भोजपुरी फिल्म अभिनेत्री आकांक्षा दुबे के मौत के मामले में गिरफ्तार समर सिंह से सात घन्टे हुई पूछताछ, हुए कई खुलासे


भोजपुरी एक्ट्रेस आकांक्षा दुबे मौत मामले में एक के बाद एक कई खुलासे हो रहे हैं। आरोपी भोजपुरी गायक समर सिंह की गिरफ्तारी भी हो चुकी है। पुलिस पूरी कोशिश में लगी है कि सच सामने आए लेकिन सवाल वही कि अगर ये आत्महत्या का मामला है तो आकांक्षा दुबे ने ऐसा कदम क्यों उठाया। आकांक्षा एक उभरती कलाकार थीं। इंस्टाग्राम पर उनके 19 लाख फॉलोअर थे। फिर भी ऐसी क्या परेशानी थी कि उन्हें ये कदम उठाना पड़ा? 
आकांक्षा दुबे को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोपी गायक समर सिंह शनिवार की शाम भारी गहमागहमी के बीच रिमांड मजिस्ट्रेट तृप्ति सिंह की अदालत में पेश किया गया। समर सिंह से शनिवार को लगभग सात घंटे की पूछताछ की। इसके बाद ही उसे रिमांड मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया।
पुलिस लाइन में हुई पूछताछ में समर सिंह ने कई बातें पुलिस को बताई। उसने बताया कि '25 मार्च की शाम को आकांक्षा दुबे ने उसे आखिरी कॉल किया था। वो भी कुछ सेकेंड तक ही बात हुई थी जिसमें कामकाज को लेकर ही बात हुई थी।' समर के मोबाइल को फोरेंसिक लैब में भेज कर चेक कराया जाएगा कि आकांक्षा से संबंधित कोई महत्वपूर्ण डेटा या चैट उसने डिलीट तो नहीं कर दिया है। 
बता दें कि सारनाथ स्थित एक होटल के कमरे में बीते 26 मार्च को आकांक्षा दुबे का शव फंदे के सहारे लटका मिला था। वह भोजपुरी फिल्म की शूटिंग करने वाराणसी आई थीं। 27 मार्च को आकांक्षा दुबे की मां मधु दुबे की तहरीर के आधार पर सारनाथ थाने में आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में भोजपुरी गायक आजमगढ़ के मेंहनगर निवासी समर सिंह और उसके दोस्त बिलरियागंज क्षेत्र के गद्दोपुर निवासी संजय सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस ने समर सिंह को गाजियाबाद से गिरफ्तार किया और संजय सिंह अभी भी भूमिगत है। 

Comments

Popular posts from this blog

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

सड़क चौड़ीकरण के लिए जानिए कौन कौन से मन्दिर टूटने के कगार पर ,क्या है लोक निर्माण विभाग की योजना

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा