अखरोट है सेहत का खजाना, जाने कैसे और कितना है इसे खाना


स्वस्थ रहने के लिए हेल्दी भोजन करना बहुत जरूरी है। ड्राय फ्रूट्स कई पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जिनके सेवन से लोग बीमारियों से दूर रहते हैं। अखरोट को सेहत का खजाना माना जाता है जिसमें प्रोटीन, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन, कॉपर, फॉस्फॉरस, सेलेनियम, ओमेगा-3 फैटी एसिड जैसे कई जरूरी न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं। इसी कारण अखरोट को ड्राय फ्रूट्स का राजा कहा जाता है। आइए जानते हैं कि क्यों बीमारियों से दूर रहने के लिए स्वास्थ्य विशेषज्ञ इसे खाने की सलाह देते हैं।
इस कोरोना काल में इम्युनिटी का मजबूत होना बेहद जरूरी है। फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड एथॉरिटी ऑफ इंडिया के मुताबिक अखरोट में जिंक, ओमेगा-3 फैटी एसिड, सेलेनियम, प्रोटीन और विटामिन-बी जैसे जरूरी पोषक तत्व पए जाते हैं जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने में सहायक होता है।
अखरोट में प्लांट बेस्ड ओमेगा 3 अल्फा लिनोलेनिक एसिड पाया जाता है जो एक बेहतरीन फैटी एसिड होता है। ये तत्व दिल को मजबूत रख कई हृदय रोगों के खतरे को कम करता है।
नियंत्रित रहता है कोलेस्ट्रॉल: अखरोट में फाइबर और ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। साथ ही कोलेस्ट्रॉल के लक्षणों को भी कम करता है।
ब्रेन को रखता है एक्टिव और हेल्दी: एक अध्ययन के मुताबिक अखरोट में जरूरी पोषक तत्व होते हैं जो मस्तिष्क के कामकाज और स्वास्थ्य को बेहतर करता है। ये याद्दाश्त को बेहतर करने, ध्यान केंद्रित करने और अवसाद के लक्षणों को कम करने में सहायक है।
वजन कम करने में है सहायक: बताया जाता है कि अखरोट में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाए जाते हैं। ये पोषक तत्व दिल और आंत को स्वस्थ रखने में लाभकारी है। साथ ही, ये वजन कम करने में भी सहायक है। इसे खाने से भूख काबू में रहती है और लोग ज्यादा खाने से बच जाते हैं।
कैसे और कितना खाएं: हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि भीगे हुए अखरोट का सेवन करने से डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा कम होता है। इसका सेवन करने के लिए एक मुट्ठी अखरोट को पानी में रात भर भिगोएं। फिर सुबह पानी को छानकर अखरोट खा लें। इससे उसकी गर्म तासीर कम हो जाती है। डाइटिशियन के मुताबिक रोजाना करीब 2 से 3 अखरोट खाने से कई स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

चाचा भतीजी में हुआ प्यार, फिर फरार, पकड़े जाने पर हुई दैहिक समीक्षा, अब शादी की तैयारी

58 हजार ग्राम प्रधानो को लेकर योगी सरकार ने लिया अब यह फैसला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम