शाइस्ता परवीन जानें कैसे बनी प्रदेश की दूसरी इनामी महिला अपराधी, अब इनाम बढ़ाकर हुआ रूपये 50 हजार


अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन संभवत: उत्तर प्रदेश की दूसरी महिला इनामी बन गई है। शुक्रवार रात पुलिस ने शाइस्ता पर इनाम 25 हजार रुपये से बढ़ाते हुए 50 हजार कर दिया। इसके साथ ही उनकी तलाश तेज कर दी गई। शनिवार को शहर के कई इलाकों के साथ कछारी इलाकों में उनकी तलाश की गई। उमेश पाल हत्याकांड के बाद अतीक और अशरफ के साथ शाइस्ता को भी आरोपी बनाया गया था। नामजद रिपोर्ट दर्ज होने के बाद शाइस्ता फरार हो गई थी। सबसे बड़ी इनामी बाइक बोट घोटाले में फरार चल रही गाजियाबाद की दीप्ति बहल है। 
इस बीच पुलिस ने शाइस्ता पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया। शाइस्ता की असली भूमिका पुलिस को उस वक्त पता चली जब अतीक के मुंशी और ड्राइवर के साथ रेकी करने वाले तीन आरोपियों को पकड़ा गया था। मुंशी राकेश उर्फ लाला तथा ड्राइवर कैश अहमद ने बताया था कि उमेश की हत्या से पहले घर पर होने वाली बैठक में शाइस्ता भी रहती थी। वह असद के माध्यम से लोगों को पैसे भी देती थी।
हत्या के बाद असद समेत सारे शूटर शाइस्ता के पास पहुंचे थे। वहीं पर सभी को पैसे दिए गए। इसके बाद सब वहां से भागे। इसके बाद शूटरों के परिवार वालों को भी शाइस्ता ने ही पैसे पहुंचवाए थे। उमेश हत्याकांड में नामजद होने के बाद शाइस्ता ने ही कैश अहमद, राकेश लाला तथा अन्य नौकरों को एक करोड़ से अधिकर रुपये और असलहे दिए थे। इसी में 74 लाख रुपये अतीक के कार्यालय और रेकी करने वालों से मिले थे। पुलिस ने पांच असलहे भी बरामद किए थे। शाइस्ता ही पूरा गिरोह संभाल रही थी। जब शूटर हत्या के लिए चकिया से चले तो शाइस्ता ने कहा था कि ‘इंशाअल्लाह हम जरूर कामयाब होंगे’।
शाइस्ता की तलाश में पुलिस लगातार दबिश दे रही थी। दिन बीतने के साथ ही हत्याकांड में शाइस्ता की भूमिका और स्पष्ट होती जा रही थी। पुलिस ने शुक्रवार की रात शाइस्ता पर इनाम की राशि बढ़ाते हुए 50 हजार कर दी। इसके बाद शाइस्ता की तलाश में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। पुलिस को जानकारी है कि शाइस्ता कहीं बाहर नहीं गई है। नकाब का सहारा लेते हुए वह प्रयागराज और कौशांबी में ही है। वह लगातार ठिकाने बदल रही है। शनिवार को चकिया, राजरूपपुर, मरियाडीह, असरौली, हटवा, हरवारा और करेली के साथ पुलिस ने धूमनगंज और पूरामुफ्ती के कछारी इलाकों में भी शाइस्ता की तलाश की।
अतीक अहमद के चकिया स्थित ध्वस्त घर की एक दीवार पर किसी ने एक पोस्टर लगाया है। इसमें लिखा है कि ‘रात कितनी भी काली हो, सवेरा जरूर होगा’। पोस्टर में अतीक की दो तस्वीरें लगी हैं। रात में पोस्टर लगा देख पुलिस ने जांच पड़ताल की। पोस्टर हटा दिया गया। आसपास के लोगों का कहना है कि अतीक के लोगों ने इस पोस्टर से संदेश देने की कोशिश की है कि बाद में सब ठीक हो जाएगा। 

Comments

Popular posts from this blog

बाहुबली नेता एवं पूर्व विधायक के परिवार जनों पर फिर मारपीट और छेड़खानी का मुकदमा हुआ दर्ज, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

सपा ने जारी किया सात लोकसभा के लिए प्रत्याशियों की सूची,जौनपुर से मौर्य समाज पर दांव,बाबू सिंह कुशवाहा प्रत्याशी घोषित देखे सूची

भाजपा के प्रत्यशियो की दसवीं सूची जारी, मछलीशहर से भी प्रत्याशी घोषित देखे सूची