दिवस प्रदेश सरकार द्वारा लाये गये बजट में जौनपुर के विकास की उपेक्षा करने पर  अफसोस जताया है।

एक पखवारे तक चलेगा फाइलेरिया मुक्त अभियान- योगी आदित्य नाथ

चित्र
वाराणसी। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बड़ागांव के प्रांगण में प्रदेश स्तरीय फाइलेरिया मुक्त अभियान का शुभारंभ करते हुए सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पोलियो उन्मूलन की तरह पूरे प्रदेश में रविवार से एक पखवारे तक फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम को जन आंदोलन के रूप में चलाना होगा। उन्होंने कहा कि सौभाग्य की बात है कि बाबा विश्वनाथ की धरती से आज इस कार्यक्रम का शुभारंभ करने का अवसर मिला है। हम स्वास्थ्य विभाग सहित समस्त पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों का आह्वान करते हैं कि कार्यक्रम को सफल बनाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। हमारा यह प्रयास होना चाहिए कि 2 वर्ष के ऊपर के सभी बच्चों बड़े बुजुर्गों और मां बहनों को फाइलेरिया उन्मूलन की दवा पिलाई जाए जिससे एक भी व्यक्ति दवा से वंचित न रह जाय। हमें विश्वास है कि आप सबकी सहभागिता से हमें सफलता अवश्य मिलेगी। मुख्यमंत्री के आगमन पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बड़ागांव के प्रांगण में क्षेत्रीय सांसद बीपी सरोज, प्रदेश सरकार में जनपद के प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन, कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर, क्षेत्रीय विधायक डा. अवधेश सिंह, डीजी भूषण, सीएमओ बीब

असहाय लोगों की हर जरूरत को पूरा करता है बापू बाजार-पूव॔ कुलपति प्रो सुन्दरलाल

चित्र
 लोगों की मदद करना हम सबका है कर्तव्य - प्राचार्य डॉ अब्दुल कादिर खान  जौनपुर।   मोहम्मद हसन पी जी कालेज राष्ट्रीय सेवा योजना के सात दिवसीय शिविर के मौके पर दूसरे दिन बापू बाजार का सम्मान सहित सहायता का आयोजन डॉ अबू मोहम्मद आईटीआई में किया गया  जिसमें मुख्य अतिथि के रूप मे बापू बाजार के जनक पूर्वांचल विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रोफेसर सुंदरलाल ने काय॔क्रम के अध्यक्ष मोहम्मद हसन पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ अब्दुल कादिर खान ने फीता काटकर अपने कर कमलों से इसका शुभारंभ किया  इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में पूर्वांचल विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रोफेसर सुंदरलाल एवं इस कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि राष्ट्रीय सेवा योजना के समन्वयक डॉ राकेश कुमार यादव एवं अतिथि के रूप में पूर्वांचल विश्वविद्यालय से संजय श्रीवास्तव और इस कार्यक्रम की अध्यक्षता मोहम्मद हसन पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ अब्दुल कादिर खान ने किया।    राष्ट्रीय सेवा योजना के इस बापू बाजार के आयोजन में मोहम्मद हसन बीटीसी कॉलेज जौनपुर के बीटीसी के प्रशिक्षुओ के द्वारा भी एक स्टॉल लगाया गया था जिसमें अनेक

विधानसभा में अपराधिक छवि वाले विधायको की संख्या में भाजपा अव्वल

चित्र
       लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के ताजा ऑर्डर के बाद एक बार फिर से राजनीति के आपराधीकरण की चर्चाएं तेजी से चल पड़ी हैं। सुप्रीम कोर्ट ने सभी राजनीतिक पार्टियों को निर्देश दिया है कि वे अपने उन नेताओं की जानकारी वेबसाइट पर डालें जिनके ऊपर आपराधिक मामले चल रहे हैं।      बात राजनीति में उतरे अपराधी छवि वाले नेताओं की हो और चर्चा यूपी की न हो, ऐसा भला कैसे हो सकता है। यूपी की विधानसभा का दृश्य देखकर आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश में अपराध और राजनीति के बीच क्या सांठगांठ चलती आ रही है।       हर चुनाव में कैंडिडेट का पूरा ब्यौरा जमा करने वाली संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म, एडीआर के आंकड़े इस सांठगांठ को समझने में बहुत मदद करती हैं।     2017 के यूपी विधानसभा चुनाव के आंकड़े भी एडीआर ने जारी किये थे। तब 403 सीटों वाली विधानसभा में से बीजेपी को 312 सपा को 47 बसपा को 19 कांग्रेस को 7 और अपना दल को 9 सीटें मिली थीं। तीन निर्दलीय भी चुनाव में जीते थे। कुल 402 विधायकों में से 143 ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए थे। इन सभी रणबांकुरों ने अपने चुनावी हलफनामे में अपने

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शिविर में दी गयी कानून की जानकारी

चित्र
जौनपुर । जिला एवं सत्र  न्यायाधीश /अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जौनपुर एम0 पी0 सिंह, के निर्देशन में  ‘‘मॉ गुजराती इण्टर कालेज चुरावनपुर, बक्शा जौनपुर‘‘ में प्रोपेगेशन आफ राइट टू एजुकेशन एक्ट 2009 विषय पर विधिक साक्षरता शिविर का अयोजन किया गया।                शिविर में सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मो0 फिरोज द्वारा बताया गया कि बच्चों को मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम या शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आर0टी0ई0) 4 अगस्त 2009 को लागू हुआ, जिसमें 6 वर्ष के बच्चों को अनिवार्य शिक्षा के महत्व के तौर-तरीकों का वर्णन है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत भारत में 1 अप्रैल 2010 से अधिनियम लागू होने पर भारत हर बच्चे के मौलिक अधिकार को बनाने के लिए 135 देशांे में से एक बन गया। इस अधिनियम के तहत 6 और 14 वर्ष  की आयु के बीच शिक्षा को प्रत्येक बच्चे का मौलिक अधिकार बनाता है और प्राथमिक विद्यालयों में न्यूनतम मानदंडों को निर्दिष्ट करता है। इसमें सभी निजी स्कूलों को 25 प्रतिशत बच्चों के लिए आरक्षित करने की आवश्यकता है। बच्चों को आर्थिक स्थिति या जाति आधारित आरक्षण के आधा

जौनपुर में दूर संचार विभाग के 90 कर्मचारी वीआरएस लेने को हुए मजबूर

चित्र
जौनपुर । आर्थिक संकटों के चलते  केन्द्र सरकार द्वारा दूर संचार विभाग के कर्मचारियों को विगत कुछ माह से वेतन न दिये जाने एवं सरकार द्वारा बीएसएनएल को कमजोर करते हुए  प्राईवेट संचार कंपनियों को बढ़ावा देने को लेकर देश में  नाराज दूर संचार विभाग के लाखो कर्मचारियों ने जिनकी उम्र 50 साल हो गयी थी  वीआरएस लेकर अवकाश पर जाने को मजबूर हो गये है ।  बतादे इसकी जद में जनपद जौनपुर दूर संचार विभाग के 90 कर्मचारियों ने वीआरएस लिया है । एक खबर के मुताबिक वीआरएस लेने वालों में इस विभाग में कार्यरत बाबू,आपरेटर  से लगायत एसडीओ स्तर तक के कर्मचारी शामिल है । सूत्र ने जानकारी दी है कि  यहां जौनपुर में विभाग के कर्मचारियों द्वारा वीआरएस लेकर अवकाश पर जाने के कारण अब विभाग के अन्दर  कर्मचारियों की संख्या घट कर  एक चौथाई शेष बची है । सबसे गम्भीर समस्या यह है कि आपरेटरो को अवकाश पर चले जाने के कारण बीएसएनएल में आने वाली तकनीकी खराबी दूर करने के लिए सायद ही कोई कर्मचारी मिल सके ऐसे में तकनीकी खराबी की समस्या का खामियाजा अब उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ सकता है । ऐसा माना जा रहा है कि  उपभोक्ता इस सरकारी  कंपनी से

शपथ के बाद भी बन एवं बिक रहा है दोहरा

चित्र
जौनपुर । जनपद में दोहरा पर प्रतिबंध लगाने के लिए जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह  ने विगत 6 फरवरी 20 को एक तरह दोहरा न बनाने एवं दोहरा न बेचने की शपथ दिलाये है । वहीं पर 8 फरवरी 20 को नगर मजिस्ट्रेट जौनपुर ने  नईगंज  स्थित हरीलाल  प्रजापति के यहाँ से  बड़ी मात्रा में निर्मित दोहरा बरामद किया है । सिटी मजिस्ट्रेट की बरामदगी यह संकेत तो करती है कि  शपथ दिलाये जाने के बाद भी जनपद में दोहरा की बिक्री जारी है । हलांकि  पकड़ने के पश्चात हरीलाल के विरुद्ध विधिक कार्यवाही किया गया  लेकिन वहीं पर प्रशासन के प्रयास पर भी  प्रश्न चिन्ह लगाता है । क्या सस्ती लोकप्रियता के लिए शपथ दिलाये जाने का खेल प्रशासन के स्तर से किया गया है । यह घटना तो एक उदाहरण है सूत्र की माने तो जिले में दोहरा बनाने का कारोबार  शपथ के बाद भी चल रहा है । ऐसे व्यापारियों को कानून अथवा जिला प्रशासन का कोई भय नहीं है । नईगंज से निर्मित दोहरा बरामद करते सिटी मजिस्ट्रेट 

रास्ता बन्द करने पर भड़के अधिवक्ता एवं दुकानदार

चित्र
अधिवक्ता संघ ने जिला जज व डीएम को प्रस्ताव भेज कर रास्ता बंद न करने की किया मांग जौनपुर। हाईकोर्ट के आदेश पर दीवानी न्यायालय परिसर की सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर जनपद न्यायाधीश  एवं जिलाधिकारी  व पुलिस अधीक्षक  द्वारा अधिवक्ता संघ भवन के बगल हरईपुर जाने वाले गेट को बंद किए जाने के आदेश से भड़के वकीलों व दुकानदारों ने विरोध प्रदर्शन कर नारेबाजी की तथा कहा कि यदि गेट बंद हुआ तो वे आंदोलन करने को बाध्य होंगे और हम लोग प्रशासन की कटघरे से कटघरे बजा देगे । अधिवक्ताओं ने कहा कि  कैंटीनें बंद रहने से जहां अधिवक्ता एवं वादकारीयो  को जलपान आदि की समस्या होगी  वहीं पर फोटोस्टेट वगैरह की दुकानें बंद होने से न्यायिक कामकाज भी  प्रभावित होगा ।  अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष बृजनाथ पाठक व प्रभारी मंत्री अरविंद तिवारी ने जिला जज व डीएम को बार का प्रस्ताव भेज कर  मांग किया है  कि उस गेट को बंद न किया जाए,  क्योंकि न्यायालय के पूर्वी क्षेत्र की तरफ रहने वाले अधिवक्ताओं तथा मुरलीधर भवन में बैठने वाले अधिवक्ताओं को दीवानी परिसर में न्यायिक कार्य करने के लिए प्रवेश का दूसरा कोई मार्ग नहीं है, अधिवक्ता बताते है

जौनपुर के अन्दर अब हर हाल में बन्द होगा दोहरा डीएम ने दिलाया शपथ

चित्र
   जौनपुर। जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह जनपद में जिलाधिकारी का कार्यभार ग्रहण करने के पश्चात  जिले में कुटीर उद्योग का स्वरूप ले चुके  माउथ कैंसर का जनक दोहरा से जिले को मुक्त करने का संकल्प लिया  जिलाधिकारी ने अपने इस संकल्प को अमलीजामा पहनाने के लिए  कठोर कदम उठा लिया है।    इसी के तहत आज उन्होने के जिले के प्रमुख दोहरा व्यापारियों के साथ कलेक्ट्रेट  सभागार में एक बैठक किया। बैठक में जिलाधिकारी ने इसके दुष्परिणाम के बिषय में  व्यापारियों बताते हुए  दोहरा न बनाने  एवं दोहरा  न बेचने और न खाने के लिए आग्रह  किया, यह कारोबार न करने तथा  जिले की जनता के साथ अन्याय न करने का सलाह दिया, तो साथ ही  कानूनी  हंटर का भय दिखाकर उन्हे भयभीत भी किया।  तत्पश्चात सभी दोहरा व्यापारियों को इस व्यापार को बन्द  करने के लिए शपथ भी दिलायी। इस दौरान  डीएम ने खाद्य सुरक्षा विभाग और शहर कोतवाल को चेतानी भी दिया कि यदि अब कही दोहरा बना या बिका तो उसके विरुद्ध विधिक कार्यवाही किया जाये । बतादे जनपद में दोहरा नामक मादक प्रदार्थ के सेवनके चलते कुछ वर्षो से इसके शौकिनो के लिए  काल का कारण बन गयी है। अब तक दोहरा ख

जौनपुर में ऐसा भी विद्यालय है जहाँ महज आधा दर्जन बच्चों को पढ़ाते है तीन शिक्षक

चित्र
 शासना देश की धज्जियां उड़ाते हुए नहीं बनता है एमडीएम के तहत भोजन        जौनपुर । प्रदेश की  योगी सरकार परिषदीय विद्यालयों में शिक्षण कार्यो को सुधारने का दावा तो बहुत कर रही है  लेकिन  परिषद के विद्यालय सायद  न सुधरने की कसम खा रखे है । आज भी बड़ी संख्या में परिषदीय विद्यालय ऐसे है  जहाँ पर शासना देश की खुले आम अवहेलना किया  जा रहा है । विभाग के शीर्ष अधिकारी से लगायत प्रशासन के अधिकारी भी कुछ नहीं कर पा रहे है । ऐसे विद्यालय बड़े धड़ल्ले के साथ  सरकार की मंशा पर  पानी फेरने का काम कर रहे है । यही नहीं सरकार सर्व शिक्षा अभियान के नाम पर  करोड़ों रुपये प्रति वर्ष पानी की तरह बहा रही है लेकिन  उसका कोई लाभ  शिक्षा के क्षेत्र में समाज को नहीं मिल रहा है क्योंकि  परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक इसके प्रति गंभीर नहीं है  । और अधिकारी कागजी बाजीगरी का खेल करके अपनी पीठ थपथपा ले रहे है । ऐसे विद्यालयों की संख्या तो जनपद जौनपुर में अधिक हो सकती है " लेकिन यहाँ पर हांड़ी के चावल का एक दाना चेक कर पूरी हांड़ी के चावल का अनुमान लगाने का मुहावरा चरितार्थ है " जी हां जनपद जौनपुर के

वरासत अभियान में 44914 वारिसों का नाम खतौनी में दर्ज, 4फरवरी को तहसील में लगेगा कैम्प

चित्र
  जौनपुर । जनपद में 3442 राजस्व गांव में अविवादित मामलों में वरासत दर्ज करने का अभियान 15 नवंबर से 31 जनवरी तक चलाया गया। इस अभियान में 44914 लोगों के नाम मृतक काश्तकारों के स्थान पर अविवादित मामलो में  खतौनी में दर्ज किए गए।  कंप्यूटरीकृत खतौनी   निकालकर  विधायक,  सांसदजी, मंत्री  के द्वारा     ब्लॉक  स्तरीय  कार्यक्रम आयोजित कर  वितरण कराया गया। शेष बचे  लोगों को उनके घरों पर खतौनी का वितरण लेखपाल और कानून तहसीलदार व उप जिलाधिकारियों के द्वारा किया गया। इस आशय की जानकारी देते हुए जिलाधिकारी दिनेशकुमार सिंह ने बताया कि 16 अक्टूबर 2019 को मेरे द्वारा इस जनपद में कार्यभार ग्रहण किया गया था । तत्पश्चात शिकायतों को सुनने के दौरान कुछ लोगों ने इस प्रकार की शिकायतें की थी कि 15, से  20 सालों  पूर्व  मृत हुए लोगों के वारिसों   का नाम खतौनी में दर्ज नहीं हुए हैं। इन शिकायतों को गंभीरता से लिया गया और माननीय मुख्यमंत्री जी के जो निर्देश हैं कि गरीबों को कोई परेशानी ना हो उनके कार्य आसानी से हो उसको दृष्टिगत रखते हुए अविवादित मामलों में बारिसो का नाम दर्ज करने का अभियान  चलाया गया। डीएम ने कहा 

बलात्कार के आरोपी पूर्व गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को हाईकोर्ट से मिली जमानत

चित्र
जौनपुर ।  लॉ की छात्रा से दुष्कर्म के आरोपी स्वामी चिन्मयानंद को इलाहाबाद हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है। चिन्मयानंद के खिलाफ उनकी शिष्या ने वर्ष 2011 में बंधक बनाकर दुष्कर्म करने, गले में रस्सी से फंदा कसकर जान से मारने की कोशिश और बार-बार गर्भपात कराने आदि का आरोप लगाया था। शिष्या ने इस मामले की 30 नवंबर 2011 को चौक कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसमें विवेचना अधिकारी ने चिन्मयानंद के खिलाफ दुष्कर्म और धमकाने का आरोप पत्र कोर्ट में पेश किया था। इसी मामले में गिरफ्तारी से बचने के लिए चिन्मयानंद ने इलाहाबाद हाईकोर्ट से 25 जुलाई 2018 से स्टे ले रखा था। पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद से पांच करोड़ रुपये की फिरौती मामले के आरोपियों की सोमवार को शाहजहांपुर के सीजेएम कोर्ट में पेशी होनी है। सीजेएम कोर्ट में चल रहे इस मुकदमे में एलएलएम की छात्रा और थाना तिलहर क्षेत्र के गांव बंथरा निवासी संजय सिंह, विक्रम सिंह, गाजियाबाद निवासी सचिन सेंगर उर्फ सोनू पर चिन्मयानंद से पांच करोड़ रुपये की फिरौती मांगने का आरोप है। एसआईटी ने इस मामले में छह नंवबर को चार्जशीट कोर्ट में दाखिल

कांग्रेस बचाओ मंथन अभियान" सम्मेलन में जुटे दिग्गज नेता,बनाई रणनीति

चित्र
जौनपुर । शिया कालेज के सभागार में वाराणसी,मिर्जापुर,आज़मगढ़ मंडल के वरिष्ठ और निष्ठावान कांग्रेस जनों का "कांग्रेस बचाओ मंथन अभियान" का सम्मेलन सम्पन्न हुआ । सम्मेलन के प्रथम सत्र की अध्यक्षता पूर्व  राज्यपाल माताप्रसाद ने किया । एवं द्वितीय सत्र की अध्यक्षता प्रदेश कांग्रेस के  पूर्व अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह मुन्ना ने की ।  बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व सांसद डॉ संतोष सिंह ने कहा कि आज कांग्रेस नेतृत्व को बाहरी तत्वों ने गुमराह कर कांग्रेस पार्टी को कमज़ोर कर रहे है । पूर्व मंत्री सत्यदेव त्रिपाठी ने कहा की वर्तमान कांग्रेसी नेता कंजर संविधान की धज्जियां उड़ा रहे है । पूर्व विधायक विनोद चौधरी ने कहा कि हमने कांग्रेस की मजबूती के लिए अपनी जवानी कुर्बान की । वरिष्ठ कांग्रेसियो की उपेक्षा हम बर्दाश्त नही करेगे । पूर्व प्रदेश महासचिव संजीव सिंह ने कहा कि आज कांग्रेस में वरिष्ठ और निष्ठावान कांग्रेस जनों को किनारे कर के दूसरे दलों से आये लोगो को प्रदेश पदाधिकारी बनाया जा रहा है । ये कांग्रेस नेतृत्व द्वारा आत्मघाती कदम है । हम सभी मिलकर निष्ठावान कांग्रेसियो की सम्मान की

पुलिसिया प्रताडऩा से युवक ने दी अपनी जान

चित्र
पुलिस के प्रति स्थानीय लोगो में आक्रोश व्याप्त, कार्रवाई की मांग को लेकर घंटों नहीं उठने दिया लाश जौनपुर। कोतवाली थाना क्षेत्र के मुल्ला टोला मोहल्ले में पुलिस की प्रताडऩा से त्रस्त श्रमिक युवक ने फांसी लगाकर दी जान। मौत के बाद स्थानीय लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया। बड़ी संख्या में स्थानीय लोग मौके पर पहुंच गये और डायल 112 के सिपाहियों की गिरफ्तारी व कार्यवाही की मांग करने लगे। पुलिस के घंटों मशक्कत के बाद लाश कब्जे में ली जा सकी। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार उक्त मोहल्ला निवासी मो. असलम का 19 वर्षीय पुत्र मो. राजू अपने पिता के साथ रहकर मजदूरी का काम किया करता था। पिता-पुत्र की मजदूरी से मिलने वाली रकम से घर चलाता   था। आज शनिवार को पुत्र राजू  ने काम पर जाने से मना कर दिया, पिता अकेले ही मजदूरी करने चला गया। सुबह  लगभग साढ़े नौ बजे के आसपास राजू गोमती नदी के किनारे बैठकर अपने मोबाइल पर टिक-टॉक वीडियो बना रहा था। उसी समय डायल 112 के पुलिस और होमगार्ड वहां पहुंचकर उसे बताया कि तुम्हारे फोन से लखनऊ किसी लड़की से बात कर ब्लैकमेल किया जा रहा है और तुम्हारी शिकायत हमारे पास