यूपी चुनाव: तीसरे चरण के मतदान में जानें कितने प्रतिशत पड़ा वोट, इनके भाग्य इबीएम में बन्द


तीसरे चरण का मतदान रविवार को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गया। इस चरण में 16 जिलों की 59 विधानसभा सीटों पर वोट डाले गए। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव, प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव, प्रदेश सरकार में मंत्री सतीश महाना, पुलिस सर्विस छोड़ कर राजनीति में आए असीम अरुण समेत 627 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में कैद हो गई।  
मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि इस चरण में हाथरस, फिरोजाबाद, एटा, कासगंज, मैनपुरी, फर्रूखाबाद, कन्नौज, इटावा, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर नगर, जालौन, झॉंसी, ललितपुर, हमीरपुर और महोबा में पांच बजे तक 57.58 प्रतिशत मतदान हुआ है। इसमे सबसे अधिक 67 प्रतिशत ललितपुर में और सबसे कम 51 प्रतिशत कानपुर में नगर में मतदान हुआ। मतदान 6 बजे तक हुआ है। ऐसे में मतदान का प्रतिशत बढ़ना स्वाभाविक है। उन्होंने बताया कि तीसरे चरण के मतदान के दौरान 93 ईवीएम और 351 वीवी पैट में गड़बड़ी आई, जिसे बदल दिया गया। चुनाव के दौरान आयोग को कुल 399 शिकायतें मिलीं। इसमें से 97 शिकायतें सही पाई गईं। इस दौरान फ्लाइंग स्क्वायड व स्टैटिक सर्विलांस टीम को कुल 271 मामले आचार संहिता उल्लंघन केमिले, जिसमें आयोग द्वारा कार्रवाई की गई।   
शुक्ला ने बताया कि तीसरे चरण में कुल 13903 बूथों पर वेबकास्टिंग की गई। इसके अलावा 1342 बूथों पर अलग से वीडियो ग्राफी की भी व्यवस्था की गई थी, जिसकी निगरानी जिला निर्वाचन कार्यालय, मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय और भारत निर्वाचन आयोग से की जा रही थी। तीसरे चरण में 52043 मतदाताओं ने पोस्टल बैलेट का इस्तेमाल किया। इसमें 80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाता, दिव्यांग मतदाता,अनिवार्य सेवा वाले मतदाता और मतदान कर्मी शामिल हैं। इसके अलावा 53951 सर्विस वोटरों ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग पोस्टल बैलेट के जरिए किया। पिछले विधानसभा चुनाव में इन सीटों पर 62.21 प्रतिशत मतदान हुआ था।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन