कर्फ़्यू के दौरान भूख से परेशान गरीबों की सेवा में पुलिस का सराहनीय क़दम, करा रहे है भोजन की व्यवस्था

 

     जौनपुर।  कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री द्वारा पूरे देश को किये गये लाक डाऊन के दौरान पुलिस जहां सुरक्षा व्यवस्था में दिन रात लगी है और  आवाम से लाक डाऊन का पालन कराने में पूरी ताकत के साथ लगी है।  वही पर जनपद के पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार के निर्देशन में एक  और अनोखी पहल शुरू किया है कि  इस लाक डाऊन की अवधि में कोई भी परिवार भूखे न रहे।  इस अभियान के तहत  जिले के  लगभग सभी पुलिस अधिकारी एवं थाने दार इस पहल को अंजाम देने का पूरा प्रयास करते हुए झुग्गी झोपड़ी में पहुंच कर गरीब परिवारों का हाल चाल लेते हुए उनके भोजन का इन्तजाम कर रहे है।  पुलिस की पहल को जनपद के प्रबुद्ध जनो द्वारा सराहा जा रहा है ।
 इस क्रम में  पहले दिन  सीओ सिटी के साथ  थाना प्रभारी कोतवाली सदर के इंस्पेक्टर  ने  लगभग एक दर्जन से अधिक गरीब परिवारों को रात्रि में भोजन पहुंचाया  तो  दूसरे दिन  गरीबों को पूड़ी सब्जी का पैकेट वितरित किया गया है इसके अलावां  सीओ सदर के साथ  थाना प्रभारी बक्शा  ने गरीब परिवारों के घरों तक पहुचने का का काम किया है साथ कोरोना के चलते दो दिन से रास्ते में फंसे भूखे प्यासे कई ट्रक चालकों को थाने पर ला कर मुफ्त भोजन कराया है।  गरीब मजदूर  पुलिस जनो द्वारा भोजन पाकर  बेहद खुश होने के साथ ही पुलिस की इस कार्य शैली की सराहना भी किये है। 
यही नहीं तहसील मछली शहर के सीओ और कोतवाल ने  अपने पुलिस कर्मियों के साथ गरीबों के घरों तक भोजन पहुचाने की पहल को अमलीजामा पहनाया और  पूरी कोशिश की कि कोई भूखे पेट न सोये। इसके अलावां  शाहगंज तहसील क्षेत्र में  भूखे दिहाड़ी मजदूरों को सीओ ,एसडीएम  और कोतवाल शाहगंज  ने संयुक्त रूप से मिलकर  पूड़ी सब्जी का पैकेट मजदूरों को वितरित किया जो दो दिनों की भूख को शांत कर सके।  
इस तरह पुलिस अधीक्षक की इस पहल को अंजाम तक पहुंचाने में पूरे जनपद के थानों की पुलिस पूरी तरह लग गयी है।  जिसका परिणाम है कि आम जन के अन्दर जहां पुलिस का विश्वास बढ़ रहा है वही पर लोगो को भूख की समस्या से निजात भी मिल रही है। 
यहां बतादे कि पुलिस की इस पहल के लिए विभाग को कोई सरकारी इमदाद नहीं मिली है बल्कि पुलिस विभाग अपने सहयोग से गरीबों को भोजन कराने की पहल को अंजाम दे रहा है। 
पुलिस अधीक्षक की इस पहल पर कांग्रेस के पूर्व जिला अध्यक्ष इन्द्रभुवन सिंह ने कहा कि इस संकट की घड़ी में  पुलिस के समक्ष कई चुनौतियां है उसका पालन करते हुए पुलिस अधीक्षक गरीब परिवारों का भी ध्यान दे रहे हैं बधाई के पात्र है।  इसी क्रम में  शिक्षा विद  प्रो.पी सी  विश्वकर्मा ने अपने  बयान में कहा कि पुलिस अधीक्षक के इस पहल से गरीब परिवार जिनके जीविको पार्जन का साधन छिन गया है उनके लिए  पुलिस एक मसीहा के रूप में सामने आई है। प्राचार्य जनहित महाविद्यालय उदय प्रताप सिंह ने बताया कि कोरोना संक्रमण के इस संकट की घड़ी में पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार के निर्देश पर पुलिस विभाग द्वारा  ग़रीब परिवारों को भोजन दिये जाने की पहल सराहनीय है । उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस का कार्य सुरक्षा व्यवस्था कायम रखना है लेकिन गरीबों को भोजन की पहल पुलिस की मानवीय संवेदना को व्यक्त कर रही है।

Comments

Popular posts from this blog

जिले के पांच प्राथमिक विद्यालयो के औचक निरीक्षण में तीन विद्यालय के मास्टरो को मिली कारण बताओ नोटिस, रोका गया वेतन

स्कूल के आफिस में प्रिसिंपल और टीचर की अश्लील हरकते हुई वायरल,पुलिस क्यों है बेखबर?

परिषदीय विद्यालयो में डिजिटल उपस्थित का शिक्षको के विरोध के बीच अब सीएम योगी का दखल,जानिए जिम्मेदारो को क्या मिला आदेश