मौसम का हाल: कोहरे की घनी चादर में लिपटा प्रदेश,जानें कौन शहर है सबसे ठंडा,इन जिलों के लिए जारी है अलर्ट


रविवार के दिन की शुरुआत कोहरे की घनी चादर और भीषण गलन ठिठुरन के साथ हुई। दृश्ता करीब-करीब शून्य रही। कोहरे के साथ-साथ गलन और ठिठुरन से जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। 
पूर्वांचल से लेकर पश्चिमांचल तक रविवार की सुबह की शुरुआत घने कोहरे के साथ हुई। कहीं-कहीं पर विजबिलटी शून्य जैसी रही। सड़के शांत रहीं। वाहन रेंगते हुए नजर आए। कोहरे के साथ गलन का भी असर रहा।  इसके पहले शनिवार को भी शीतलहर ने पूरे प्रदेश को चपेट में लिया। शनिवार को इसका दायरा बढ़ा और कानपुर, शाहजहांपुर, मुजफ्फरनगर व मेरठ भीषण चपेट में रहे। शेष इलाकों ने गलन भरी ठंड की मार झेली। लुढ़कते पारे के साथ मुजफ्फरनगर प्रदेश में सबसे ठंडा रहा। वहां न्यूनतम तापमान 2.8 डिग्री दर्ज हुआ। प्रदेश में 50 फीसदी से अधिक इलाके शनिवार को घने कोहरे की चपेट में रहे।
आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह के मुताबिक, कानपुर में न्यूनतम तापमान स्थिर बना रहा, यहां पर न्यूनतम तापमान 3 डिग्री ही रहा। मेरठ में भी पारे में गिरावट दर्ज की गई। यह 4.8 के 3.4 डिग्री तक लुढ़क गया। बरेली में न्यूनतम तापमान में 4.6 व शाहजहांपुर में 3.9 डिग्री दर्ज हुआ। लखनऊ भी ठंडा रहा, लेकिन पारे में थोड़ी बढ़ोतरी के कारण ठंड जितनी शुक्रवार को थी उतनी ही शनिवार को रही। यहां न्यूनतम तापमान 7.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ।
इन जिलों के लिए अलर्ट
मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, शीतलहर, घने कोहरे के लिहाज से अगले तीन दिन अहम है। शीतलहर के साथ कहीं-कहीं दिन भी अत्यधिक ठंडे हो सकते हैं। अमरोहा, बहराइच, बलरामपुर, बरेली, बस्ती, बिजनौर, देवरिया, गोंडा, गोरखपुर, कुशीनगर, लखीमपुरखीरी, महाराजगंज, मेरठ, मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर, पीलीभीत, रामपुर, सहारनपुर, संभल, शाहजहांपुर, शामली, सिद्धार्थनगर, सीतापुर, श्रावस्ती, आगरा, अमेठी, औरैया, बांदा, चंदौली, चित्रकूट, एटा, इटावा, फरुखाबाद, फतेहपुर, फिरोजाबाद, हमीरपुर, हरदोई, हाथरस, जालौन, जौनपुर, कन्नौज, कानपुर देहात, कानपुरनगर, कासगंज, कौशांबी, लखनऊ, मैनपुरी, मथुरा, प्रतापगढ़, प्रयागराज, रायबरेली, संत रविदासनगर, उन्नाव व वाराणसी इससे ज्यादा प्रभावित होंगे।पश्चिम यूपी में आज पाले की चेतावनी भी है।
कोहरे के चलते आगरा, प्रयागराज, कानपुर और गोरखपुर सहित सभी ग्रामीण इलाको में दृश्यता शून्य मीटर तक पहुंच गई। हमीरपुर, फतेहगढ़ में 10, बलिया में 15, अलीगढ़, बहराइच में 30, हरदोई में 40, लखनऊ, वाराणसी, गाजीपुर, शाहजहांपुर में 50 मीटर तक दृश्यता रही।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद