मुख्यमंत्री का आदेश जारी होते ही प्रशासन ने जौनपुर को जाम मुक्त कराने की बनायी यह योजना,अमल शुरू


जौनपुर। यूपी सरकार के मुखिया मुख्यमंत्री का फरमान जारी होने के बाद से जौनपुर प्रशासन ने शहर को सुंदर बनाने और जाम की समस्या से मुक्त करने का खाका तैयार कर लेने का दावा किया जा रहा है। इस दौरान शहर में पार्किगिं स्थल बनाने, दुकानों के सामने वाहन खड़ा न करने, प्राइवेट बस और टैक्सी स्टैंड को शहर से बाहर स्थापित करने पर चर्चा हुई। इसके अलावा, ठेले-खमोचे वालों को स्थान उपलब्ध कराने सहित कई समस्याओं का निस्तारण करने का प्लान तैयार किया गया है। यह निर्णय प्रशासन ने व्यापारियों के साथ बैठक कर ले लिया।
बता दें सवा तीन लाख आबादी वाले शहर में पार्किगिं की सुविधा नहीं है।दुकानों के सामने सड़क की पटरियों पर बेतरतीब खड़ा करने को लोग मजबूर हैं। अपने जीविकोपार्जन के लिए ठेले-खमोचे वाले भी शहर के प्रमुख चौराहों और तिराहों सहित सड़क की पटरियों पर दुकान लगाते हैं। जिसके परिणामस्वरूप शहर हर समय जाम की जद में रहता है। इस जाम में फंसने से लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ता है। इतना ही नहीं कई बार तो बीमार मरीजों की जाम के चलते उपचार के अभाव में दम ही टूट जाता है। सीएम का आदेश आने के बाद इस समस्या का निराकरण करने और शहर के सुंदरीकरण तथा जाम की समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए प्रशासन ने व्यापारी संगठन के पदाधिकारियों के साथ बैठक किया। इस दौरान शहर क्षेत्र से अवैध वाहन स्टैंड हटाने, कोतवाली के आस-पास के फल दुकानों सहित अन्य ठेले खमोचे वालों को हटाने, बड़े प्रतिष्ठानों के सामने वाहनों को खड़ा नहीं होने देने, पुरानी सब्जी मंडी को स्थानांतरित करने, अवैध अतिक्रमण को हटाने, बिना मानचित्र स्वीकृत कराए बने भवनों के खिलाफ कार्रवाई करने आदि को लेकर गहन मंत्रणा हुई। इसके बाद व्यापारियों के ओर से दिए गए सुझाव पर अमल करते हुए जिला प्रशासन ने समस्या निराकरण का खाका तैयार कर लिया ऐसा प्रशासन के अधिकारियों का दावा है।
प्रशासन के अधिकारी कहते है कि शहर में चल रहे कुल 12 वाहन स्टैंड को प्रतिस्थापित करने के लिए स्थान और भूमि को चिह्नित कर लिया गया है। इसमें सिपाह, बदलापुर पड़ाव, मछलीशहर पड़ाव, मडि़याहूं पड़ाव, मल्हनी पड़ाव, शाहगंज पड़ाव, जेसीज पड़ाव, केराकत पड़ाव, पालिटेक्निक चौराहा, भंडारी स्टेशन पड़ाव, सद्भावना चौराहा, पंचहटियां तिराहा हैं। इन वाहन स्टैंड को शहर से बाहर पांच स्थानों पर स्थानांतरित किया जाएगा, जिसमें सीहीपुर गांव में, प्रसाद इंस्टीच्यूट के सामने, हिसामपुर गांव में, सैदनपुर गांव में व कुल्हनामऊ मंदिर के सामने पोखरा है। रोडवेज परिसर की 500 मीटर की परिधि में प्राइवेट वाहन नहीं खड़े होंगे।
 इसके अलावा नगर स्थित कोतवाली के पास ठेले और खमोचेवालों की दुकानों को हटाया जाएगा। उनको दुकान लगाने के लिए किला रोड से लेकर सद्भावना पुल तक वेंडिंग जोन बनाया जाएगा। सब्जी मंडी में लगने वाली दुकान एवं ठेले और खमोचेवालों को भगत सिंह पार्क में प्रतिस्थापित किया जाएगा।शहर को जाम से मुक्त करने के लिए दुकानदारों को दुकानों के सामने सही ढंग से वाहन खड़ा कराने को कहा गया। साथ ही कोतवाली थाना के सामने खाली पड़े स्थान पर पार्किगिं बनाया जाएगा।
अपर जिलाधिकारी भू एवं राजस्व रजनीश राय कहते है कि व्यापार संगठन के पदाधिकारियों के साथ बैठक के उपरांत सभी योजनाएं तय कर ली गयी है। इसमें मुख्यमंत्री द्वारा जारी निर्देशों का पालन कराने के लिए भी चर्चा की गई। इस दौरान शहर से वाहन स्टैंड को बाहर ले जाने, वेंडिंग जोन बनाने, पार्किगिं बनाने आदि का निर्णय लिया गया है, जिसे परवान चढ़ाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। इसके लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित भी किया जा चुका है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर का बेटा बना यूनिवर्सिटी आफ टोक्यो जापान में प्रोफ़ेसर, लगा बधाईयों का तांता

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

यूपी में फिर 11 आईएएस अधिकारियों का तबादला, देखे सूची