आखिर एसडीएम ने लेखपाल को किया निलंबित, जानें क्या है कारण


जौनपुर। केराकत उपजिलाधिकारी राजेश कुमार चौरसिया ने लेखपाल अश्विनी कुमार श्रीवास्तव को निलंबित कर दिया है। उन पर अवैध कब्जे में सहयोग करने और ग्रामसभा की भूमि की रखवाली करने के बजाय इसकी सौदेबाजी करने का आरोप लगा है।
उपजिलाधिकारी ने इस संबंध में आदेश जारी किया है। इसके मुताबिक, एसडीएम ने कहा कि पुरेव गांव में शिकायत मिली थी कि कुछ लोग ग्रामसभा की भूमि पर कब्जा किए हैं। प्रकरण की जांच में शिकायत सही पाई गई और लेखपाल को निर्देशित किया गया कि वह कब्जाधारकों के खिलाफ तहसीलदार न्यायालय में राजस्व संहिता की धारा के तहत कार्यवाही करें। इसके बाद भी समय बीतने के साथ ही अतिक्रमणकारियों पर न तो कोई कार्यवाही हुई और न ही कोई रिपोर्ट न्यायालय में प्रेषित की गई। इस कार्य में लेखपाल अश्विनी कुमार श्रीवास्तव की भूमिका संदिग्ध देख तहसीलदार राम सुधार ने जांच कर रिपोर्ट सौंपी। इसमें यह पता चला कि कुछ स्थानों पर कब्जा किया गया है। ऐसे में लेखपाल को इस कार्य में संलिप्त मानकर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर रजिस्ट्रार कार्यालय से संबद्ध कर दिया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर का बेटा बना यूनिवर्सिटी आफ टोक्यो जापान में प्रोफ़ेसर, लगा बधाईयों का तांता

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

यूपी में फिर 11 आईएएस अधिकारियों का तबादला, देखे सूची