Posts

Latest News

लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान हेट स्पीच के चलते यूपी में कहां और कितने मुकदमे हुए दर्ज

Image
लोकसभा चुनाव के दौरान नेताओं की जुबानी जंग अब मुसीबत का सबब बन सकती है। प्रदेश पुलिस ने चुनाव की आदर्श आचार संहिता के तहत भड़काऊ भाषण (हेट स्पीच) के 42 मुकदमे दर्ज किए हैं। जिसमें से सर्वाधिक 6 मुकदमे गोण्डा जिले में दर्ज हुए हैं। बता दें कि इसके अलावा फतेहपुर में 3, कानपुर, प्रयागराज, सीतापुर, मुरादाबाद, चित्रकूट, औरैया, बाराबंकी में 2-2 और गाजियबाद, वाराणसी, मुजफ्फरनगर, शामली, कानपुर देहात, मेरठ, संभल, बलिया, फतेहगढ़, मैनपुरी, फिरोजबाद, चंदौली, कुशीनगर, बदायूं, इटावा, एटा, बलरामपुर, श्रावस्ती, जौनपुर और आजमगढ़ में एक-एक मुकदमा हेट स्पीच की शिकायत पर दर्ज हुआ है।  इन मुकदमों की जद में बसपा के पूर्व नेशनल कोआर्डिटनेटर आकाश आनंद, बसपा के सीतापुर जिलाध्यक्ष विकास राजवंशी, बसपा प्रत्याशी महेंद्र यादव, लखीमपुर से बसपा प्रत्याशी अंशय कालरा, धौरहरा के बसपा प्रत्याशी श्याम किशोर अवस्थी, कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद, उनकी भतीजी मारिया आलम, संभल के सपा जिला उपाध्यक्ष मोहम्मद उस्मान, संभल के सपा प्रत्याशी जियाउर्रहमान बर्क, मुरादाबाद से सपा प्रत्याशी रुचि वीरा, कैराना से ब

नौतपा के चलते चढ़ते पारा से झुलस रहा जन मानस,जानें कब तक मिलेगी इससे मिलेगी निजात

Image
  चढ़ता हुआ पारा, भीषण लू के बीच अपने ही रिकार्ड को तोड़ते हुए मंगलवार को उत्तर प्रदेश मई में अब तक सबसे गर्म रहा। एक साथ गर्मी ने कई रिकॉर्ड तोड़े। झांसी में पारा 49 डिग्री पहुंच गया, आगरा में दिन का तापमान 48.6 डिग्री रहा और वाराणसी का पारा 47.6 डिग्री रहा। आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह के मुताबिक, इससे पहले ये तीनों ही शहर मई माह में इतने गर्म कभी नहीं रहे। झांसी तो गर्मी के मौसम में कभी भी इतना गर्म नहीं रहा। वहीं हमीरपुर में दिन के पारे ने मई 2005 की बराबरी की और यहां पर अधिकतम तापमान 48.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मौसम वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह के मुताबिक, झांसी के 1892 से मौसम का रिकार्ड उपलब्ध है। वहीं आगरा के मौसम का रिकार्ड 1884 यानी 140 वर्षों का रिकार्ड है, जबकि वाराणसी का 1977 यानी 47 वर्षों का रिकार्ड उपलब्ध है। जिन तीनों शहरों में आज तापमान का रिकार्ड टूटा है, वहां इतने वर्षों में इतना गर्म कभी रहा ही नहीं। इतनी गर्मी पड़ने का कारण क्या है मौसम वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह के मुताबिक, ऊपरी क्षोभ मंडल में

चुनावी रंजिश की झलक अभी से दिखने लगी,दबंगो ने दुकानदार को पीटा एफआईआर दर्ज

Image
जौनपुर। खुटहन थाना क्षेत्र के राउतपुर रामनगर गांव में चुनाव की बात को लेकर सामान्य कहासुनी के बाद दबंगों ने दुकानदार की लात-घूंसों से पिटाई कर दी। पीड़ित व्यवसायी के प्रार्थना पत्र पर पुलिस ने पांच आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। राउतपुर रामनगर गांव निवासी सुशील पांडेय रामनगर बाजार में जनरल स्टोर की दुकान चलाते हैं। सुशील का आरोप है कि 26 मई की शाम गांव के ही विवेक यादव और सनोज यादव उसके घर पहुंचकर चुनाव को लेकर अपशब्द बोलने लगे। आस पास के लोगों ने बीच-बचाव किया तो मामला वहीं पर शांत हो गया। आरोप है कि दूसरे दिन वह अपनी दुकान पर बैठा था तभी विवेक यादव, सनोज यादव, राहुल यादव, सत्यम यादव और चंदन यादव आकर उसकी दुकान में घुसकर उसे जमकर लात-घूंसों से मारने-पीटने लगे। दुकान में उत्पात मचाते हुए जमकर तोड़फोड़ भी किए। इस बाबत प्रभारी निरीक्षक खुटहन संजय वर्मा ने बताया कि प्राप्त प्रार्थना पत्र के आधार पर सभी आरोपियों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

पुलिस द्वारा अब्बास अंसारी के खिलाफ की गई गैंगस्टर की कार्रवाई में हाईकोर्ट से मिली राहत,पुलिस को फटकार जानें क्या है आदेश

Image
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने चित्रकूट पुलिस की ओर से की गई कार्रवाई के चलते जेल में बंद मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी और उसकी पत्नी निखहत अंसारी समेत पांच लोगों के खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने जबरन की गई गैंगस्टर की कार्रवाई के लिए पुलिस को फटकार भी लगाई है। यह आदेश न्यायमूर्ति सिद्धार्थ और न्यायमूर्ति सुरेंद्र सिंह प्रथम की अदालत ने शाहबाज आलम की ओर से गैंगस्टर के तहत दर्ज एफआईआर की वैधता को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया है।  याची के अधिवक्ता उपेंद्र उपाध्याय ने बताया कि मामला चित्रकूट जिले के कर्वी थाना क्षेत्र का है। जेल में बंद अब्बास अंसारी की पत्नी निखहत के मिलने के मामले में एफआईआर दर्ज हुई थी और बाद में कर्वी पुलिस ने गैंगस्टर के तहत भी एफआईआर दर्ज की थी।  गैंगस्टर मामले में अब्बास अंसारी, उसकी पत्नी निखहत अंसारी और शाहबाज आलम समेत पांच लोगों को आरोपी बनाया गया था। गैंग चार्ट बनाने के नियमों का पालन न कर औपचारिकता पूरी की गई थी। दलीलों को सुन कर कोर्ट ने याचिका स्वीकार करते हुए एफआईआर र

मतगणना कैसे शान्ति पूर्ण हो इस बाबत जिला निर्वाचन अधिकारी ने दिया दिशा निर्देश

Image
जौनपुर।षजिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार माँदड़ की अध्यक्षता में  मतगणना की तैयारी के संबंध में बैठक मीटिंग हाल में की गई। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतगणना 04 जून को वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के मूल्यांकन भवन में की जाएगी। उन्होंने इसके सम्बन्ध में सभी प्रकार की तैयारियों को समय से पूर्ण करने के निर्देश दिये। जिला विकास अधिकारी वी0के0 यादव, परियोजना निदेशक जयकेश त्रिपाठी और बीएसए डॉ0 गोरखनाथ पटेल को निर्देशित किया कि कार्मिकों की नियुक्ति उनके डेप्लॉयमेंट और प्रशिक्षण कार्य को समय से गुणवत्तापूर्ण तरीके से पूर्ण किया जाए। जिला निर्वाचन अधिकारी ने मतगणना को सकुशल, शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराए जाने हेतु सभी एआरओ को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए, इसके साथ ही मतगणना में लगे वीआरसी  को भी उनके दायित्व के संबंध में जानकारी दी गई। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी साईं तेजा सीलम, उप जिला निर्वाचन अधिकारी राम अक्षयबर चौहान, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट इशिता किशोर, नगर मजिस्ट्रेट इन्द्र नन्दन सिंह सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

पत्नी के खून का प्यासा पति किया चाकू से हमला, पत्नी अस्पताल में जीवन मौत के बीच संघर्ष रत, पति फरार,पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

Image
जौनपुर। जज के आदेश पर जनपद के थाना जफराबाद क्षेत्र स्थित ग्राम सुल्तानपुर में स्थित अपने ससुराल गयी विवाहिता के उपर सोमवार की रात उसके पति ने अपनी पत्नी पर प्राण घातक हमला कर दिया। गंभीर रूप से घायल महिला को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। घटना को अंजाम देने के आरोपी पति फरार हो गया है। पुलिस एफआईआर दर्ज कर हमलावर पति की तलाश कर रही है। मिली खबर के अनुसार थाना जफराबाद क्षेत्र के सुल्तानपुर गांव स्थित निषाद बस्ती निवासी जितेन्द्र निषाद की शादी वर्ष 2010 में बक्शा के खमपुर गांव निवासी बसंत लाल निषाद की पुत्री सविता निषाद से हुई थी। दोनों से एक पुत्री साक्षी निषाद (9) एवं पुत्र अनमोल (5) हैं। शादी के कुछ दिन बाद से ही जितेन्द्र अपनी पत्नी को मारता-पीटता था। कई बार दोनों पक्षों में इसी बात को लेकर पंचायत भी हुई। पंचायत के बाद कुछ दिन तक दोनों के बीच मामला ठीक ठाक रहा। उसके बाद जितेन्द्र फिर पत्नी से मारपीट करने लगा। पति के आतंक से आजिज डेढ़ वर्ष पूर्व पत्नी मायके चली गई। उसने पति पर दहेज मांगने तथा मारपीट करने का मुकदमा जफराबाद थाने में दर्ज करवा दि

मतगणना स्थल पर ईवीएम मशीन को लेकर हंगामा करने वाले दो सपाई सहित 50 के खिलाफ एफआईआर

Image
सवाल:घटना के लिए जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ कौन सी कार्रवाई जिला प्रशासन ने किया? जौनपुर। जनपद में बीते 25 मई को मतदान की प्रक्रिया पूरी होने के बाद जौनपुर लोकसभा क्षेत्र स्थित मुंगराबादशाहपुर विधानसभा एक डीसीएम पर लदी ईवीएम मशीन मतगणना स्थल पूर्वांचल विश्वविद्यालय परिसर मे पहुंचने पर ईवीएम लदी डीसीएम को रोककर शनिवार को सपा कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया था। जिसको लेकर पुलिस ने दो नामजद व 50 अज्ञात के खिलाफ धारा 143 व 188 भादवि के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस के मुताबिक सरकारी काम में बाधा उत्पन्न करने को लेकर कार्रवाई की गई है। पहले से धारा 144 लागू होने के कारण इस प्रकार की घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस ने सचेत किया था। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय में बने मतगणना स्थल पर शनिवार की शाम जौनपुर लोकसभा का मतदान खत्म होने के बाद मुंगराबादशाहपुर के लिए रिजर्व ईवीएम लदी डीसीएम मतगणना स्थल पर पहुंच गई थी। इसके बाद सपा कार्यकर्ताओं ने डीसीएम को रोककर हंगामा शुरू कर दिया। उस समय जिलाधिकारी ने मीडिया में बयान दिया था कि ईवीएम को निजी वाहन से कलेक्ट्रेट पहुंच