नगर विकास मंत्री ने रैन बसेरों और अलाव व्यवस्था का किया औचक निरीक्षण

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के नगर विकास और ऊर्जा मंत्री श्री एके शर्मा जी ने सोमवार शाम 9:00 बजे राजधानी के कई इलाकों में स्थायी और अस्थायी रैन बसेरों और अलाव व्यवस्था का औचक निरीक्षण किया। नगर विकास मंत्री अपने आवास से 1090 चौराहा, अम्बेडकर पार्क चौराहा, लोहिया चौराहा, मिठाई वाला चौराहा, मनोज पांडेय चौराहा, पत्रकार पुरम चौराहा, होसड़िया चौराहा से होते हुए हैनिमैन चौराहा, ओल्ड अमेटी चौराहा, कठौता चौराहा से चिनहट तिराहा पहुंचे। उसके पश्चात मटियारी चौराहा से वापसी करते हुए कमता तिराहा पहुंचे। जहां से उन्होने पॉलिटेक्निक चौराहे पर अलाव व्यवस्था का जायजा लिया।
इसके पश्चात भूतनाथ,  लेखराज मार्केट, बादशाह नगर से होते हुए निशातगंज चौराहे पहुंचे। इस दौरान उन्होंने चौराहे के पास बने नगर निगम के स्थायी शेल्टर होम का औचक निरीक्षण किया। इस शेल्टर होम में उद्देश्य फाउंडेशन और नगर निगम द्वारा दी गयी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान शेल्टर होम में 47 लोग उपस्थित मिले।श्री शर्मा ने उपस्थित लोगों से बात की और व्यस्थाओं की जानकारी ली। साथ ही यह भी जानकारी ली कि उन्हें शेल्टर होम की जानकारी कहां से मिली। श्री शर्मा ने शौचालय और रसोई घर का भी निरीक्षण किया और साफ-सफाई देख मौजूद कर्मचारियों की प्रशंसा कर इस व्यवस्था को बनाये रखने के निर्देश भी  दिये। इसके पश्चात श्री शर्मा सिकंदरबाग, सप्रू मार्ग, श्री राम टावर से हज़रतगंज चौराहे होते हुए सिविल हॉस्पिटल पहुंचे। जहां उन्होंने यह सुनिश्चित किया कि कोई भी व्यक्ति खुले में सोए। 
इस दौरान नगर विकास मंत्री श्री ए के शर्मा ने प्रदेश के अन्य नगर निगम और निकायों में फोन से वार्ता कर निराश्रितों के लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। साथ ही व्यवस्था में किसी भी हीला-हवाली न होने के भी निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों से रैन बसेरों में आश्रय लिए लोगों की उपलब्ध व्यवस्थाओं की जानकारी ली और बेहतर व्यवस्था बनाये रखने के निर्देश भी दिये।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?