हाट स्पांट इलाकों में बढ़ने लगी है जन दुश्वारियां , भूख से तड़प रहे है बच्चे



    जौनपुर । कोरोना संक्रमण के चलते जनपद मुख्यालय पर हाट स्पांट  घोषित मुहल्लो में जिला प्रशासन द्वारा डोर टू डोर खाद्यान एवं सब्जी दूध आदि की आपूर्ति का दावा पूर्णतः सच से परे नजर आ रहा है। क्योंकि हाट स्पांट इलाके के लोगों की लगातार बढ़ती ही जा रही है। ऐसा हाट स्पांट क्षेत्र के लोगों का कथन है। शहर के घनी आबादी वाले इलाकों में सकरी गलियां है जिसके चलते वाहन गली में नहीं पहुंच पा रहे हैं। ठेला तक जाने से परहेज किये हैं जिसके चलते खाद्यान,  सब्जी  एवं बच्चों के लिए दूध आदि की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। 
बतादे  जिला प्रशासन ने शहर के तीन मुहल्लो पिरोसोपुर ,लाल दरवाजा,  बड़ी मस्जिद इलाके में कोरोना संक्रमित मरीजों को पाजिटिव पाये जाने की रिपोर्ट पर शासन के आदेश पर इन क्षेत्रों  को हाट स्पांट क्षेत्र घोषित करते हुए  चारों तरफ से सील कर दिया है और आदेश दिया है कि इन क्षेत्रों के नागरिक घरों से  बाहर नहीं  निकलेगे सरकारी व्यवस्था के माध्यम से सामान डोर टू डोर आपूर्ति की जायेगी।  जिला प्रशासन के आदेश के क्रम में इन क्षेत्रों में पुलिस का शक्त पहरा है। न तो कोई घरों से बाहर निकल सकता है  न ही कोई बाहरी व्यक्ति बगैर पास के अन्दर प्रवेश कर सकता है। 
दूध की आपूर्ति बाधित होने के कारण छोटे बच्चों की हालत खराब है।  वहीं पर खाद्यान  व सब्जी न मिलने से बड़ी संख्या में परिवारों में फांकाकसी की स्थिति उत्पन्न हो गयी है।  कि अब गेहूं के साथ घुन भी पिस रहा है। 
पास युक्त कर्मचारी स्वास्थ्य कर्मी  सफाई कर्मी इस इलाके में प्रवेश पा रहे हैं  प्रशासन के आदेश के कारण कोई भी व्यक्ति पड़ोसी से भी सहयोग नहीं ले पा रहा है। सबसे बड़ी समस्या यह है कि घनी बस्ती में संकरी गलियों की समस्या पर प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया और फरमान जारी कर दिया जिसका परिणाम है कि अब अनेक समस्याएं सुरसा की तरह मुँह बाये खड़ी हो गयी है जिसका निदान प्रशासन को करना चाहिए। लाक डाऊन इलाके के लोगों का कथन है कि जो मुख्य मार्ग पर है उन्हें तो सरकारी सुविधा का लाभ मिल रहा है लेकिन गलियों में रहने वाले समस्या से बिलबिला रहे है। अब देखना है कि प्रशासन आवाम की दुश्वारियों को दूर करने के लिए कोई व्यवस्था करेगा या भूख से तड़पने के छोड़ कर कागजी दावा करता रहेगा।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद