रमजान की 15 तारीख को दौरे कुरआन कार्यक्रम का हुआ आयोजित


जौनपुर। नगर कोतवाली क्षेत्र के मुहल्ला सिपाह अंतर्गत सहंची इमामबाड़े के पास स्थित समाज सेविका फरहत फातमा पत्नी सैयद फैजान आब्दी ने पूर्व की भांति इस वर्ष भी माहे रमज़ान की 15 तारीख रविवार को सुबह से दौरे कुरआन कार्यक्रम का आयोजित किया गया। जिसमें सिपाह शिया समुदाय की महिलाओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। गौरतलब हो कि पवित्र महीना रमजान की 15 तारीख को शिया समुदाय के दूसरे इमाम हसन अ.स की विलादत का दिन है। बताते हैं कि रमज़ान के महीने में कुरआन की एक आयत पढ़ने का शबाब कई गुना अधिक होता है। हदीसों में भी मिलता है कि पवित्र रमजान के महीने में जो कोई अपने मरहूमीन के लिए कुरआन पाक पढ़वाकर उनकी रूह के लिए ईसाल करे तो उसका शबाब अन्य महीनों की तुलना में कई गुना अधिक मिलेगा जिसके मद्देनजर इस खास मौके पर आयोजित दौरे कुरआन में महिलाओं ने फरहत फातमा के मकान पर आकर कुरआन पाक के एक एक पारे का पाठ कर फरहत फातमा की सास मरहूमा नजीरूल फातमा व ससुर मरहूम सैयद मुहम्मद जकी की रूह को ईसाल किया। इस तरह से कुल तीस महिलाओं ने कुरआन पाक के तीस पारों का पाठ कर उसका हदिया मरहूमीन को पेश कर उनकी मगफिरत के लिए खुदा की बारगाह में दुआ की। कार्यक्रम के अंत में उपस्थित महिलाओं के समूह ने देश में अमन चैन, खुशहाली, तरक्की व कोरोना जैसी महामारी से देश वासियों के सुरक्षित रहने के लिए खुदा से सामूहिक रूप से विशेष दुआ की। इस मौके पर निसार फातमा, शिफा ज़ैदी, तसनीम फातमा रिज़वी, रेहाना बानो, मुन्नी बेगम, हसन बांदी, जर्रीन बानों, शीरी फातमा, सानिया ज़हरा, किरन नाज़, मासूमा ज़हरा, अतीका ज़हरा आब्दी, शमा फातमा, नीलम फातमा, अमीर बानो सहित अनेकों महिलाएं मौजूद रहीं। आगंतुकों के प्रति आभार फरहत फातमा ने प्रकट किया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन