अशोका इंस्टीट्यूट के संस्थापक, वाइस चेयमैन ने राज्यपाल से की मुलाकात


राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को अशोका इंस्टीट्यूट में आने के लिए दिया न्योता, भेंट किया स्मृति चिह्न

वाराणसी। इंजीनियरिंग एवं प्रबंधन की शिक्षा देने में अग्रणी अशोका इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट (Ashoka Institute Of Technology And Management), पहड़िया के संस्थापक अशोक मौर्य एवं वाइस चेयरमैन अमित मौर्य ने विगत दिवस राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से उनके लखनऊ स्थित आवास पर शिष्टाचार मुलाकात की। इस दौरान विभिन्न मुद्दों पर उनसे चर्चा हुई। अशोका इंस्टीट्यूट की ओर से राज्यपाल को स्मृति चिह्न भेंट किया गया।
वाइस चेयरमैन अमित मौर्य ने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को अशोका इंस्टीट्यूट के बारे में विस्तार से जानकारी दी और उन्हें संस्थान में आने का न्योता भी दिया। श्री मौर्य ने राज्यपाल को बताया कि अशोका इंस्टीट्यूट पूर्वांचल की अग्रणी शिक्षण संस्था है। यहां इंजीनियरिंग, फार्मेसी और प्रबंधन में दो हजार से अधिक स्टूडेंट्स शिक्षा ग्रहण करते हैं। पढ़ाई के दौरान ही ज्यादातर स्टूडेंट्स को नौकरियां मिल जाती हैं। इंस्टीट्यूट के तमाम स्टूडेंट्स देश-विदेश में कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्यरत हैं।  
राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने अशोका इंस्टीट्यूट की उपलब्धियों को सराहा और कहा कि बनारस दौरे के समय वह इस तकनीकी शिक्षण संस्थान को देखने जरूर आएंगी। उन्होंने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति केंद्र सरकार की एक सराहनीय पहल है। स्कूली शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक कई बड़े बदलाव किए गए हैं, जिससे इस क्षेत्र में क्रांतिकारी उद्देश्यपूर्ण बदलाव आएगा। कक्षा एक से लेकर कक्षा पांच तक अनिवार्य रूप से मातृभाषा और स्थानीय भाषा में शिक्षा ग्रहण करने से बच्चों का तेजी से बौद्धिक विकास होगा। नई शिक्षा नीति में अब छात्रों को पहले से तय विषय चुनने की बाध्यता खत्म कर दी गई है। छात्र अब अपनी मर्जी से कोई भी विषय चुन सकते हैं। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का लक्ष्य साल 2030 तक सौ फीसदी युवाओं को शिक्षित करना और उच्चतर शिक्षा में वर्ष 2035 तक सकल नामांकन अनुपात बढ़ाकर कम से कम पचास फीसदी तक पहुंचाना है।
करीब आधे घंटे तक हुई मुलाकात के दौरान अशोका इंस्टीट्यूट के संस्थापक अशोक मौर्य एवं वाइस चेयरमैन अमित मौर्य ने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल की कार्यप्रणाली और शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे अभिनव प्रयोग के लिए सराहना की। श्री मौर्य ने कि श्रीमती आनंदी बेन पटेल गुजरात की राजनीति में "लौह महिला" के रूप में जानी जाती हैं। यूपी के विकास को रफ्तार देने में वह अग्रणीय भूमिका निभा रही हैं।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?