वर्षात के समय जल जमाव होने पर जिम्मेदार हो सकते है निलंबित- मनीष कुमार वर्मा डीएम


मुंगराबादशाहपुर नगर पालिका के जेई का वेतन एक दिन का काटने का डीएम ने दिया आदेश 

जौनपुर। वर्षात में जल जमाव की समस्या  से निपटने के लिए कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में अधिशासी अधिकारियों एवं जिला पंचायत राज अधिकारी के साथ बैठक करते हुए जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने शख्त निर्देश दिया कि नगर पालिका और नगर पंचायतो में नालियों की वृहद सफाई वर्षात से पहले करायी जाये। वर्षात में जल जमाव की खबर पर जिम्मेदार जनों के निलंबन की कार्यवाई संभव है। 
बैठक में नगर पालिका मुंगराबादशाहपुर के जेई को बिना सूचना के अनुपस्थित रहने पर एक दिन का वेतन काटने का निर्देश जिलाधिकारी ने दिया है। इसी तरह जिला पंचायत राज अधिकारी संतोष कुमार को स्पष्ट निर्देश दिया कि जिन ग्राम पंचायतों में पूर्व में जलजमाव की स्थिति आई थी, उसको तत्काल सही करा ले। जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी भू-राजस्व रजनीश राय को निर्देश दिया कि जलजमाव के संबंध में कलेक्ट्रेट में कंट्रोल रूम स्थापित किया जाए और उसके लिए एक अतिरिक्त उप जिलाधिकारी को नामित किया जाए, कंट्रोल रूम के नंबर का प्रचार-प्रसार कराया जाए, जिससे जनपद में कहीं भी जलजमाव की स्थिति हो तो आम जनमानस अवगत करा सकें।
इसी क्रम में अधीक्षण अभियंता पीडब्ल्यूडी को निर्देशित किया कि पीडब्ल्यूडी की सड़कों की वजह से कहीं भी जलजमाव की स्थिति उत्पन्न न हो, इसके संबंध में तैयारी कर लिया जाए। जिलाधिकारी द्वारा प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना की समीक्षा की और अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिया कि बैंक से समन्वय स्थापित कर कार्य में तेजी लाये।उन्होंने कहा कि डिजिटल ट्रांजैक्शन में वृद्धि लाई जाए। उन्होंने सभी अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिया कि कि क्यु आर कोड वितरण में शत-प्रतिशत लक्ष्य को प्राप्त करें।
इस बैठक में अपर जिलाधिकारी भू-राजस्व रजनीश राय, नगर मजिस्ट्रेट अनिल अग्निहोत्री, डीएफओ प्रवीण खरे, जिला विकास अधिकारी बी0बी0 सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी संतोष कुमार मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मेदांता में इलाज करा रहे इस आईएएस अधिकारी का हुआ निधन

जौनपुर में फिर तड़तड़ायी गोलियां एक युवक गम्भीर रूप से घायल बदमाश फरार, पुलिस अंधेरे में चला रही छानबीन की तीर

थाना चन्दवक की वसूली लिस्ट वायरल होने पर एक बार फिर सुर्खियों में पुलिस जांच शुरू