आइए जानते है आखिर नामांकन के बाद न्याय की गुहार लगते क्यों रोयी सपा की प्रत्याशी


अमेठी विधान सभा सीट से सपा के पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की पत्नी महराजी प्रजापति ने समाजवादी पार्टी से नामंकन किया। नामांकन के बाद बाद महराजी फफक कर रो पड़ी। उनके साथ मौजूद उनकी बेटियां पकड़ कर उनके आंसू पोछने लगीं । रोते हुए महराजी प्रजापति ने कहा की पति को न्याय दिलाने के लिए चुनाव लड़ रही हूं। सपा सरकार में बहु चर्चित मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की पत्नी महराजी प्रजापति ने समाज वादी पार्टी उम्मीदवार के रूप में अमेठी से अपना नामांकन किया। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा की हम चुनाव जीतने के लिए लड़ रही हूं। अमेठी की जानता मेरे पति को न्याय दिलाएगी। बोलते बोलते महराजी प्रजापति फफक रोने लगी।
महराजी का परिवार लोगों से न्याय की अपील कर रहा है वहां मौजूद उनकी दोनो बेटियों ने उन्हें संभाला और उनकी आंसू पोछने लगी। महराजी अपने आंसू के सहारे चुनाव में जीत हासिल करना चाह रही है। चुनाव प्रचार में लोगों से मिलकर महराजी का परिवार लोगों से न्याय की अपील कर रहा है। उन्हे लगता है कि आंसू उन्हे न्याय दिला सकता है। गौर करने लायक पहलू यह है कि सपा सरकार में खनन मंत्री रहे गायत्री प्रजापति को कोर्ट ने दुष्कर्म मामले में दोषी सिद्ध करते हुए सजा सुना दिया है। गायत्री प्रजापति इस समय जेल में सजा काट रहे है। ऐसे में उनकी पत्नी को समाजवादी पार्टी ने अमेठी से उम्मीदवार बनाया है। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में गायत्री प्रजापति को अमेठी की महारानी गरिमा सिंह ने करीब पांच हजार मतों से हरा दिया था।
गरिमा सिंह भाजपा के कद्दावर नेता डा. संजय सिंह की पहली पत्नी हैं। भाजपा ने उन्हे गायत्री के खिलाफ चुनाव लड़ाया था। हालांकि इस बार अभी तक भाजपा ने अमेठी से अपना पत्ता नहीं खोला है। कांग्रेस ने भी अभी तक इस सीट से किसी को प्रत्याशी नहीं बनाया है। महाराजी ने अपने अधिवक्ता हरी राम यादव की मौजूदगी में गौरीगंज एसडीएम कोर्ट में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट संजीव मौर्य के सामने तीन सेटों में नामांकन पत्र दाखिल किया। इस दौरान सपा विधायक राकेश प्रताप सिंह, जिलाध्यक्ष राम उदित यादव समेत कई समाजवादी पार्टी के नेता व समर्थक मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर में आज फिर तड़तड़ायी गोलियां एक की मौत दूसरा घायल पहुंचा अस्पताल,छानबीन मे जुटी पुलिस

बिजली कर्मियों हड़ताल को देख, वितरण व्यवस्था संचालन हेतु नोडल और सेक्टर अधिकारी नियुक्त

जानिए मुर्गा काटने के दुकान से कैसे मिला गुड्डू की लाश,पुलिस कर रही है जांच