कमलेश हत्याकांड का खुलासा जानें क्यो हुई थी हत्या,हत्यारे गये जेल


जौनपुर । कमलेश यादव उर्फ बच्ची हत्याकांड में नामजद व प्रकाश में आए सात और आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से वारदात में प्रयुक्त चार बाइक व दो चाकू बरामद कर लेने का दावा किया है। एक आरोपित को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था।

एएसपी (ग्रामीण) शैलेंद्र कुमार सिंह ने पुलिस लाइन में मंगलवार की दोपहर प्रेसवार्ता में बताया कि प्रभारी निरीक्षक मड़ियाहूं कोतवाली किशोर कुमार चौबे के नेतृत्व में गठित टीम ने मुखबिर की सूचना पर मंगेश यादव निवासी ग्राम गनेशपुर थाना बरसठी व राहुल यादव निवासी महमूदपुर मड़ियाहूं को रामदयालगंज में सई नदी किनारे सती माता मंदिर के पास से बाइक के साथ पकड़ा। पूछताछ के बाद पांच और आरोपितों को दावत का तैयारी करते समय भभुवार में काली माता मंदिर के पास से पकड़ लिया। अनिकेत यादव निवासी नयापुर, नंदू पाल निवासी बरबसपुर, विशाल यादव निवासी ग्राम गनेशपुर थाना बरसठी, रोहित चौहान और आकाश चौहान निवासी जियनपुर, कादीपुर थाना मड़ियाहूं हैं। वहां से तीन बाइक व मंगेश की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त दो चाकू भी बरामद कर लिए गए।


रामपुर थाना क्षेत्र के गंधौना दादर गांव निवासी कमलेश उर्फ बच्ची की निशांत उर्फ शिवा के बीच गत 28 अप्रैल को मारपीट हो गई थी। इसी रंजिश को लेकर साजिश के तहत दो मई की रात मड़ियाहूं कोतवाली क्षेत्र के हरिहरपुर घमहापुर में बरात जाते समय कमलेश की नृशंस हत्या कर दी गई थी। वारदात के बाद नेपाल चले गए थे मंगेश व राहुल वारदात को अंजाम देने के बाद मंगेश व राहुल पशुपतिनाथ का दर्शन करने पड़ोसी देश नेपाल चले गए थे। सोमवार को वहां से लौटने पर अन्य आरोपितों के साथ दावत करने जाते समय पुलिस के हत्थे चढ़ गए। मंगेश यादव के विरुद्ध हत्या के प्रयास, मारपीट, एससी-एसटी एक्ट, आ‌र्म्स एक्ट व हत्या के पांच मुकदमे दर्ज हैं। रोहित चौहान व आकाश चौहान व विशाल यादव के विरुद्ध दो-दो मुकदमे दर्ज हैं। गिरफ्तारी व बरामदगी वाली टीम

एसआइ घनश्याम शुक्ल, कश्यप कुमार सिंह, संतराम यादव, हेड कांस्टेबल सुधीर दुबे, कृष्ण मुरारी यादव, दीपक यादव, देवेंद्र कुमार, राजन, भानू, जितेंद्र देव पांडेय, प्रवीण मिश्रा।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

सरकार ने प्रदेश के इन 12 आईपीएस अधिकारियों का किया तबादला