यूपी में लव जिहाद नये कानून के तहत पहला मुकदमा इस जनपद में हुआ दर्ज




प्रदेश में आज की बड़ी खबर यह है कि उत्तर प्रदेश के बरेली जिले से आयी है। सूबे में गैर कानूनी धर्म परिवर्तन अध्यादेश को राज्यपाल की मंजूरी मिलने के बाद इसके तहत पहला केस बरेली में दर्ज किया गया है।

साफ –साफ शब्दों में कहे तो बरेली में ‘लव जिहाद’ के आरोप में नए कानून के तहत पहली एफआईआर दर्ज की गई है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार लव जिहाद के आरोप में बरेली के थाना देवरनिया में उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम 3/5 की धारा में केस दर्ज किया गया है।


आरोपी पर जबरन धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाने का आरोप लगाया गया है। हालांकि आरोपी अभी फरार बताया जा रहा है।उसका नाम उबैस है। उस पर आरोप है कि उसने लड़की को बहला फुसला कर उसका धर्म परिवर्तन कराया है।

केस दर्ज होने के बाद से अब पुलिस भी हरकत में आ गई है। आरोपी की धर पकड़ के लिए जगह-जगह दबिश दी जा रही है। अभी तक उसके बारें में पुलिस को कोई सुराग नहीं मिल पाया है।

बता दें कि शनिवार को यूपी सरकार की ओर से पारित अध्यादेश को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मंजूरी दी थी, जिसके साथ यह कानून यूपी में लागू हो गया। इस कानून के लागू होने के बाद बरेली में पहला मुकदमा लिखा गया है। पुलिस अब इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास में जुटी हुई है।


गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने 24 नवंबर को लव जिहाद के खिलाफ अध्यादेश को मंजूरी दी थी। लेकिन इसमें कहीं भी लव जिहाद शब्द का इस्तेमाल नहीं किया गया है, हालांकि यह कहा गया है कि गैर कानूनी तरीके से धर्म परिवर्तन कराने पर एक्शन लिया जाएगा।

फिलहाल, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के इस अध्यादेश को मंजूरी देने के बाद यह कानूनी रूप ले चुका है। इसे 6 महीने के अंदर राज्य सरकार को विधानसभा से पास कराना पड़ेगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

मनीष हत्याकांड का आरोपी 01लाख रुपए का इनामी, जौनपुर निवासी दरोगा विजय यादव हुआ गिरफ्तार, एसआईटी की पूंछताछ जारी

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज