सपाईयो ने हवन पूजन के साथ मनाई भगवान विश्वकर्मा की जयंती


जौनपुर । समाजवादी पार्टी कार्यालय पर जिलाध्यक्ष लालबहादुर यादव की अगुवाई में भगवान विश्वकर्मा की जंयती को पूजा हवन करके मनाया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में अखिल भारतीय विश्कर्मा शिल्पकार महासभा के राष्ट्रीय महासचिव राजेश विश्कर्मा ने कहा भगवान विश्कर्मा को हिन्दू मान्यताओं और ग्रंथो के अनुसार निर्माण एंव सृजन का देवता माना गया है ऐसा माना गया है कि सोने की लंका का निर्माण इन्होंने किया था भारतीय संकृति और पुराणों में भगवान विश्वकर्मा को यंत्रों का अधिष्ठाता और देवता माना गया है। उन्हें हिन्दू संस्कृति में यंत्रों का देव माना गया है भगवान विश्वकर्मा को सुख सुविधाएं प्रदान करने के लिए अनेक यंत्रों व शक्ति सम्पन्न भौतिक साधनों चरमोत्कर्ष को प्राप्त करता रहा। प्राचीन शास्त्रों में वैमानिक विद्या नवविद्या यंत्र निर्माण विद्या आदि का भगवान विश्कर्मा ने उपदेश दिया है। माना जाता हैं कि प्राचीन समय में स्वर्ग लोक लंका, द्वारिका, हस्तिनापुर जैसे कई नगरों के निर्माणकर्ता भी भगवान विश्वकर्मा ही रहे है। भगवान विश्वकर्मा के अनेक रूप बताए गये है उन्हें कहीं पर दो बाहु कही चार, कही पर दस बाहुओं तथा एक मुख,और कहीं पर चार मुख व पंचमुखी के साथ भी दिखाया गया है आज भगवान विश्कर्मा के जंयती पर ये संकल्प लेने की जरुरत है कि देश की पुराने पंरपराओं को खत्म करने वाली भाजपा सरकार को देश से उखाड़ फेंकने की जरूरत है। पूजा समारोह में मुख्य रूप से हिसामुद्दीन शाह,राकेश मौर्य, हीरालाल विश्कर्मा, सोचन राम विश्कर्मा, राहुल त्रिपाठी, राजन यादव, दीपचंद राम,श्रवण जयसवाल,राधेश्याम विश्कर्मा , लालजी विश्कर्मा, कैलाश विश्कर्मा,पूनम मौर्या, गुलजीत विश्कर्मा शिवकुमार विश्कर्मा, सुभाष पाल,अविषेक यादव, विकास यादव, धर्मेंद्र सोनकर,जगदीश विश्कर्मा, सोनी यादव, शबनम नाज,आशीष विश्कर्मा, कैलाश विश्कर्मा ,प्यारे लाल विश्कर्मा कमलेश बिन्द आदि लोग उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

जानिए इंटर के छात्र ने प्रधानाचार्य को गोली क्यों मारी, हालत नाजुक, छात्र पुलिस पकड़ से दूर