सवाल: मल्हनी विधान सभा में क्षत्रीय किसके साथ ? राजनाथ सिंह अथवा धनंजय सिंह


जौनपुर। भारत सरकार के रक्षा मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता तथा पूर्वांचल के क्षत्रीय कुल भूषण राजनाथ सिंह आज जौनपुर के मल्हनी विधान सभा में भाजपा प्रत्याशी कृष्ण प्रताप सिंह उर्फ के पी सिंह पुत्र स्व उमानाथ सिंह को जिताने के लिए वोट मांगने आये थे। पार्टी नेतृत्व का मानना है कि राजनाथ सिंह की जन सभा होने के बाद मल्हनी विधान सभा क्षेत्र के क्षत्रीय मतदाताओ का रूख भाजपा की तरफ हो जायेगा और भाजपा का कमल मल्हनी में खिल सकता है। अब यहां सवाल यह है कि क्या यहां पर राजनाथ सिंह के सभा का कोई असर होगा। जबकि यहां से उनका ही एक खास सिपह सालार धनंजय सिंह जद यू के टिकट पर चुनाव पूरी ताकत और मजबूती के साथ लड़ रहे है। एक सवाल और मल्हनी विधान सभा क्षेत्र के क्षत्रीय मतदाताओ की नजर में बड़ा नेता कौन राजनाथ सिंह अथवा धनंजय सिंह ?
यहां बता दे कि जौनपुर की मल्हनी विधान सभा सीट पर धनंजय सिंह को चुनाव मैदान में होने से यहां पर क्षत्रीय वोटो के ध्रुवीकरण का खेल गजब का देखने को मिला है। भाजपा की राजनीति करने वाले और सत्ता के सिंहासन पर योगी आदित्यनाथ को देखने वाले क्षत्रीय मतदाता जद यू प्रत्याशी धनंजय सिंह को जीतना देखना चाहते है और भाजपा के क्षत्रीय प्रत्याशी को वोट देने से परहेज करते दिख रहे है। जब कि भाजपा के क्षत्रीय प्रत्याशी के पिता स्व उमानाथ सिंह भाजपा के लिए शहीद हो गये है। आज क्षत्रीय समाज उनके साथ एक अथवा दो प्रतिशत भले हो लेकिन वोट देगा कि नहीं यह दावा करना कठिन है। 
ऐसे में देश के रक्षामंत्री की जन सभा का क्या अर्थ निकाला जाए। रक्षामंत्री ने भी अपने भाषण में देश दुनियां की बाते किये लेकिन वोट की अपील करने से परहेज कर लिया। हलांकि कि रक्षामंत्री ने पार्टी निर्देश का कोरम पूरा कर लिया लेकिन असर क्या होगा यह तो मतदान और गणना के बाद साफ होगा लेकिन मल्हनी विधान सभा के क्षत्रीय समाज के बीच एक अनुत्तरित सवाल जरूर है कि क्षत्रीय समाज का बड़ा नेता कौन राजनाथ सिंह अथवा बाहुबली नेता धनंजय सिंह होगे ? 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ