बैंकिंग समन्वय समिति की बैठक में विकास परक योजनाओ को लेकर डीएम का हुआ यह निर्देश



जौनपुर। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने जिलास्तरीय परामर्शदात्री समिति सह जिला समन्वय समिति की समीक्षा बैठक करते हुए निर्देश दिया कि जनपद में मौजूद सभी बैंक विकास योजनाओं में सक्रिय सहभागिता निभाये।
अग्रणी जिला प्रबंधक उमा शंकर द्वारा बैंक के मार्च तिमाही यानी 31 मार्च 2022 तक की उपलब्धि पर विस्तृत चर्चा की गई।
इस दौरान सभी बैंक के द्वारा मार्च महीने तक प्राप्त की गई उपलब्धियों को बताया। समीक्षा के क्रम में यह तथ्य सामने आया कि मार्च तिमाही  में जिले की साख - जमा अनुपात निर्धारित मानक से कम पाई गई,इस पर जिलाधिकारी ने सभी बैंकों के जिला समन्वयकों को जिले में साख-जमा अनुपात को बढ़ाने के लिए निर्देशित किया है और बेहतर उपलब्धि प्राप्त करने के निर्देश दिए ।
जिले की उपलब्धि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना में गत वर्ष से अच्छी रही है। साथ में पिछले वर्ष के तुलना में जिले की वार्षिक साख योजना में उपलब्धि भी अच्छी रही है पर जिन बैंकों द्वारा साख-जमा अनुपात  40% से कम हासिल हुई है, उनके ऊपर जिला अधिकारी महोदय ने काफी नाराजगी व्यक्त की, साथ ही  जिन बैंकों द्वारा वार्षिक साख योजना की उपलब्धि 25% से कम थी,  जिलाधिकारी द्वारा उन्हें निर्देशित किया गया कि  जिले में अपने प्रदर्शन में और सुधार करते हुए वार्षिक साख योजना, साख जमा अनुपात, सरकार प्रायोजित योजनाएं जैसे कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, ,स्टैंड अप इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, मुद्रा योजना के साथ  प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी योजनाओं जैसे सामाजिक सुरक्षा योजनाएं जिसके तहत पीएमएसबीवाई, पीएमजेजेबीवाई, जन धन योजना एवं अटल पेंशन योजना में जिले की उपलब्धि अच्छी हो। इसके लिए जिलाधिकारी ने प्रथम तिमाही से ही लक्ष्य के अनुरूप काम करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि सभी बैंकर अच्छे तरीके से काम करें, जिससे जिले की उपलब्धि बढ़ सके।


जिलाधिकारी द्वारा यूनियन ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (RSETI) द्वारा किए गए ट्रेनिंग प्रोग्राम की भी समीक्षा की गई। RSETI द्वारा लक्ष्य को हासिल कर लिया गया है।
जिले में बेहतर तरीके से काम को करने के लिए सभी बैंक शाखाओं को केसीसी वितरण को और बढ़ाने के साथ साथ प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना एवं  पशुपालन तथा मत्स्य संबंधी केसीसी लोन करने को भी अधिक से अधिक स्वीकृति एवं वितरीत करने हेतु निर्देशित किया गया। साथ ही सभी जिला समन्वयकों को अपने शाखा की उपलब्धि को तिमाहीवार प्रगति रिपोर्ट के साथ समीक्षा करने और समय पर अग्रणी जिला प्रबंधक कार्यालय को डाटा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।
जिलाधिकारी  ने बैंकरों को साख-जमा अनुपात एव वार्षिक ऋण योजना में और तेजी लाने का भी निर्देश दिया ,साथ ही सभी बैंकों को वित्तीय वर्ष 2022-23 के वार्षिक ऋण योजना में लक्ष्य के अनुरुप प्रगति करने एवं ऋण जमा अनुपात को 40% तक लाने की कार्यनीति बनाने का निर्देश दिया।
जिलाधिकारी ने मत्स्य विभाग, उद्योग विभाग एवं पशुपालन विभाग को उचित कार्रवाई करने का दिशा निर्देश दिया एवं लंबित ऋण संबंधी आवेदनों को जल्द से जल्द निपटारा करने का भी आदेश दिया। साथ ही अस्वीकृत मामलों में कारण सहित प्रतिवेदन जिलाधिकारी महोदय को देने का निर्देश दिया गया।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी भूoएवं राजस्व रजनीश राय अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व रामप्रकाश अग्रणी जिला प्रबंधक श्री उमा शंकर के अलावा , एलडीओ आरबीआई श्री प्रशांत कुमार, वित्तीय साक्षरता परामर्शदाता श्री कमलेश यादव,RSETI प्रतिनिधि अभिषेक कुमार, सभी बैंकों के जिला समन्वयक सहित सभी संबंधित जिला स्तरीय पदाधिकारी यथा जिला पशुपालन पदाधिकारी, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला मत्स्य पालन पदाधिकारी, प्रबंधक जिला उद्योग केंद्र सहित अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जफराबाद विधायक को हार्ट अटैक फस्टेड के बाद, मेदान्ता के लिए रेफर

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर

योगी सरकार ने यूपी में आज फिर 12 आईएएस का तबादला, देखे सूची