आखिर सड़क पर आने को क्यों मजबूर है सीडा के उद्यमी, इकाई बन्द कर लगाये धान



जौनपुर। जनपद मुख्यालय से लगभग 40 किमी दूर प्रयागराज मार्ग पर स्थित औद्योगिक क्षेत्र सतहरिया (सीडा) का हाल जिम्मेदार अधिकारियों और जिला प्रशासन की अनदेखी और लापरवाहियों के कारण बेहाल है। जिसका खामियाजा इस औद्योगिक क्षेत्र में उद्योग लगाने वाले उद्यमियों को भुगतना पड़ रहा है। इंडस्ट्रियल एरिया में आईआईए के अध्यक्ष बृजेश कुमार यादव ने बताया कि यहां की समस्याओ को लेकर लगातार जिम्मेदार और जिला प्रशासन के लोंगो को प्रार्थना पत्र दिया गया लेकिन कोई सुनवाई नहीं की गयी। अब सतहरिया के उद्यमी अपने उद्योग को बन्द करने को मजबूर हो रहे है।


श्री यादव ने बताया कि लगभग सीडा के स्थापना काल से ही यहां पर वर्षात के पानी से जल जमाव की स्थिति रहती है। इस मुद्दे को लेकर जल निकासी के लिए तमाम पत्राचार किये गये लेकिन किसा भी स्तर से जल निकासी का प्रबंध नहीं किया गया। जिसका परिणाम है कि वर्षात के समय में बड़ी संख्या में औद्योगिक इकाईयां बन्द हो जाती है। क्योंकि जल जमाव के कारण कच्चा माल न तो आ सकता है न ही यहां का उत्पाद बाहर जा पाता है। ऐसी दशा में उद्योग इकाई को बन्द करना ही पड़ता है। उद्यमी को इससे भारी क्षति हो रही है इतना ही नहीं आर्थिक बड़ा नुकसान हो रहा है।
आईआईए के अध्यक्ष बृजेश यादव ने बताया कि  सीडा में जल जमाव के चलते उत्पन्न समस्याओ  के चलते अब उद्यमी आन्दोलन की राह पर जाने को मजबूर होते हुए बीते गुरुवार को उद्यमी अपनी औद्योगिक इकाई को बन्द कर सड़क पर आ गये और सड़क पर जमा पानी में धान लगाते हुए कहा कि शासन प्रशासन के लापरवाहियों के कारण अब उद्यमी औद्योगिक इकाई बन्द कर धान लगाकर अपने परिवार और अपने कर्मचारियों का जीविकोपार्जन का काम करेंगे।बृजेश यादव ने यह भी चेतावनी दी है कि अगर जल्द से जल्द सीडा के उद्यमियों की समस्याओ का निराकरण नहीं हुआ तो बड़ा आन्दोलन होगा।
विरोध प्रदर्शन के इस कार्यक्रम का नेतृत्व आई आई ए के अध्यक्ष बृजेश यादव ने किया साथ में कोषाध्यक्ष शत्रुघ्न मौर्य, महासचिव गुलाब चन्द पान्डेय, उपाध्यक्ष आशीष यादव, मो सुहेल , अरविंद मौर्य, विजय यादव डॉक्टर कृष्ण देव प्रजापति रामचंद्र गुप्ता महेंद्र यादव राधेश्याम यादव हर्षित सिंह जंग बहादुर यादव सूरज मिश्रा शिवपूजन यादव इत्यादि उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

जानिए इंटर के छात्र ने प्रधानाचार्य को गोली क्यों मारी, हालत नाजुक, छात्र पुलिस पकड़ से दूर