परिवहन मंत्री का करिश्मा पहले करायी चालान एवं जुर्माना अब वापसी का दबाव,जानें क्या है मामला



प्रदेश सरकार के परिवहन मंत्री दयाशंकर स‍िंंह की अति उत्साह में की गयी कारगुजारी इन दिनों चर्चा का बिषय बनी हुई है।मंत्री जी पहले तो रोब में ट्रको का चालान कराते हुए जुर्माना ठोकवा दिया बाद में बैकफुट पर जाकर जुर्माना वापसी की कार्रवाई कराने का दबाव भी बनाया जा रहा है। जी हां कानपुर में घाटमपुर-सजेती मार्ग पर अलिया टोल प्लाजा के पास खड़े जिन 16 ओवरलोडेड ट्रकों के चालान परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह ने करा दिए थे, उन्हें वापस कराने की कवायद शुरू हो गई है। एक-एक ट्रक पर 65 से 70 हजार रुपये के चालान हुए हैं।
दरअसल मंत्री ने महोबा से लौटते समय कानपुर नगर में सड़क किनारे ढाबे के पास खड़े ओवरलोडेड वाहनों को देखकर आरटीओ प्रवर्तन दल के अफसरों को फटकार लगाई थी। इसके बाद उनके चालान करा दिए थे। इसमें 16 ट्रक जेएमडी ट्रांसपोर्ट के थे। इसके मालिक प्रीतम सिंह ने हमीरपुर रोड पर मंत्री का स्वागत किया था। चालान करने वालों में एआरटीओ प्रवर्तन उदयवीर सिंह, सुनीलदत्त आदि अफसर शामिल थे।
मामला प्रकाश में आने के बाद चालान को वापस कराने की कवायद शुरू की गई है। सभी ट्रकों पर करीब साढ़े 11 लाख रुपये के चालान हुए हैं। गाड़ियां पास कराने वाले और आरटीओ में संपर्क रखने वाले दलालों के माध्यम से अफसरों के पास फोन आने शुरू हो गए हैं। कई नेताओं ने भी इस कार्रवाई पर आपत्ति जताई है और अफसरों को फोन किया है।
परिवहन विभाग के बड़े अफसर भी इस मामले में अलर्ट हो गए हैं कि मामला मंत्री जी के स्वागत करने वालों का चालान करने से है। इस मामले में एआरटीओ प्रवर्तन सुनील दत्त ने बताया कि चालान ऑनलाइन हुए हैं। मंत्री जी की मौजूदगी में ओवरलोडेड ट्रकों के चालान प्रवर्तन टीम ने किए हैं। अब जुर्माना या आरटीओ ऑफिस में भरना होगा या फिर कोर्ट के माध्यम से जुर्माना जमा होगा। वापस होने का सवाल नहीं उठता है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन