पुलिस की पिटाई से घायल युवक की उपचार के दौरान हुई मौत, परिजनो ने काटा बवाल


आजमगढ़ जिले के तरवां थाना क्षेत्र के ठाटा ऊचहुंआ गांव निवासी एक युवक की एक पखवारा पूर्व पुलिस द्वारा की गई पिटाई से घायल की मौत उपचार के दौरान राजकीय मेडिकल कॉलेज में हो गया।  युवक की मौत के बाद परिजनो ने हंगामा मचाया और पुलिस को आरोपित करते हुए कार्यवाई की मांग किया हलांकि पुलिस घटना को मोड़ने में जुटी है।परिजन तरवां थाना पुलिस पर ही मारने-पीटने का आरोप लगा रहे हैं। इस बाबत एसपी को भी मृतक के पुत्र ने पत्रक दिया था। मौत की सूचना पर तरवां पुलिस शव पोस्टमार्टम के लिए भेजने पहुंची तो परिजन शव देने से इंकार कर दिए। 
ठाटा ऊंचहुंआ गांव निवासी शोभनाथ चौहान की बीते सात जनवरी की रात पिटाई हुई थी। गंभीर चोट के चलते वह बेहोश हो गया था। परिजन उसे पहले राजकीय मेडिकल कालेज ले गए। जहां से जिला अस्पताल में कुछ दिनों तक इलाज कराया।
इसके बाद उसे प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां भी जवाब देने पर परिजन उसे पुन: राजकीय मेडिकल कालेज में भर्ती कराए। जहां इलाज के दौरान रविवार की सुबह शोभनाथ की मौत हो गई।
परिजनों का आरोप है कि एक महिला की शिकायत पर पहुंची तरवां थाना पुलिस के सिपाहियों ने ही शोभनाथ की पिटाई की थी। थाने पर शिकायत करने पर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई तो एसपी को भी पीड़ित के पुत्र धीरज चौहान ने पत्रक दिया था। युवक की मौत के बाद परिजन शव लेकर घर चले गए। मौत की सूचना पर तरवां थाना पुलिस मृतक के घर पहुंची तो परिजन शव देने से इंकार कर दिया। परिजन पहले दोषी पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। इसके बाद मौके पर कई थानों की फोर्स के साथ ही सीओ हितेंद्र कृष्ण, एसडीएम लालगंज सुरेंद्र नाथ त्रिपाठी भी पहुंच गए। परिजनों को समझाने की कवायद चलती रही। 

Comments

Popular posts from this blog

जिले के पांच प्राथमिक विद्यालयो के औचक निरीक्षण में तीन विद्यालय के मास्टरो को मिली कारण बताओ नोटिस, रोका गया वेतन

स्कूल के आफिस में प्रिसिंपल और टीचर की अश्लील हरकते हुई वायरल,पुलिस क्यों है बेखबर?

परिषदीय विद्यालयो में डिजिटल उपस्थित का शिक्षको के विरोध के बीच अब सीएम योगी का दखल,जानिए जिम्मेदारो को क्या मिला आदेश