यूपी: विधान परिषद चुनाव कार्यक्रम को आयोग ने बदला, जानें क्या है नया कार्यक्रम



नामांकन 15 मार्च, 9 अप्रैल को मतदान और 12 अप्रैल को आएगा परिणाम

विधान सभा के लिए हो रहे चुनाव के चुनाव चलते राजनैतिक दलों द्वारा कड़े विरोध के बाद आज आयोग ने यूपी विधान परिषद चुनाव कार्यक्रम में बदलाव कर दिया है। अब इन चुनाव के लिए मतदान 9 अप्रैल को होगा जबकि परिणाम 12 अप्रैल को आएगा। चुनाव के लिए 15 मार्च को नामांकन किया जाएगा।
दरअसल, इन चुनाव के समय को लेकर सवाल उठाए जा रहे थे। पहले जारी की गई अधिसूचना के आधार पर विधान परिषद चुनाव के लिए 3 और 7 मार्च को मतदान होना था जबकि 12 मार्च को मतगणना तय की गई थी। लेकिन अब कार्यक्रम में बदलाव किया गया है जिसके बाद विधानसभा चुनाव के परिणाम 10 मार्च को आने के बाद विधान परिषद चुनाव होंगे।
शनिवार को यूपी विधान परिषद के स्थानीय निकाय प्राधिकारी क्षेत्रों के चुनाव में प्रेक्षक नियुक्त करने के लिए राज्य सरकार की ओर से भेजी गई आईएएस अधिकारियों की सूची को केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने नामंजूर कर दिया है। आयोग ने राज्य सरकार को 50 अफसरों की नई सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। बताया जा रहा है कि राज्य सरकार ने एक फरवरी को अफसरों का पैनल आयोग को भेजा था।
सूत्रों ने बताया कि  आयोग ने राज्य सरकार की सूची को अस्वीकार कर दिया है। आयोग के सचिव सौम्यजीत घोष ने इस संबंध में प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पत्र लिखकर 50 वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों की दूसरी सूची उपलब्ध कराने को कहा है।
कहा गया है कि सूची में वे अधिकारी शामिल नहीं किए जाएं जो विधानसभा चुनाव से जुड़े हैं। यदि वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों की संख्या कम है, तो जितने अधिकारी कम हैं, उतने वरिष्ठतम पीसीएस अधिकारियों के नाम शामिल किए जा सकते हैं। बशर्ते वे विधानसभा चुनाव की जिम्मेदारी से न जुड़े हों। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने यह पत्र शासन को भेज दिया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर में आज फिर तड़तड़ायी गोलियां एक की मौत दूसरा घायल पहुंचा अस्पताल,छानबीन मे जुटी पुलिस

बिजली कर्मियों हड़ताल को देख, वितरण व्यवस्था संचालन हेतु नोडल और सेक्टर अधिकारी नियुक्त

जानिए मुर्गा काटने के दुकान से कैसे मिला गुड्डू की लाश,पुलिस कर रही है जांच