जानते है एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार छठें चरण में कितने है दागी प्रत्याशी



इलेक्शन वॉच एसोसिएशन फार डेमोक्रेटिक रिफार्म ने छठें चरण के उम्मीदवारों के हलफनामे का विश्लेषण जारी कर दिया है। इस चरण में जहां बाकी चरणों के मुकाबले करोड़पति की संख्या कम है वहीं दागी छवि के उम्मीदवारों की संख्या भी एक चौथाई है। एडीआर के संयोजक संजय सिंह ने बताया कि छठें चरण में 676 उम्मीदवार मैदान में हैं इसमें से 670 उम्मीदवारों के हलफनामे का विश्लेषण किया गया है। इसमें 182 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर दर्ज मुकदमों का जिक्र किया है। इसमें सबसे अधिक समाजवादी पार्टी के 48 में से 40, भाजपा के 52 में से 23, कांग्रेस के 56 में से 22, बसपा के 57 में से 22 उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। जो दागी उम्मीदवार मैदान में हैं टाप तीन में गोरखपुर के सहजनवा विधानसभा सीट से बसपा उम्मीदवार सुधीर सिंह, कुशीनगर के खड्डा विधानसभा सीट से सुभासपा उम्मीदवार अशोक चौहान और गोरखपुर शहरी सीट से चुनाव लड़ रहे चंद्रशेखर का नाम शामिल है। 8 उम्मीदवार ऐसे हैं जिन्होंने अपने ऊपर महिला अत्याचार का मामला दर्ज है। इसमें दो पर 376 का मामला दर्ज है। आठ ऐसे उम्मीदवार भी हैं जिन्होंने बताया है कि उनपर हत्या का मामला भी दर्ज है।
670 में से 253 करोड़पति उम्मीदवार
670 उम्मीदवारों में से 253 उम्मीदवार ऐसे हैं जिन्होंने अपनी संपत्ति एक करोड़ रुपये से अधिक घोषित की है। समाजवादी पार्टी के 48 में से 45, बीजेपी के 52 में से 42, बसपा के 57 में से 44, कांग्रेस के 56 में से 26 उम्मीदवार करोड़पति हैं। इसमें शीर्ष  3 उम्मीदवारों में से पहले नंबर पर गोरखपुर की चिल्लूपार विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे विनय शंकर  है जिनकी संपत्ति 67 करोड़ से अधिक है। दूसरे स्थान पर अम्बेडकर नगर  के जलालपुर  विधानसभा सीट से समजवादी  पार्टी के राकेश पांडेय है जिनकी संपत्ति 63 करोड़ है। तीसरे स्थान पर बहुजन समाज  पार्टी के बलिया के रसड़ा  विधानसभा सीट  से उमा शंकर सिंह है जिन्होने अपनी संपत्ति 54 करोड़ बताई है। बाकी के पांच चरणों में करोड़पति उम्मीदवारों की संख्या 40 प्रतिशत से अधिक ही रही है।
आधे से अधिक उम्मीदवारों की शिक्षा स्नातक या उससे बेहतर
छठें चरण में आधे से अधिक उम्मीदवारों की शैक्षिक योग्यता स्नातक या उससे बेहतर है। 382 उम्मीदवारों ने बताया है कि वह स्नातक या उससे अधिक शिक्षा हासिल कर चुके हैं। 6 प्रत्याशी डिप्लोमा धारी हैं। 234 उम्मीदवार ऐसे हैं जिनकी शैक्षिक स्थिति 5वीं से 12वीं के बीच है। 44 उम्मीदवारों ने खुद को साक्षर बताया है।
छठें चरण में एक तिहाई प्रत्याशी युवा है। 226 उम्मीदवारों की उम्र 25 साल से 40 साल के बीच की है। 346 उम्मीदवारों की उम्र 41 से 60 साल और 98 उम्मीदवारों की उम्र 61 से 80 साल के बीच है। इस चरण में महिला उम्मीदवारों की संख्या 65 है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन