जानिए आखिर प्राइमरी के बच्चो को कूड़े के ढेर पर क्यों बैठाया प्रधानाध्यापक बीएसए ने जांच के बाद कार्रवाई का दिया संकेत

 
जौनपुर। शाहगंज क्षेत्र के बड़ागांव स्थिति प्राथमिक विद्यालय परिसर में गुरुवार को अजीबो गरीब मामला सामने आया। परीक्षा में नकल न हो पाए इसलिए प्रधानाचार्य रामयश विश्वकर्मा ने बच्चों को बाहर जमीन पर बैठाकर परीक्षा दिलवाई। जबकि विद्यालय में बैठने के लिए बेंच, टाट आदि की व्यवस्थाएं हैं।
प्राथमिक विद्यालय बड़ागांव में करीब 400 बच्चे पढ़ते हैं। विद्यालय में बच्चों के बैठने-उठने व पढ़ने आदि से संबंधित सभी व्यवस्थाएं हैं। इसके बाद भी बच्चों को जमीन पर बैठकर परीक्षा देनी पड़ी। बच्चे अपनी पढ़ाई को लेकर इतने संजीदा हैं कि प्रधानाचार्य ने जब बच्चों को बाहर बैठने का आदेश दिया तो बच्चे बाहर कूड़े के ढेर पर बैठ गए और परीक्षा दी। बच्चों ने परीक्षा देना शुरू ही किया था कि किसी ने वीडियो बना कर वायरल कर दिया। वायरल वीडियो में विद्यालय की यह दशा यह बता रही है कि बड़ागांव स्थिति प्राथमिक विद्यालय परिसर में कूड़े का ढेर लगा है। पेड़ की पत्तियां झड़कर नीचे गिरी हुई है।
प्रधानाध्यापक रामयश विश्वकर्मा ने बताया कि मनरेगा में तैनात सफाई कर्मी सप्ताह या पंद्रह दिन पर विद्यालय में आता है। साफ-सफाई कर कूडे़ का ढेर लगाकर चला जाता है। इसकी शिकायत संबंधित अधिकारियों से कई बार की गई। उन्होंने आरोप लगाया कि शिकायत करने पर सफाई कर्मी आकर अभद्र व्यवहार भी करता है। एक सप्ताह से सफाई कर्मी विद्यालय की साफ-सफाई करने नहीं आ रहा है।
इस बाबत पूछे जाने पर बीएसए डॉ. गोरखनाथ पटेल ने कहा कि वायरल वीडियो देखने को मिला है। मामले की जांच कराई जा रही है। जांच के रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई करेंगे।

Comments

Popular posts from this blog

21 अप्रैल को जौनपुर पहुंच कर लोकसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार का आगाज करेंगे बाबू सिंह कुशवाहा, जाने क्या है पूरा कार्यक्रम

तेज रफ्तार का कहर: पेड़ से टकराई कार तीन के दर्दनाक मौत

हाईस्कूल एवं इन्टर बोर्ड की परीक्षा परिणाम घोषित,जौनपुर के इन सात बच्चो ने टापर सूची में शामिल होकर लहराया परचम