युक्रेन में फंसी जौनपुर की यह छात्रा,पिता ने भारत सरकार से वापसी के लिए लगाई गुहार



जौनपुर। रूस और युक्रेन के बीच चल रहे तनाव और युद्ध की स्थिति होने के कारण जौनपुर की एक बेटी भी यूक्रेन में फंस गयी है। आज रूस द्वारा यूक्रेन पर हमला करने की खबर मिलते ही। इस बेटी के परिवार वालों में हड़कंप मच गया है  लोग उसकी सलामति के लिए दुआ कर रहे है। खबर है कि थाना खेतासराय क्षेत्र स्थित शाहापुर गांव निवासी डॉक्टर गजेंद्र पांडेय की पुत्री गरिमा पांडेय यूक्रेन के डेनिप्रो यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस चतुर्थ वर्ष की पढ़ाई कर रही है। यूक्रेन पर हमले की खबर से माता-पिता समेत अन्य परिजन चिंतायें बढ़ गई हैं। 
पिता गजेंद्र पांडेय ने भारत सरकार से अपनी बेटी सहित अन्य भारतीय को भी सुरक्षित भारत लाने की मांग करते हुए पत्र भेजा है। गजेंद्र पांडेय के मुताबिक, यूक्रेन में हालात बिगड़ने से पहले ही वो बेटी को वापस लाने की जुगत में जुट गए थे। गरिमा की सकुशल फ्लाइट से वापसी के लिए उन्होंने 35000 रुपया भी यूक्रेन भेज दिया था। गरिमा को तीन मार्च को यूक्रेन के ओडेसा से वाया दोहा कतर होते हुए दिल्ली वापसी की फ्लाइट का टिकट भी मिल गया था। लेकिन आज जब पता चला की रूस ने यूक्रेन पर हमला कर दिया है। इस कारण ज्यादातर एयरपोर्ट बंद कर दिए गए हैं। कुछ छात्रों को एयरपोर्ट से भी लौटा दिया गया है। गरिमा ने अपने पिता को बताया कि हमें अपने कमरे में ही रहने और दूतावास से संपर्क में रहने को कहा गया है। एटीएम और खाने पीने की सामग्री की दुकानों पर मारामारी की स्थिति है। डॉक्टर गजेंद्र पांडेय ने कहा कि भारतीय छात्रों के भविष्य को देखते हुए तत्काल भारत सरकार को सक्रिय होना चाहिए। उन्होंने सरकार से यूक्रेन संकट में फंसे छात्रों की मदद की गुहार लगाई। यूक्रेन के ताजा माहौल को देखते हुए वे भारतीय अभिभावक बेहद चिंतित हैं।


टिप्पणियाँ

  1. भगवान सभी को सुरक्षित घर पहुंचने में मददगार साबित होंगे मेरी यही प्रार्थना है

    जवाब देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात

सीएम योगी के एक ट्वीट से लखनऊ का नाम बदलने की सुगबुगाहट, जानें क्या हो सकता है नया नाम