सीएचसी निरीक्षण के समय हीट वेब से बचने के उपाय बतायी सीएमओ,गर्भवती महिलाओ को दी चिकित्सकीय सलाह



जौनपुर। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 लक्ष्मी सिंह ने जनपद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामपुर का निरीक्षण किया। हाई रिस्क प्रेगनेंसी दिवस के अवसर पर लगभग 30 गर्भवती महिलाएं (एएनसी) जांच के लिए उपस्थित थी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने उपस्थित सभी महिलाओं से उनके स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी लिया तथा सुरक्षित प्रसव हेतु उन्हें आवश्यक चिकित्सकीय सलाह भी दिया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने हीट वेव से बचाव हेतु की गई तैयारी को देखा। शासन द्वारा दिए गए दिशा निर्देश के अनुरूप मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामपुर के चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर प्रभात कुमार को निर्देशित किया कि हीट वेव से ग्रसित मरीजों के लिए कोल्ड रूम को सक्रिय रखें। कोल्ड रूम में थर्मामीटर, कोल्ड पैक्स उपलब्ध हो। इसके अतिरिक्त कुछ आवश्यक जीवन रक्षक दवाएं जैसे ओआरएस पैकेट, पेरासिटामोल, आारएल बाटल, डीएनएस बाटल, आइसोलेट पी बाटल इत्यादि की उपलब्धता भी पर्याप्त मात्रा में बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्देशित किया की ओपीडी में हीट वेव से जागरूकता हेतु पोस्टर, बैनर इत्यादि का डिस्प्ले कराया जाए। ओपीडी में आने वाले मरीजों को पीने के पानी की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने आम जनमानस से क्या करें क्या ना करें के विषय में अपील किया तथा कहा कि दिन में 12ः00 बजे से 4ः00 बजे तक धूप में बाहर न निकले, ज्यादा परिश्रम वाले कार्य करने के दौरान बीच-बीच में आराम अवश्य करें, धूप में बंद गाड़ी में स्वयं अथवा बच्चों को ना बैठाएं। खाना बनाने की रसोई हवादार हो तथा उसके दरवाजे और खिड़कियां खुल रखें, यदि धूप में बाहर निकलना ही हो तो सर पर तौलिया, गमछा रखें तथा छाता लेकर चले, यात्रा के दौरान पानी अपने साथ अवश्य रखें।  


वर्तमान समय में हल्के सुपाच्य भोजन करें तथा रसदार फलों एवं लस्सी, छाछ, नींबू पानी इत्यादि का खूब सेवन करें। शरीर पर ढीले आरामदायक सूती वस्त्र जो पसीना सोखता हो उन्हें पहने। हीट वेव के कुछ प्रमुख लक्षण है- शरीर का तापमान बढ़ना, प्यास की इच्छा का कम हो जाना। शरीर एवं मांसपेशियों में ऐंठन होना तथा कमजोरी एवं चक्कर आना। यदि किसी भी तरह की परेशानी का अनुभव हो तो रोगी को ठंडे छायादार स्थान पर रखें। पानी से भीगे कपड़े से पोंछे। जिससे तापमान न बढ़ने पाये । रोगी को पेय पदार्थ पीने के लिए दें। ज्यादा दिक्कत होने पर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर तत्काल उपचार हेतु ले जाएं।
तत्पश्चात मुख्य चिकित्सा अधिकारी जौनपुर डॉक्टर लक्ष्मी सिंह ने रामपुर के आशा नंदपुर एवं भानपुर ग्राम का निरीक्षण कर संचारी एवं दस्तक अभियान के दौरान की जा रही गतिविधियों का पर्यवेक्षण किया। उन्होंने ग्राम वासियों से साफ सफाई, झाड़ी की कटाई, एंटी लारवा छिड़काव इत्यादि के विषय में जानकारी लिया। लोगों ने बताया कि ग्राम में साफ सफाई इत्यादि का कार्य कराया गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ती द्वारा घर-घर भ्रमण कर लोगों को संचारी रोगों से बचाव हेतु की जा रही गतिविधियों का निरीक्षण किया। आशा कार्यकर्ता द्वारा ग्राम वासियों को हीट वेव से बचाव की जानकारी दिया गया था।

अन्य बीमारियों जैसे डेंगू, मलेरिया, फाइलेरिया, कुष्ठ रोग, क्षय रोग इत्यादि के विषय में भी परिवार को जानकारी दिया गया था। आशा द्वारा परिवार के सदस्यों की आभा आईडी भी बनाया जा रहा था। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने ग्राम वासियों से अपील किया कि वह अभियान के दौरान आशा को सहयोग दें जिससे आगामी सीजन में होने वाली संचारी बीमारियों पर समय रहते जन जागरूकता के माध्यम से काबू पाया जा सके।  जागरूकता एवं सावधानी से अत्यधिक गर्मी एवं हीट वेव से होने वाले जान माल के नुकसान को रोका जा सके। इस अवसर पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉक्टर प्रभात कुमार यादव भी उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा