आखिर क्यों नहीं कर सकी तेज तर्रार पुलिस अपहरण केश का खुलासा,दावे बहुत


जौनपुर। प्रतापगढ़ से मछलीशहर के मुस्तफाबाद झाड़-फूंक कराने आए युवक के अपहरणकर्ता का अभी तक कोई पता नहीं चल सका है। पुलिस आस-पास के कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। इसके साथ ही यह भी पता लगा रही है कि अपहरण हुआ था या लेन-देन की घटनि है मामले में पुलिस कुछ सुरागों के आधार पर कार्रवाई कर रही है, बताया कि जल्‍द ही मामले का राजफाश हो जाएगा। 
प्रतापगढ़ के रहेटुआ थाना क्षेत्र के फतनपुर निवासी अरविंद कुमार (36) के शुक्रवार की रात मछलीशहर से वापस लौटते समय अपहरण कर लिया गया था। वह महिलाओं को यहां झाड़-फूंक कराने आया था। युवक का अपहरण करने वाले ने युवक के छोटे भाई वीरेंद्र को फोन कर 20 लाख रुपये की फिरौती मांगने के साथ ही रकम को जमा कराने के लिए अपने खाते का नंबर भी दिया। भाई की ओर से दिए गए तहरीर के बाद सक्रिय पुलिस ने प्राप्त खाते के आधार पर फाेन करने वाले की पहचान सचिन कुमार यादव निवासी बारा सुजानगंज के रूप में की। पुलिस की एक टीम फौरन आरोपित के घर के लिए रवाना हुई, लेकिन इसके पहले ही वह कहीं भाग निकला।
पुलिस की बढ़ी सख्ती के बीच उसने अरविंद को सुजानगंज के भिखारीपुर स्थित मंदिर के पास रविवार शाम छोड़ फरार हो गया, जिसकी पुलिस तलाश में जुटी है। पुलिस इस पूरे साजिश का राजफाश करने के लिए आरोपित का सरगर्मी से तलाश कर रही है, जिसे लेकर कई संदिग्धों को हिरासत में भी लिया गया है। एसओ सुजानगंज पवन उपाध्याय ने बताया कि दूसरे जिले के युवक के अपहरण का मामला बेहद गंभीर है। यह रुपये के लेन-देन का भी मामला लग रहा है। ऐसे में आरोपित को पकड़ने के लिए टीम का गठन कर दिया गया है, जगह-जगह दबिश दी जा रही है। कुछ संदिग्धों को लेकर पूछताछ भी की जा रही है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात

सीएम योगी के एक ट्वीट से लखनऊ का नाम बदलने की सुगबुगाहट, जानें क्या हो सकता है नया नाम