डिजिटल दुनिया महिलाओं के लिए सशक्त हथियार: प्रो. निर्मला एस. मौर्य


शिक्षा से हीं आ सकती हैं  लैंगिंग समानता: नलिनी मिश्रा 
कानूनी ज्ञान से ही महिला समानता संभव : मनीषा झा
डिजिट ऑल : इन्नोवेशन एंड टेक्नोल़ॉजी फॉर जेंडर इक्वैलिटी पर हुआ वेबिनार

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के महिला अध्ययन केन्द्र के तत्वावधान में मंगलवार को एक वेबीनार का आयोजन किया गया। इसका विषय डिजिट ऑल : इन्नोवेशन एंड टेक्नोल़ॉजी फॉर जेंडर इक्वैलिटी।
 इस मौके पर अध्यक्षता कर रहीं विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. निर्मला एस. मौर्य ने कहा कि ऐसे दिवस मनाने का उद्देश्य होता है कि लोगों की उस विषय को लेकर जागरूकता बढ़ायी जाई। नारियों में वह शक्ति है कि वह अपने अधिकारों को अपने कार्यों से ले सकती हैं। उन्होंने कहा कि डिजिटल दुनिया महिलाओं के लिए एक सशक्त हथियार है। उन्होंने कहा कि नारियां दुनिया की सबसे सुन्दर कल्पना है और नारियों के लिए कोई भी चीज नामुमकिन नहीं है। 
विशिष्ट वक्ता नलिनी मिश्रा ने कहा कि शिक्षा वह यंत्र है जिससे हम लैंगिक समानता ला सकते है। उन्होंने कहा कि डिजिटल माध्यमों की सहायता से हम महिलाओं को जोड़कर शिक्षित कर सकते हैं। डिजिटल माध्यमों से ग्रामीण अंचलों की महिलाओं को भी जोड़कर उन्हें शिक्षा प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि डिजिटल माध्यम का इस्तेमाल इतना आसान है कि हम सभी इसका उपयोग कर सकते हैं। 
विशिष्ट वक्ता मनीषा झा ने कहा कि कानूनी ज्ञान से ही महिला समानता संभव है। नई तकनीकी के आने से महिलाओं को कई क्षेत्र में समानता मिली है। वेबीनार का संचालन डॉ. सोनम और धन्यवाद ज्ञापन डॉ. जान्हवी श्रीवास्तव ने किया। इस मौके पर डॉ. अनु त्यागी, हेदायत फात्मा, आंचल सिंह, रिशु मौर्य, सूरज यादव, सोनी यादव, संस्कार श्रीवास्तव सहित तमाम छात्र वेबीनार से जुड़े रहे।

Comments

Popular posts from this blog

बाहुबली नेता एवं पूर्व विधायक के परिवार जनों पर फिर मारपीट और छेड़खानी का मुकदमा हुआ दर्ज, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

सपा ने जारी किया सात लोकसभा के लिए प्रत्याशियों की सूची,जौनपुर से मौर्य समाज पर दांव,बाबू सिंह कुशवाहा प्रत्याशी घोषित देखे सूची

भाजपा के प्रत्यशियो की दसवीं सूची जारी, मछलीशहर से भी प्रत्याशी घोषित देखे सूची