एक परिवार के पांच सदस्यों की हत्या से मचा हडकंप,पुलिस शवो का पोस्टमार्टम करा कर छानबीन में जुटी


जनपद प्रयागराज में बीती रात एक बड़ी घटना हो गई है। गंगापार के नवाबगंज थाना क्षेत्र स्थित खागलपुर गांव में शुक्रवार की रात में एक ही परिवार के पांच लोगों की चापड़ से वार कर हत्या कर दी गई। सुबह जानकारी होने पर हड़कंप मच गया। स्‍थानीय पुलिस से लेकर एसएसपी तक मौके पर पहुंचे। डाग स्‍क्‍वायड और फोरेंसिक टीम भी जांच पड़ताल कर रही है। एक ही परिवार के इतने लोगों की हत्‍या से गांव में दहशत का माहौल है। पुलिस की सात टीमें राजफाश के लिए लगी हैं।
जिस राहुल और उसके परिवार के चार लोगों की हत्‍या हुई है, उसके साले पिंटू, चंद्रशेखर व मैनेजर, आशु के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज हो गया है। बड़े भाई मुन्ना ने संपत्ति के विवाद में हत्या का आरोप लगाते हुए एफआइआर दर्ज कराई है। पुलिस की प्रारंभिक जांच, राहुल ने पत्‍नी व बच्‍चों को मारकर आत्‍महत्‍या की
आरंभिक जांच के आधार पर पुलिस ने दावा किया है कि राहुल ने पत्नी, बच्चों को मारकर आत्महत्या की है। उसका शव फंदे से लटका मिला था। ससुराल पक्ष पर उत्पीड़न का आरोप। पुलिस को दो पेज का सुसाइड नोट मिला है। बताते हैं कि सुसाइड नोट में साले व कुछ अन्य लोगों पर उत्पीड़न का आरोप है। हालांकि पुलिस सुसाइड नोट नहीं मान रही है। फिलहाल मामले की पड़ताल जारी है। हत्याकांड की जांच में एसटीएफ को भी लगाया गया है, पुलिस पहले ही जांच कर रही थी।
एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत के बाद फाफामऊ के विधायक गुरु प्रसाद मौर्य और विधायक गीता पासी भी पहुंचीं। उन्‍होंने गमगीन परिवार के लोगों को सांत्‍वना दी। साथ ही न्‍याय दिलाने का आश्‍वासन भी दिया। वहां
तहसीलदार ओम प्रकाश शुक्ला भी पहुंचे।
आइजी व एसएसपी ने भी पड़ताल की
घटनास्‍थल पर पहले प्रयागराज के एसएसपी और बाद में आइजी भी पहुंचे। परिवार के अन्‍य लोगों के साथ ही आसपास के लोगों से भी पूछताछ की। साथ ही मातहतों को मामले के जल्‍द राजफाश का निर्देश दिया है। उधर पुलिस टीम हमलावरों के बारे में क्‍लू तलाश रही है। सीढ़ी के रास्‍ते पर पैरों के ताजा निशान भी मिले हैं। पैरों के निशान छोटे बताए जा रहे हैं। फिलहाल पुलिस इन सब बिंदुओं पर बारीकी से पड़ताल कर रही है।
कौशांबी का रहने वाला परिवार नवाबगंज के खागलपुर में किराए पर रहता था। निवासी भादवा सिराथू थाना कोखराज निवासी 42 वर्षीय राहुल तिवारी दुधारू पशुओं का व्यापार करता था। वह सुरेश कुमार तिवारी के मकान में किराए पर कमरा लेकर रहता था। राहुल तिवारी 38 वर्षीय पत्‍नी प्रीति और तीन बेटियों के साथ रहता था। बेटियों की उम्र 12, सात और पांच वर्ष थी।
शुक्रवार की रात में राहुल परिवार के साथ खाना खाने के बाद सो रहा था। रात में घर के सभी पांचों लोगों की हत्या कर दी गई। सुबह पड़ोस में रहने वाली 11 वर्षीय बालिका ने सबसे पहले शवों को देखा। फिर ग्रामीणों को वारदात की जानकारी हुई तो पुलिस को सूचना दी। हत्या की सूचना पर नवाबगंज थाना पुलिस मौके पर पहुंची। कुछ ही देर बाद फारेंसिक एक्सपर्ट और डाग स्क्वायड भी मौके पर पहुंचे। हत्‍या की वजह फिलहाल स्पष्ट नहीं है।
नवाबगंज में एक ही परिवार के पति-पत्‍नी और उनकी तीन बेटियों की हत्‍या को लेकर समाजवादी पार्टी ने कड़ी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की है। सपा की ओर से ट्वीट जारी कर लिखा गया कि दिन, तारीख तो बदलते, नहीं बदलता यूपी में जंगलराज। ट्वीट में लिखा गया कि प्रयागराज में राहुल तिवारी समेत उनके परिवार के पांच लोगों की धारदार हथियार से काटकर नृशंस हत्‍या विचलित करने वाली घटना है। समूचा यूपी अपराधियों से कांप रहा। सीएम बताएं उनका बुलडोजर आखिर कहां चल रहा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर का बेटा बना यूनिवर्सिटी आफ टोक्यो जापान में प्रोफ़ेसर, लगा बधाईयों का तांता

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

यूपी में फिर 11 आईएएस अधिकारियों का तबादला, देखे सूची