अग्निपथ योजना के विरुद्ध प्रदर्शन कारियों के खिलाफ पुलिस और कानून शख्त जमानत हुई खारिज, क्षति की होगी वसूली


जौनपुर ।अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शनकारियों के खिलाफ पुलिस की सख्ती के साथ साथ अब कानून भी शख्ती से पेश आने लगा है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेजे गये 50 अभियुक्तो की जमानत याचिका मजिस्ट्रेट ने खारिज कर दिया है। अब सेशन कोर्ट में अपील होगी। घटना के समय पुलिस ने लगभग एक सौ से अधिक नामजद लोगों सहित 715 लोगों के खिलाफ गंभीर से गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था जिसमें 50 लोंगो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था शेष की गिरफ्तार के लिए एनबीडब्लू वारंट लेकर लगातार दविशे दे रही है। इसके अलांवा पुलिस ने उपद्रव के कारण हुई क्षति की भरपाई के लिए उपद्रव करने के आरोपियों से करने की तैयारी में जुट गयी है।अभी तक के आकलन के अनुसार पुलिस ने थाना सिकरारा और बदलापुर क्षेत्र में घटना के समय 40 लाख रुपए की क्षति का आंकलन किया है वसूली की तैयारी में जुट गयी है शेष पुलिस क्षति का आंकलन संबंधित विभागों और व्यक्तियों से करने में भी जुटी  हुई है। साथ ही आरोपियों के गिरफ्तारी के लिए धर पकड़ भी तेज कर दी गई है। 
बता दे थाना क्षेत्र लाइन बाजार, बदलापुर और सिकरारा में उपद्रवियों ने अग्निपथ योजना के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया था। उपद्रवियों के अराजकता का आलम यह था कि लोग घरों में कैद हो गए थे। सड़कों पर अफरा-तफरी मची थी। कई सरकारी बसो सहित अन्य वाहनो को जिसमें रोडवेज की गाड़ियों सहित पुलिस और आम लोगों की कई गाड़ियां शामिल थी को आग हवाले कर दिया जा रहा था। जिसके बाद से पुलिस आरोपियों के गिरफ्तारी चिन्हित करने में लगी हुई है। दो दिन पहले 50 लोगों को गिरफ्तार की थी। बदलापुर में क्षेत्र मुकुन्द गाँव में रोडवेज बस जलाने के तीन आरोपियों को पुलिस ने सुबह फत्तूपुर रेलवे क्रॉसिंग के पास से गिरफ्तार कर चालान न्यायालय भेज दिया। गिरफ्तार आरोपियों में आशीष सिंह व मोहम्मद कैफ सराय त्रिलोकी थाना बदलापुर तथा संतोष यादव निवासी आसपुर देवसरा, थाना आसपुर देवसरा जनपद प्रतापगढ़ है। वहीं, लगातार सार्वजनिक स्थानों और रेलवे, रोडवेज बस स्टेशनों पर पुलिस चक्रमण कर रही है। सतहरिया: मुंगराबादशाहपुर में रेलवे स्टेशन पर मंगलवार को अग्निपथ योजना का विरोध व उपद्रव को देखते हुए पुलिस सतर्कता बरतने में चक्रमण करते नजर आई। साथ ही लोगों को जागरूक किया कि वह अफवाह व बिना जाने समझे राष्ट्रीय संपत्ति को नुकसान न पहुचाएं।  अग्नि पथ योजना के विरोध को देखते हुए मीरगंज पुलिस देर रात से जगह जगह बाजारों में चक्रमण करती रही।थानाध्यक्ष बृजेश कुमार गुप्ता ने बताया कि पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर चक्रमण किया जा रहा है। लोगों से अपील की जा रही है कि किसी भी विरोध मे शामिल न हो क्योंकि धारा 144 लगाई गई है।
प्रदर्शन के कारण दो दिनो तक लोग सहमे हुए रहे। बाहर निकले से पहले कई बार सोच रहे थे। अधिकांश लोग अब स्वयं के साधन से ही सफर करते नजर आये। बस स्टैंडों पर यात्रियों की भीड़ कम हो गई थी। वहीं, सुरक्षा के कारणों से बसों और ट्रेनों का संचालन भी कम हो गया।  सिटी स्टेशन से गुजरने वाली चार ट्रेनें रद रही। इनमें हिमगिरी एक्सप्रेस, वाराणसी-सुल्तानपुर पैसेंजर, अमहदाबाद से पटना जाने वाली समर एक्सप्रेस और चंडीगढ़ से पा टलिपुत्र को जाने वाली 22356 एक्सप्रेस रद रही। दूसरी ओर जौनपुर डिपो से 80 बसों में से 26 बसों को आजमगढ़ में चुनाव के लिए पुलिस को दे दिया गया, जबकि रोडवेज  परिसर में खड़ी कई गाड़ियों का संचालन नहीं कराया गया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

खुशखबरी: बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग में मुख्य सेविका पद पर होगी भर्ती,जानें कौन कर सकेगा आवेदन