पूर्वांचल का एपेक्स अस्पताल जानें कैसे बनता जा रहा है मौत का सौदागर



जौनपुर। पूर्वांचल के जनपद वाराणसी में स्थित एपेक्स अस्पताल मरीजों को ठीक करने के बजाय मौत का सौदागर बनता जा रहा है। इस अस्पताल के प्रबंधन द्वारा मरीजों का उपचार करने के बजाय केवल धन शोषण का खेल किया जा रहा है। इस बात का खुलासा तब हुआ जब सपा के पूर्व दर्जा प्राप्त मंत्री डॉ केपी यादव का इस अस्पताल की लापरवाहियों के चलते मौत हो गयी। 
बतादे डाॅ के पी यादव डेंगू की चपेट में आते ही अस्पताल के दलालो की बात मान कर बेहतर उपचार के लिए एक एपेक्स अस्पताल में भर्ती हो गये। अस्पताल में भर्ती होने के बाद ठीक होने के बजाया अस्पताल के चिकित्सकीय लापरवाहियों के कारण उनकी हालत बिगड़ती गयी। दूसरी ओर अस्पताल प्रबंधन आर्थिक शोषण करता रहा। जब डाॅ यादव पूरी तरह अन कान्सस हो गये तब अस्पताल प्रबंधन आरोप से बचने के लिए लखनऊ मेदांता भेज दिया वहां पर डाॅ के पी यादव दूसरे दिन काल के गाल में समा गये। चिकित्सा के तकनीकी बिशेषज्ञो का मानना है कि एपेक्स अस्पताल में हाई एँटीबायटिक दवाओं को चलाने से मरीज की किडनी और लीवर दोनों काम करना बन्द कर दिया जो मौत का कारण बन गया ।
यह तो एक केश है जो चर्चा में आ गया क्योंकि डॉ के पी यादव एक राजनैतिक व्यक्ति रहे है। लेकिन आम जनमानस जिसका कोई राजनैतिक जीवन नहीं है एपेक्स अस्पताल के दलालों का शिकार बनते हुए इस मौत के सौदागर के पास पहुंचकर आर्थिक रूप से शोषित होने के साथ ही अपने परिजन का काल के गाल में जाने के पश्चात रोते बिलखते वापस लौट जाते है। 
यहां बता  दें कि ऐसे अस्पतालो के मानीटरिंग एवं व्यवस्था आदि के लिए स्वास्थ्य विभाग बनाया गया है लेकिन वाराणसी का स्वास्थ्य विभाग यहां से मोटी रकम लेने के बाद आंख कान दोनों बन्द किये हुए है। इतना ही नहीं इस अस्पताल के दलाल के रूप में सरकारी एवं प्राइवेट एम्बुलेंस चालक भी है और आस पास जनपदो के सरकारी अस्पतालों से मरीज इस मौत के सौदागर के पास पहुंचा कर अच्छी खासी धनराशि की कमाई कर रहे है। जो भी हो अगर सरकारी स्तर से इस अस्पताल पर नियंत्रण नहीं किया गया तो पूर्वांचल में असामयिक मरने वालों की संख्या में तेज वृद्धि से इनकार नहीं किया जा सकता है। 

टिप्पणियाँ

  1. इस तरह् से jaunpur मे भि कई अस्पताल हैं
    जैसे Lic आफिस के सामने गंगा हास़पिटल

    जवाब देंहटाएं
  2. Jaunpur Mein LIC office Ke Samne Ganga Hospital marijon ko Bharti Ke Dard Ki Dava Di Jaati Hai aur Kafi paise lene ke bad marriage serious hone per refer kar diya jata hai Kahate Hain ko ventilator ki jarurat hai jo hamare pass uplabdh Nahin Hai aspataal Mein Suvidha hone ke Karan bhi yah marijon ko Bharti kar lete hain Aur mareez Ko Maut Ke Munh Mein dhakel Kar paise ainth Lete Hain

    जवाब देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर में बसपा को जोर का झटका करीने से, डॉ जेपी सिंह ने सुभासपा किया ज्वाइन

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

मल्हनी विधायक लकी यादव एवं उनके एक दर्जन समर्थको पर बक्शा थाने में दर्ज हुआ मुकदमा