छैमार गैंग के सरगना 25 हजार रुपए के इनामी बदमाश फाती उर्फ कदीम को अब जौनपुर जेल में लाने की कवायत शुरू



जौनपुर। आगरा में पुलिस के हत्थे चढ़ा छैमार गैंग का सरगना फाती उर्फ कदीम जौनपुर जेल लाया जाएगा। कोतवाली में गैंगस्टर एक्ट में वांछित फाती वर्ष 2014 में  दवा व्यवसायी के घर डकैती में उनकी पत्नी व पुत्री की हत्या करने का आरोपित है। वह जिला जेल से फर्जी जमानत के आधार पर छूटने के बाद फरार हो गया था। वर्ष 2018 में कोतवाली पुलिस ने उसके विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की थी। उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था। कोतवाली पुलिस उसे लाने के लिए वारंट बी का तामिला कराने की कार्रवाई में जुटी है।
23 अप्रैल 2014 की रात नगर में खुटहन मार्ग स्थित दवा व्यवसायी धीरज सिंह के घर में घुसकर डकैत लूटपाट कर रहे थे। प्रतिरोध करने पर डकैतों ने धीरज सिंह, उनकी पत्नी सुमन सिंह, पुत्री स्वाति सिंह, भाई विवेक सिंह, भयोहू रेनू सिंह व रिश्तेदार अंकुर सिंह को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। स्वाति की उपचार के लिए वाराणसी ले जाते समय रास्ते में जबकि सुमन की वाराणसी में एक अस्पताल में इलाज के दौरान एक माह बाद मौत हो गई थी। दहला देने वाली इस घटना में विवेचना के दौरान छैमार गैंग की संलिप्तता सामने आई थी। पुलिस ने गैंग के सरगना फाती व तीन अन्य को गिरफ्तार किया था। फाती की आगरा के टीपी नगर में गिरफ्तारी की खबर लगते ही पुलिस की बांछें खिल उठीं। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक ने कहा कि वारंट बी का तामिला कराकर उसे आगरा से जिला कारागार लाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर