सवाल: चुनाव के समय ओवैसी के काफिले पर आखिर गोली क्यों और किसने चलवायी ?


मेरठ के किठौर में एक चुनावी कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद दिल्ली लौट रहे एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के काफिले पर पिलखुवा के छिजारसी टोल पर कुछ युवकों ने फायरिंग कर दी। करीब चार राउंड फायरिंग की बात कही जा रही है। ओवेसी की कार में दो गोली लगीं।
घटना के बाद युवक मौके से फरार हो गए, जबकि एक को टोलकर्मियों की मदद से पुलिस ने दबोच लिया। घटना के तुरंत बाद टोल कर्मियों ने कुछ कदम पर स्थित चौकी पुलिस को सूचना दे दी थी। पुलिस पकड़े गए आरोपी से पूछताछ कर रही है।
हालांकि औवेसी ने ट्रवीट कर तीन चार युवकों द्वारा फायरिंग की बात कही है। उन्होंने ट्वीट में कहा है कि उनकी कार में गोली लगी और पंचर भी हो गया। वे सुरक्षित हैं और दूसरी कार में सवार होकर दिल्ली रवाना हो गए। सूचना के बाद हापुड़ डीएम अनुज सिंह, एसपी दीपक भूकर सहित पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई। घटना को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं में रोष है। इसके सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं।
पिलखुवा सीओ तेजवीर सिंह ने बताया कि घटना टोल पर लगे सीसीटीवी में कैद हो गई है। दो युवकों ने हमला करते नजर आ रहे हैं। एक संदिग्ध को हिरासत में लिया गया है, जिससे पूछताछ की जा रही है।
घटना के बाद दूसरी गाड़ी से दिल्ली पहुंचे असदुद्दीन ओवैसी ने चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि गोलीबारी की घटना की स्वतंत्र जांच कराई जाए। स्वतंत्र जांच कराना यूपी सरकार और मोदी सरकार की जिम्मेदारी है। मैं इस मामले में लोकसभा अध्यक्ष से भी मुलाकात करूंगा। पुलिस ने मुझे बताया कि हथियार बरामद कर लिए गए हैं और एक हमलावर को हिरासत में लिया गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने दबंगो के कब्जे से मुक्त करायी 30 करोड़ रुपए कीमत की सरकारी जमीन