कोरोना संक्रमण के बिषय में भ्रामक अफवाहों पर ध्यान न दें - मुख्य विकास अधिकार


   जौनपुर। मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला की अध्यक्षता में कलेक्टेªट सभागार में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा की गयी। उन्होंने जिले के सप्लायरों को निर्देश दिया कि किसी भी दशा में कोरोना से सम्बन्धित आवश्यक चीजो की ब्लैक मार्केटिंग न हो। आवश्यक चीजो का एक निश्चित स्टाक भविष्य के लिए रखा जाय। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर फैलने वाले भ्रामक अफवाहो पर ध्यान न दे। जिले में कन्ट्रोल रुम की स्थापना की गयी है जिसका मोबाइल नम्बर 9569434388 है, किसी भी प्रकार की सूचना प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने कहा कि पंचायती एवं ग्राम्य विकास विभाग ग्राम पंचायत लेवल पर बैठक कर ले तथा पंम्पलेट के माध्यम से लोगो को जागरुक करे। उन्होंने सभी अधिशासी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत को निर्देशित किया कि अभियान चलाकर साफ-सफाई कराई जाय। एआरएम रोडवेज को निर्देशित किया कि यात्रा करने वाले यात्रियों की जानकारी एक रजिस्टर बनाकर अंकित करे।
              मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 राम जी पांडेय ने बताया कि कोरोना वायरस जनित बीमारी एक आम वायरस जनित फ्लू की तरह है। यह अन्य फ्लू की बीमारियों की अपेक्षा कम तेजी से फैलता है। यह केवल संक्रमित व्यक्ति से स्वस्थ व्यक्ति के व्यक्तिगत संपर्क में आने से ही फैलता है। इसीलिए इसके तेजी से या समुदाय में व्यापक रूप से फैलने की काफी कम संभावना है। कोरोना वायरस का सर्वप्रथम संक्रमण चीन से प्रारंभ हुआ जो संक्रमित व्यक्तियों के अन्य देशों में यात्रा या प्रवास के कारण विश्व के अन्य देशों में पहुंचा है। इसलिए भारत सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण से प्रभावित 12 राष्ट्रों से भारत में आने वाले सभी यात्रियों की सघन जांच व मॉनिटरिंग की जा रही है। सरकार से प्राप्त यात्रियों की सूचना एवं दिशा निर्देश के अनुसार जनपद जौनपुर में उन राष्ट्रों से आने वाले सभी यात्रियों की भारत के आने के 28 दिन तक प्रतिदिन स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली जाती है। इसकी सूचना राज्य सरकार को प्रतिदिन भेजी जाती है। अभी तक जनपद में आए किसी यात्री में कोरोना संक्रमण जैसे कोई लक्षण नहीं पाए गए हैं। जनपद स्तर पर कोरोना संक्रमण के रोकथाम और जॉच के सभी उपाय कर लिए गए हैं। जिला पुरुष चिकित्सालय में कोरोना आइसोलेशन वार्ड स्थापित किया गया है जिसमें कोरोना संक्रमित व्यक्ति के इलाज की संपूर्ण पृथक व्यवस्था की गई है।
                    कोरोना संक्रमण के अत्यंत गंभीर और तेजी से फैलने की भ्रामक अफवाहों पर ध्यान ना दें। इससे घबराने की आवश्यकता नहीं है। आम जनता में इसके होने की संभावना नहीं है।सावधानी और बचाव हेतु सरल उपाय  है, जैसे खांसी व छींक के समय नाक व मुंह पर रुमाल रखें या कुहनी लगा ले। हाथ को बार-बार साबुन या अल्कोहल सैनिटाइजर से साफ करें। भीड़-भाड़ वाले स्थान पर जाने से बचें। साफ ताजा गरम और घर में बने खाद्य पदार्थों का सेवन करें। पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ और फल का प्रयोग करें शाकाहार अपनाएं। बिना साफ किए अपने हाथ को चेहरे नाक व मुंह में ना लगाएं। हाथ मिलाने के औपचारिक अभिवादन के तरीके ना प्रयोग करें। जुकाम खांसी और बुखार से पीडि़त व्यक्ति से दूरी बनाए विशेषत बुजुर्ग अस्वस्थ एवं बच्चों को उनसे दूर रखें। बुखार, जुकाम, खांसी के साथ सांस लेने में दिक्कत होने पर सरकारी चिकित्सालय या योग्य चिकित्सक को ही दिखाएं। स्वस्थ व्यक्ति के लिए फेस मास्क की कोई उपयोगिता नहीं है।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वि0रा0 रामप्रकाश, अपर जिलाधिकारी भू0रा0 डॉ0 सुनील वर्मा, दवा व्यापारी, सामान्य व्यापारी, ड्रग इस्पेक्टर, खण्ड विकास अधिकारी, सहायक खण्ड विकास अधिकारी, समस्त अधि0अधिकारी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।  

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद