अपने दिनचर्या में योग को शामिल कर खुद को बनायें स्वास्थ्य- श्याम सिंह यादव सासंद जौनपुर




बचपन से ही बच्चों को करायें योगाभ्यास - अचल हरीमूर्ति

जौनपुर । योग गुरु बाबा रामदेव की प्रेरणा से पतंजलि योग समिति के तत्वावधान में नगर में स्थित मंगलम् मैरेज हॉल में चल रहे योग शिक्षक प्रशिक्षण शिविर में बतौर मुख्य अतिथि सांसद श्यामसिंह यादव के द्वारा प्रशिक्षुओं को संबोधित करते हुए कहा कि स्वास्थ्य हर व्यक्ति का मौलिक अधिकार होना चाहिए जिसे हर व्यक्ति नियमित और निरन्तर किसी खेल को खेलकर या लम्बी दूरी तय मध्यम गति के साथ चलकर अथवा योग के सैद्धांतिक और योग के क्रियात्मक अभ्यासों को अपनी दैनिक दिनचर्या में जीवनशैली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनाकर आसानी से स्वास्थ्य को हासिल किया जा सकता है। उन्होंने बताया की आलस्य समाज में एक फैशन बनता जा रहा है जो कहीं ना कहीं हर व्यक्ति के स्वास्थ्य को खोखला कर दे रहा है इसलिए हर व्यक्ति को कम से कम एक घंटा शारीरिक श्रम भी अवश्य करना चाहिए।


पतंजलि योग समिति के प्रान्तीय सह प्रभारी अचल हरीमूर्ति के द्वारा इन्टिग्रेटेड योगाभ्यास के माध्यम से रोगानुसार और अवस्थानुसार योगिंग जागिंग, सूर्य-नमस्कार सहित मंडूकासन, मकरासन, भुजंगासन, शलभासन, धनुरासन, मर्कटासन, गोमुख आसन सहित सभी अवस्थाओं में एक सौ से अधिक आसनों का अभ्यास कराते हुए उनसे होनें वाले लाभों को बताया जा रहा है।इसी तरह से श्री हरीमूर्ति के द्वारा बताया जा रहा की बचपन से हर व्यक्ति अपनें बच्चों को योगाभ्यास करनें की आदत बनाएं जो की बच्चों के मनोदैहिक सन्तुलन के लिए अति आवश्यक होता है। इन्टिग्रेटेड योगाभ्यास के तहत जब मण्डूक,गोमुख, मर्कटासन और भुजंगासनों में लम्बे समय तक कपालभाति प्राणायाम का अभ्यास अधिक समय तक कराया जाता है तो डायबिटीज, मोटापा, कोलेस्ट्रॉल और पाचन-तंत्र जैसी समस्याओं का पूर्णतः समाधान होता है।इस मौके पर शिविर के अध्यक्ष अधिवक्ता हरीनाथ यादव, राजीव सिन्हा, शशिभूषण, शम्भुनाथ, जयनाथ, कुलदीप, विकास, जसवंत, सुरेश, कृष्ण मुरारी, हंसराज, संजय सिंह,विनय,पीबी सिंह, सहित अन्य साधक उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन