आखिर सर्दी के सितम से कब मिलेगी राहत, जानें आज का क्या रहा तापमान


जौनपुर। सर्दी का सितम कम नहीं हो रहा है। तापमान गिरने व शीतलहर के कारण आज भी लोग पूरे दिन ठंड से ठिठुरते रहे। सर्दी से बचने के लिए किसी ने अलाव का सहारा लेने को मजबूर नजर आये। मंगलवार की सुबह शहरी क्षेत्र में कोहरे की चादर भले नहीं दिखी लेकिन गांव तो कोहरे की चादर से ढका पड़ा था। दिन की शुरूआत शीतलहर से हुई। सुबह घना कोहरा, दिन में हल्की धूप और शाम के समय गलन के कारण लोग कांपते नजर आए। दिन भगवान भाष्कर दिखे जरूर के लेकिन बेअसर रहा उनका ताप। 
कड़ाके की ठंड के कारण सुबह से शाम तक लोग परेशान रहे। ग्रामीण क्षेत्रो में सुबह करीब आठ बजे स्थिति यह थी कि 100 मीटर दूर तक की भी चीजें नहीं दिखाई दे रहीं थी। उसके बाद कोहरा भले कम हो गया, लेकिन धुंध बनी रही। हवा के कारण गलन भी काफी ज्यादा थी। न्यूनतम तापमान 06 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 15 डिग्री सेल्सियस होने के कारण न्यूनतम और अधिकतम में ज्यादा अंतर नहीं दिखा। कड़ाके की सर्दी के कारण सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। 
सुबह और शाम को टहलने वालों की संख्या में काफी कमी दिखी। पार्क एवं बगीचे इन दिनों सूने नजर आ रहे हैं। हल्की ओस की बूंदों ने जनजीवन को प्रभावित किया। दोपहर बाद बढ़ी ठंड का कहर शाम को पूरे चरम पर था। ठंड से बचाव के लिए राहगीरों को अलाव ही एकमात्र सहारा नजर आ रहे थे। बाजारों में प्रमुख सड़कों के किनारे कई स्थानों पर लोग अलाव से हाथ सेंककर ठंड से बचाव करते नजर आए। ठिठुरन वाली ठंड का सबसे अधिक प्रभाव बच्चों व बुजुर्गों पर पड़ रहा है।
मौसम खराब होने से आमजन को ठंड परेशान तो कर ही रही है, सबसे ज्यादा दिक्कत किसानों को है। सरसों में इन दिनों फूल आए हैं। ऐसे में यदि कोहरा ज्यादा दिन रहा तो उसमें माहू लगने की आशंका अधिक है। 

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर की तीन थानाध्यक्षो सहित 62 दरोगा का स्थानांतरण हुआ गैर जनपद

एसपी जौनपुर ने फिर आधा दर्जन से अधिक थाना प्रभारियों का किया तबादला

सड़क दुर्घटना में सिपाही की मौत विभाग में शोक की लहर