बीएड प्रवेश परीक्षा का परिणाम घोषित, लडकियों में भावना, लड़को में आशू राणा टाप, देखे टाप टेन की सूची


उत्तर प्रदेश संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा 2021 का परिणाम घोषित कर दिया गया। रिजल्ट लखनऊ विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर चेक किया गया। लड़कियों में झाँसी का भावना मिश्रा और लड़कों में लखनऊ के आशू राणा ने टॉप किया। भावना ओवरऑल रैंक में 17 रही। भावना मिश्रा के पिता पेशे से पत्रकार हैं, वे एक निजी समाचारपत्र में कार्यरत हैं। परीक्षा का आयोजन लखनऊ विश्वविद्यालय की ओर से 6 अगस्त को किया गया था। 
शेडेयूल के मुताबिक रिजल्ट के बाद ऑनलाइन काउंसलिंग शुरु हो जाएगी। ऑनलाइन काउंसिलिंग शुरु करने की तिथि पहली सितंबर और शैक्षणिक सत्र के आरंभ की तिथि छह सितंबर 2021 होगी। इस साल संयुक्त प्रवेश परीक्षा बीए-2021 में 90 फीसद अभ्यर्थी शामिल हुए थे। लखनऊ विश्वविद्यालय में प्रदेश के 75 जिलों के 1476 परीक्षा केंद्र में दो पालियों में हुई। प्रवेश परीक्षा में 5 लाख 20 हजार 76 अभ्यर्थी शामिल हुए और 59 हजार 229 अभ्यर्थियों ने परीक्षा छोड़ दी थी। इससे पहले परीक्षा की तारीख में तीन बार परिवर्तन किया गया था। 6 अगस्त से पहले परीक्षा की तिथि पहले 18 जुलाई और फिर 30 जुलाई तय की गई थी। कोरोना संक्रमण के कारण पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 19 मई को परीक्षा का आयोजन नहीं किया जा सकता था। 
 ये लड़कियां टॉप 5 में शामिल छात्राओं में झाँसी की बेटी भावना मिश्रा ने पहला स्थान, उन्नाव की प्रज्ञा गुप्ता ने दूसरा स्थान, गाजियाबाद की कृतिका गुप्ता ने तीसरा, सहारनपुर की अनमोल चौधरी ने चौथा स्थान, बुलंदशहर की निधि बंसल ने पांचवा स्थान प्राप्त किया है। ये लड़के टॉप 10 में रहे शामिल छात्रों में लखनऊ के आशु राणा पहला स्थान, कुशीनगर के एजाज अहमद को दूसरा स्थान, अजय गौर को तीसरा स्थान, महोबा के सक्षम पटेरिया को चौथा स्थान, सीतापुर के अक्षय कुमार मिश्रा को पांचवा स्थान, बिजनौर के उमेश कुमार को छठा स्थान, हाथरस के युवराज सिंह को सांतवे स्थान, झाँसी के शिवम चतुर्वेदी आठवें स्थान, मिर्जापुर के दिवेश पटेल नौंवा स्थान और फरुखाबाद के राघवेन्द्र सिंह ने दसवां स्थान हासिल किया है। 
भावना मिश्रा, जूम एप व यूट्यूब देखकर की तैयारी, मिला टॉप स्थान बीएड प्रवेश परीक्षा में यूपी टॉप रही भावना मिश्रा ने कहा कि वह आगे चलकर प्रोफेसर बनना चाहती है। कोरोना संक्रमण ने पढ़ाई को बुरी तरह से प्रभावित किया है। संकट के इस काल में ऑनलाइन पढ़ाई ही एक मात्र सहारा था। यू ट्यूब देखकर पढ़ाई की ओर अपना मुकाम हासिल किया है। भावना ने टॉपर बनने का श्रेय शिक्षकों के साथ अपने माता-पिता को दिया है। साथ ही जिन के पास फोन सुविधा नहीं है तो वह घर आकर शिक्षा दूंगी। भावना मिश्रा ने दतिया गेट बाहर स्थित सरस्वती बालिका विद्या मंदिर में शिक्षा की शुरुआत की थी। इसके बाद बुन्देलखंड विश्वविद्यालय में शिक्षा प्रदान की है। वर्तमान में वह बुन्देलखंड विश्वविद्यालय में एमएससी रसायन में शिक्षा ग्रहण कर ली है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात

सीएम योगी के एक ट्वीट से लखनऊ का नाम बदलने की सुगबुगाहट, जानें क्या हो सकता है नया नाम