एक सप्ताह के अंदर राहत सहायता राशि किसानों को प्रदान कर दिया जाये - सीएम योगी आदित्य नाथ


जौनपुर में ओलावृष्टि से पीड़ित किसानों एवं दैवी आपदा में मरने वालो के आंसू पोछे सीएम 

      जौनपुर । विगत  12/13 मार्च की रात्रि में आंधी तुफान एवं ओलावृष्टि से हुई किसानों की भारी क्षति तथा दैवी आपदा के चपेट में आने से जिले में मरने वालों के परिजनों को आर्थिक  सहायता प्रदान कर उनके आंसू पोछने के लिए प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ आज अचानक जौनपुर आये और मुख्यालय से लगभग 7 किमी दूर स्थित करंजाकला ब्लाक मुख्यालय पर जनपद के 51 ओलावृष्टि से पीड़ित किसानों को सहायता राशि प्रदान किया। साथ ही इस दैवी आपदा में मरने वाले तीन मृतकों के परिजनों को चार - चार लाख रुपये आर्थिक सहायता राशि प्रदान किया है ।
 इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि प्रदेश की सरकार इस दैवी आपदा में किसानों के साथ खड़ी है  ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों को एक सप्ताह के अंदर राहत  सहायता राशि प्रदान कर दिया जायेगा इस आशय का निर्देश प्रदेश के सभी जिलाधिकारीयो को दे दिया गया है। इसका सर्वे करा कर पात्र किसानों के घर राहत सहायता राशि पहुंचा दिया जाये। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसमें किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि पहले ऐसी आपदाओं से पीड़ित किसानों को सहायता राशि प्रदान करने में वर्षों लगा दिया जाता रहा है लेकिन हमारी सरकार ने एक सप्ताह के अंदर राहत सहायता राशि किसानों को देने का निर्णय ले रखा है। 
यहाँ बतादे कि  कि इस दैवी आपदा में जनपद के अन्दर तहसील मड़ियाहू क्षेत्र स्थित शीतल गंज बाजार के पास ग्राम अहिरौली में 50 वर्षीया उर्मिला देवी  पत्नी नन्दलाल पटेल की मौत आकाशीय बिजली की चपेट में से हो गयी ,थाना रामपुर  क्षेत्र स्थित ग्राम वनडीह में रिस्तेदारी में एक शादी समारोह में भाग लेने आये जनपद भदोही कुशवाड़ा निवासी  बृजराज 50 वर्ष की मौत आंधी के चलते पेड़ टिन सेड के मकान पर गिरने से हो गयी है। तहसील केराकत के उदियासन गांव में छप्पर में सो रहे सूरज पाल 14 वर्ष की मौत आंधी के चलते छप्पर पर पेड़ गिरने के चलते हो गयी है  जबकि यहाँ पर तीन बुरी तरह से जख्मी है जिनका उपचार हो रहा है।  इन तीनों के परिजनों को सीएम ने चार-चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान किया। 
मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जनपद वाराणसी से लगभग ढाई बजे के आसपास पूर्वांचल विश्वविद्यालय में बने हेलीपैड पर आये वहां से सीधे करंजाकला ब्लाक मुख्यालय पर पहुंचे जिले में लगभग 15 से 20 मिनट तक रूकने के बाद उनका उड़न खटोला लखनऊ के लिए रवाना हो गया।  हेलीपैड पर पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो राजाराम ने स्वागत किया।  कार्यक्रम स्थल पर प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री गिरीश चन्द यादव, सांसद वीपी सरोज,  विधायक गण रमेश मिश्रा, दिनेश चौधरी, हरेन्द्र प्रताप सिंह आदि ने स्वागत किया।  मुख्यमंत्री के आने से लेकर जाने तक जिला प्रशासन से लगायत वाराणसी मंडल के अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था में इधर-उधर भागते नजर आये। सीएम के वापस चले जाने पर राहत की सांस ली है।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद