जिला अस्पताल में गंदगी देख डीएम अनुज कुमार झा की तनी भृकुटी,गंदगी करने वालो पर लगे जुर्माना



जौनपुर। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, मुख्य विकास अधिकारी साईं तेजा सीलम के साथ जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने इमरजेंसी वार्ड के चिकित्साधिकारी डॉक्टर के०के० पांडेय से चिकित्सकों की उपस्थिति की जानकारी प्राप्त की। 
इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा पंजीयन कक्ष, दवा वितरण कक्ष का निरीक्षण किया और भर्ती मरीज लालजी के परिजन से पूछा कि यहां पर डॉक्टर द्वारा बाहर की दवाई तो नहीं लिखी गई है जिस पर मरीज के परिजन द्वारा अवगत कराया गया कि बाहर की दवाई नहीं लिखी गई है परंतु कुछ दवाई यहां पर नहीं मिल रही है, जिसपर जिलाधिकारी द्वारा मरीज का पर्चा लेकर देखा तो सिटीजन, विटामिन D3 एवं ओमेप्राजोल की दवा नहीं दी जा रही थी जिस पर जिलाधिकारी ने दवा वितरण कक्ष पर पहुंचकर जानकारी प्राप्त की, उनके द्वारा बताया गया कि दवाई स्टॉक में नहीं है जिस पर जिलाधिकारी ने औषधि कक्ष का निरीक्षण किया और डॉक्टर से जानकारी प्राप्त की तो दवा औषधि कक्ष स्टॉक में 10 दिन पूर्व से ही दवा उपलब्ध है जिस पर जिलाधिकारी ने फार्मासिस्ट शैलेंद्र यादव, मनोज तिवारी पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देशित किया कि आपस में तालमेल रखते हुए मरीजों को दवा वितरण अवश्य कराया जाए अन्यथा की दशा में जवाबदेही तय की जाएगी।


इसके उपरांत जिलाधिकारी द्वारा फिजीशियन डॉ० अशोक यादव, हृदय एवं न्यूरो रोग डॉक्टर प्रभात सिंह, एमएस जनरल सर्जन डॉक्टर संजय वर्मा के कक्ष में जाकर जानकारी प्राप्त की और मरीजों से पूछा कि बाहर की दवा तो नहीं लिखी जा रही है जिसपर मरीज द्वारा बताया गया की बाहर की दवा नही लिखी गई है। इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा अस्पताल के समस्त वार्डों का निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान अस्पताल में गंदगी देखकर नाराजगी व्यक्त किया और जगह जगह पर पान का पीक पाए जाने पर सुरक्षा गार्ड को वहां से हटाए जाने का निर्देश दिया और दूसरे गार्ड को लगाने का निर्देश दिया साथ ही यह भी कहा कि गंदगी करने वालों के खिलाफ जुर्माना तय किया जाए।इसके उपरांत जिलाधिकारी ने महिला अस्पताल के निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान वार्डों में हर बेड पर बेडशीट एवं डस्टबिन न पाए जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए स्टाफ नर्स को निर्देशित किया कि सभी बेड़ो पर बेडशीट एवं डस्टबिन लगाया जाए अन्यथा की दशा में कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा स्टाफ नर्स से प्रतिदिन की बेडशीट कलर कोड की जानकारी प्राप्त की। 
पोषण पुर्नवास केंद्र का निरीक्षण के दौरान अस्पताल में डाइटिशियन न होने पर संबंधित को उक्त पद को भरे जाने की कार्यवाही करने का निर्देश दिया। इसके उपरांत जिलाधिकारी द्वारा जनरल सर्जरी वार्ड का निरीक्षण किया गया और मरीजों के परिजन से ऑपरेशन के बारे में जानकारी प्राप्त की और पूछा कि किसी डॉ० के द्वारा पैसे की मांग तो नहीं की गई है जिस पर मरीज के परिजन द्वारा बताया गया कि किसी प्रकार की पैसा की मांग नहीं की गई है। ओ०टी० और डायलिसिस वार्ड का निरीक्षण के दौरान डॉक्टर ने बताया कि आज कोई मरीज ओ०टी० और डायलिसिस वार्ड भर्ती नहीं है हुआ है, जिसपर जिलाधिकारी ने डॉक्टर को कल और आज कितने मरीज भर्ती हुए थे इसकी जानकारी उपलब्ध कराएं कराने का निर्देश दिया। 
इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा होमियो डायलिसिस यूनिट का निरीक्षण किया और पाया की जगह जगह पर दरवाजा, टाइल्स, शीशा टूटा हुआ है जिसपर नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को निर्देशित किया कि लिस्ट तैयार करते हुए तत्काल मरम्मत कराया जाए। डायलिसिस सेंटर में मरीज के परिजन अमित द्वारा पूछा कि डायलिसिस के लिए डॉक्टरों द्वारा पैसा तो नहीं लिया गया जिस पर मरीज द्वारा बताया गया कि किसी प्रकार की कोई पैसा नहीं लिया गया है।इसके उपरांत जिलाधिकारी द्वारा बेबी कॉर्नर वार्ड का निरीक्षण किया गया और संबंधित अधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिया।

Comments

Popular posts from this blog

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

सड़क चौड़ीकरण के लिए जानिए कौन कौन से मन्दिर टूटने के कगार पर ,क्या है लोक निर्माण विभाग की योजना

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा