यूपी सरकार का आदेश इन पांच देशो से आने वालों की एयरपोर्ट पर ही करें गहन जांच


पांच देशों में तेजी से बढ़ रही कोरोना मरीजों की संख्या को देखते हुए उत्तर प्रदेश में भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने चीन, जापान, अमेरिका, कोरिया व ब्राजील से आने वाले लोगों की एयरपोर्ट पर कोरोना जांच कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों की 14 दिनों तक स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा निगरानी की जाए। ऐसे लोगों को होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी जाए।

कोरोना पाजिटिव लोगों के सैंपल को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए प्रयोगशाला भेजा जाए ताकि कोरोना के नए वैरिएंट का पता लगाया जा सके।

केंद्र की गाइडलाइन जारी होते ही उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने सभी जिलों के मुख्य चिकित्साधिकारियों (सीएमओ) व चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधिकारियों को कोरोना से बचाव के हर संभव उपाय किए जाने के निर्देश दिए।

एयरपोर्ट के साथ-साथ रेलवे स्टेशन व बस स्टेशन पर भी कोरोना जांच के इंतजाम किए जाएं।

उन्होंने कहा कि अस्पतालों में कोरोना की आरटीपीसीआर जांच की व्यवस्था के साथ-साथ आक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था की जाए, सीटी स्कैन, एक्स-रे व पैथोलाजी जांच से ज़ुड़ी सभी व्यवस्था समय रहते पूरी कर ली जाएं।


अस्पतालों में डाक्टरों व कर्मियों के लिए पीपीई किट, ग्लव्स और मास्क इत्यादि की व्यवस्था कर ली जाए।


कोरोना पाजिटिव लोगों के सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग कराने के लिए इंडियन सार्स कोविड-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (इंसाकाग) की 17 लैब देश में हैं। यूपी ने पिछली बार नई दिल्ली स्थित इंस्टीट्यूट आफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलाज (आइजीआइबी), नई दिल्ली सैंपल भेजे थे। इस बार इसके सहित अन्य लैब भी सैंपल भेजे जाएंगे। मालूम हो कि चीन सहित पांच देशों में तेजी से कोरोना के रोगी बढ़ रहे हैं। चीन में कोरोना के ओमिक्रोन का सब वैरिएंट बीएफ.7 पाया गया है और यह काफी तेजी से लोगों को संक्रमित कर रहा है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर और मछलीशहर (सु) लोकसभा में जानें विधान सभा वारा मतदान का क्या रहा आंकड़ा,देखे चार्ट

मतगणना स्थल पर ईवीएम मशीन को लेकर हंगामा करने वाले दो सपाई सहित 50 के खिलाफ एफआईआर

आयोग और जिला प्रशासन के मत प्रतिशत आंकड़े में फिर मिला अन्तर