जागरूकता और जीवन शैली में बदलाव ला कर महामारी से बचने का जाने क्या उपाय बता रही है डाॅ अनीता सिंह



जौनपुर। कोरोना संक्रमण और बचाव को लेकर आम जनमानस तक जो डर व्याप्त है उसको दूर करने के लिए हम लगातार चिकित्सकों और विशेषज्ञों के माध्यम से उनके अनुभव और जानकारी प्रस्तुत कर रहे हैं ,आज इसी कड़ी में डॉ अनीता सिंह शिक्षक एसोसिएट प्रोफेसर, संकाय अध्यक्ष,अग्रसेन कन्या पी.जी.कॉलेज, वाराणसी ने अवगत कराया कि कोविड- 19 से बचाव के लिए एक स्वस्थ्य जीवन शैली को अपनाना बेहद जरुरी है, क्योकि यह महामारी थोड़ी लापरवाही से किसी को भी अपने चपेट में ले सकती हैं।

हम कोरोना से बचाव के लिए बातें तो तमाम करते है, पर क्या हम सब बातों को अपने रोजमर्रा के जीवन में अपनाते है ? इस पर विचार करने की जरुरत है। तमाम कोशिशों, प्रयासों के उपरांत भी कोविड-19 का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। मात्र थोड़ी जागरूकता और अपने जीवन शैली में बदलाव लाकर हम इस कालरूपी महामारी के संक्रमण से स्वयं तथा अपने परिवारों को स्वस्थ्य रख सकते है और संक्रमण से बचा सकते हैं। नमस्ते करिये कोरोना से बचिए। आर्थात आने वाले एक लम्बे समय तक यह संक्रमण, यह बीमारी साथ छोड़ने वाली नहीं, अतः हमे जीवन शैली में हाथ मिलाने, गले मिलने आदि की परम्परा को बदलना चाहिये एवं जँहा तक हाथ जोड़ कर अभिवादन करे। और हाथ जोड़ कर अभिवादन हमारी संस्कृति की भी पहचान है, जिसे आज पूरा विश्व अपना रहा हैं।


– अपने खान-पान में थोड़ा बदलाव लाकर हम एक बेहतर जीवन शैली एक बेहतर स्वस्थ्य को प्राप्त कर सकते है। जैसा कि आयुष मंत्रालय द्वारा भी सुझाया गया है कि विकट रूप से बचा जा सकता हैं।


जैसे – तुलसी, मुलेठी, हल्दी, इत्यादि डालकर काढ़ा पिने की आदत डालें। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए विटामिन ‘सी’ युक्त पदार्थ जैसे – नींबू , मौसमी, संतरा,अमरुद, आँवला आदि का सेवन करे।


– रिफाइंड, सरसो के तेल की जगह ‘नारियल के तेल’ का उपयोग करे।


– भोज्य पदार्थ को अच्छी तरह पकाएँ जैसे – माँस, अंडे, मछली आदि।


– पके खाने को अच्छी तरह से गर्म करके ही खायें इससे सभी सूक्ष्म जिव नष्ट हो जाते है।


– फ्रीज में भोजन ज्यादा समय तक स्टोर न करे।


– अधिकांशतः लोग घर में रह रहे है, शारीरिक श्रम कम हो रहा है, अतः उसको ध्यान में रखकर बहुत ज्यादा कैलोरी व वसा युक्त आहार का सेवन करते है।


– दालचीनी के पाउडर का सेवन सुबह-शाम आधा चम्मच करने से रोग- प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।


– साफ- सफाई का रखे विशेष ध्यान –


1. कच्ची चीजों,फलो और सब्जियों को सेनेटाइज करने के लिए नमक के पानी में भिगो कर न रखे क्योकि इससे शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ जाती है।


2. बाहर की चीजों का सेवन जैसे – मिठाई, खुलीचीज़े इत्यादि का सेवन इस महामारी के का में कदापि न करे।


3. अनावश्यक घर से बाहर न निकले, बाहर की किसी भी चीज को हाथ न लगाये। अपने शरीर और चेहरे को ढक कर रखे, हाथो को साफ करते रहे। आँख, नाक, चेहरे इत्यादि को बार-बार न छुएँ।


4. अगर घर से बाहर है, जहाँ हाथ धूल पाना थोड़ा मुश्किल है वहाँ सेनेटाइज से हाथो को साफ़ करे। घर पर होने की स्थिति में हाथो को साबुन या हैंडवाश से साफ करे।


5. सार्वजनिक स्थानों पर थूके नहीं।


6. एक ही टिशू पेपर का उपयोग बार-बार न करे।


7. योग व् प्रणायाम को अपने दिनचर्या में शामिल करे।


कोरोना का यह दौर जनमानस के मन में एक भय की स्थिति उत्पन कर रहा है। लोगो के मन में तनाव की स्थिति बानी रहती है। अतः शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ्य रहने के लिए

योग व प्रणायाम को अपने दिनचर्या का हिस्सा बनाने से जहाँ एक ओर हम शारीरिक व मानसिक रूप से मजबूत हो सकते है वही दूसरी ओर हमारी रोग- प्रतिरोधक क्षमता में भी बढ़ोत्तरी हो सकती हैं। योग करने से अवसाद नहीं पनपते पाता और नकारत्मक विचार मन में नहीं आते। गले व फेफड़े को मजबूत करने वाले प्राणायाम करके हम इन अंगो को मजबूती प्रदान करा सकते है और किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य समस्या से हम बच सकते है।


Comments

Popular posts from this blog

सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष ने खुद को गोली मार कर की आत्महत्या, घर में मच गया कोहराम कार्यकर्ता हैरान

जानिए जौनपुर की दोनो लोकसभा क्षेत्र से भाजपा का सूपड़ा साफ होने के लिए जिम्मेदार कौन थे

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम