अखिलेश यादव के आजमगढ़ दौरे को लेकर जानें क्या निकाले जा रहे है सियासी मायने


लोकसभा उपचुनाव में मिली हार के बाद सोमवार को पहली बार समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का आजमगढ़ पहुंचे। जनपद भ्रमण के साथ ही सपा प्रमुख ने इटौरा जेल में बंद सपा विधायक रमाकांत यादव से मुलाकात की। जनपद में जगह-जगह सपा प्रमुख का स्वागत किया गया। करीब एक घंटे के दौरे के बाद अखिलेश यादव लखनऊ रवाना हो गए। 
इससे पहले अखिलेश 17 मई को सपा के पूर्व विधायक श्याम बहादुर यादव की मां के देहांत पर आजमगढ़ आए थे। पहले एमएलसी चुनाव, फिर लोकसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी की हार के बाद सपा मुखिया के इस दौरे को लेकर कयासबाजी तेज है। सपा को अपने ही गढ़ में लगातार दो हार मिलने के बाद अखिलेश के इस दौरे को 2024 लोकसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है।
अखिलेश यादव के आजमगढ़ जिले में एक दिनी कार्यक्रम के बाबत निवर्तमान जिला अध्यक्ष हवलदार यादव के अनुसार फिलहाल राष्ट्रीय अध्यक्ष का रमाकांत यादव से मिलने के अलावा कोई दूसरा कार्यक्रम निर्धारित नहीं होने से पार्टी स्‍तर पर अन्‍य आयोजन नहीं किया गया है। लेकिन पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से इटौरा स्थित जेल आते समय रास्ते में सेहदा के पास पूर्व मंत्री चंद्रदेव राम यादव करैली ने उन्हें रोककर स्वागत किया।
माना जा रहा है कि इस सियासी दौरे के जरिए अखिलेश फिर आजमगढ़ में सक्रिय होने जा रहे हैं। बता दें कि फूलपुर-पवई सीट से बाहुबली विधायक रमाकांत यादव बहुचर्चित माहुल शराब कांड समेत कई मामलों में जेल में बंद हैं। हालांकि, एससी-एसटी एक्ट समेत दो मामलों में कोर्ट उनको जमानत दे चुकी है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

जानिए इंटर के छात्र ने प्रधानाचार्य को गोली क्यों मारी, हालत नाजुक, छात्र पुलिस पकड़ से दूर