संदेश

जुलाई, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

आरटीआई कानून खत्म करना चाहती है सरकार, हर नागरिक कमजोर होगा : सोनिया गांधी

नयी दिल्ली, 23 जुलाई  लोकसभा में सूचना का अधिकार कानून संशोधन विधेयक पारित होने की पृष्ठभूमि में कांग्रेस संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी ने मंगलवार को आरोप लगाया कि सरकार इस संशोधन के माध्यम से आरटीआई कानून को खत्म करना चाहती है जिससे देश का हर नागरिक कमजोर होगा। सोनिया ने एक बयान में कहा, 'यह बहुत चिंता का विषय है कि केंद्र सरकार ऐतिहासिक सूचना का अधिकार कानून-2005 को पूरी तरह से खत्म करने पर उतारु है।' उन्होंने कहा, 'इस कानून को व्यापक विचार-विमर्श के बाद बनाया है और संसद ने इसे सर्वसम्मति से पारित किया। अब यह खत्म होने की कगार पर पहुंच गया है।' संप्रग प्रमुख ने कहा, 'पिछले कई वर्ष में हमारे देश के 60 लाख से अधिक नागरिकों ने आरटीआई के उपयोग किया और प्रशासन में सभी स्तरों पर पारदर्शिता एवं जवाबदेही लाने में मदद की। इसका नतीजा यह हुआ कि हमारे लोकतंत्र की बुनियाद मजबूत हुई।' उन्होंने कहा, 'आरटीआई का सक्रिय रूप से इस्तेमाल किये जाने से हमारे समाज के कमजोर तबकों को बहुत फायदा हुआ है।" सोनिया ने दावा किया, 'यह स्पष्ट है कि मौजूदा सरकार आटीआई को बक

पूरी दुनिया में आज मोदी जी को चुनौती देने वाला कोई नहीं - विद्यासागर सोनकर

    जौनपुर ।  भाजपा  पूरे देश में  संगठन को मजबूत करने के लिए  सदस्यता अभियान को पूरी गति के साथ चला रही है । यह कार्य आगामी 15 अगस्त 19 तक सतत चलाया जायेगा  इसके बाद बूथ से लेकर  राष्ट्रीय स्तर तक पार्टी के पदाधिकारियों का चुनाव कराया जाएगा । ये बातें  भाजपा के  एम एल सी  एवं  प्रदेश  महामंत्री  विद्या सागर सोनकर ने  मीडिया से  रूबरू होने के पश्चात कहा है । श्री  सोनकर ने कहा कि  देश के इतिहास में पहली बार  प्रधानमंत्री श्री मोदी जी के नेतृत्व में किसी सरकार को  दूसरी बार  लोकसभा के चुनाव में  रिकॉर्ड बहुमत की जीत हासिल हुई है । पीएम मोदी जी ने नेतृत्व में  हमारी आर्थिक स्थिति अब खासी मजबूत हो रही है । 2015 की अपेक्षा आज हमारे देश की  आर्थिक स्थिति  बढ़ कर  6 प्रति. हो गयी है । श्री सोनकर ने कहा कि  सन् 1993 के विधानसभा चुनाव में भी  सपा बसपा एक साथ चुनाव लड़ा था तब भी  भाजपा बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी  लेकिन तब दबंगयी कर भाजपा की सरकार नहीं बनने दिया गया था  लेकिन आज  स्थिति बदल गई है । आज पूरी दुनिया में मोदी जी को चुनौती देने वाला कोई नहीं है । दावा किया कि  देश प्रदेश की भाजपा सरक

नीरज के कृत्य से चन्द्रशेखर जी की आत्मा रो रही हो- राजीव

गाजीपुर। सपा के राष्‍ट्रीय महासचिव राजीव राय ने नीरज शेखर के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि नीरज शेखर जनता को बताये कि 2007 के पहले वह क्‍या करते थे। श्री राय ने कहा कि शेखर परिवार को मुलायम सिंह और अखिलेश यादव का ऐहसानमंद होना चाहिए जिन्‍होने हासिए पर पड़े नीरज शेखर को कंधे पर बैठाकर लोकसभा भेज दिया। उन्‍होने बताया कि मुलायम सिंह यादव ने चंद्रशेखर जी के सम्‍बंधों का निर्वाह किया और हर समय नीरज शेखर को राजनीति की बड़ी कुर्सी प्रदान की। जिससे कि चंद्रशेखर की आत्‍मा यह न कह सके कि मेरे मरने के बाद मेरे बच्‍चों का मेरे मित्रो ने ख्‍याल नही किया। श्री राय ने कहा कि जबतक चंद्रशेखर जी जिंदा थे तकतक नीरज शेखर की कोई राजनीतिक औकात नही थी। चंद्रशेखर जी के मृत्‍यु के बाद वह बेसहारा व बेचारा हो गये थे। ऐसे में मुलायम सिंह के परिवार ने उनको सहयोग देकर राजनीति के उच्‍च शि‍खर पर पहुंचाया। उन्‍होने कहा कि चंद्रशेखर जी जीवन-पर्यत्‍न अपने आदर्शो से समझौता नही किया। आजीवन उन्‍ही लोगों से लड़ते रहे जिनसे आज नीरज शेखर ने हाथ मिला लिया है यह देखकर चंद्रशेखर जी की आत्‍मा भी रो रही होगी

पत्रकार संघ की कार्यकारिणी भंग 8 सदस्यीय कमेटी करेगी नया चुनाव

जौनपुर।  जौनपुर पत्रकार संघ की वर्तमान कार्यकारिणी को जिला अध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह ने भंग कर दिया।  उन्होंने स्वयं भी पद छोड़ने का भी निर्णय लिया है।  इस आशय का निर्णय आज जौनपुर पत्रकार संघ की बैठक में लिया गया। बैठक पत्रकार भवन में संघ के अध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह की अध्यक्षता में हुई । बैठक में उपस्थित सदस्यों ने जौनपुर पत्रकार संघ की नई कार्यकारिणी के गठन पर अपने अपने विचार रखे । पत्रकारों  ने सर्वसम्मति से संघ के नए कार्यकारिणी का चुनाव कराने का निर्णय लिया है। बैठक में संघ के अध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह ने कहा कि वर्तमान में वह राजनीतिक और सामाजिक कार्यों में भागीदारी होने की वजह से संघ को पर्याप्त समय नहीं दे पा रहे हैं इसलिए संघ की नई कार्यकारिणी गठित होना चाहिए। उन्होंने नई कार्यकारिणी के गठन का प्रस्ताव पास करते हुए वर्तमान जौनपुर पत्रकार संघ की कार्यकारिणी को भंग कर दिया।  नए कार्यकारिणी के गठन के लिए 8 वरिष्ठ पत्रकारों की एक समिति गठित की गई हैं।  यह समिति जौनपुर पत्रकार संघ के अध्यक्ष महामंत्री और अन्य पदों के नामों पर विचार करेगी।  तत्पश्चात कार्यकारिणी का गठन किया जाएगा। इस समिति म

यूपी में भाजपा ने खेला बैकवर्ड कार्ड स्वतंत्र देव सिंह बने अध्यक्ष

लखनऊ1 योगी सरकार में परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह को यूपी बीजेपी का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है. सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद उनके नाम पर मुहर लगी. वह डॉ महेंद्रनाथ पांडेय की जगह लेंगे। गौरतलब है कि स्वतंत्र देव सिंह का जन्म यूपी के मिर्जापुर जिले में हुआ, लेकिन उनकी कर्मभूमि बुंदेलखंड का जालौन जिला रही. बिना किसी राजनीतिक पृष्ठभूमि वाले स्वतंत्र देव सिंह अपने परिवार के पहले व्यक्ति थे जो आरएसएस से जुड़े फिर बीजेपी में आकर सक्रिय राजनीति में इस मुकाम तक पहुंचे. स्वतंत्र देव सिंह 1986 में आरएसएस से जुड़कर संघ प्रचारक के रूप में काम किया. इसके बाद 1988-89 तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् में संगठन मंत्री बने. वर्ष 1991 में बीजेपी कानपूर के युवा शाखा मोर्चा प्रभारी बने. बाद में उन्हें 1994 में बुंदेलखंड के युवा मोर्चा के प्रभारी के रूप में राजनीति में कदम रखा. उन्हें पार्टी ने 1996 में युवा मोर्चा का महामंत्री नियुक्त किया. साल 1998 में उन्हें दुबारा बीजेपी प्रदेश युवा मोर्चा का महामंत्री बनाया गया. वह 2001 में बीजेपी के युवा मोर्चा के

पहली वर्षात ने प्राथमिक विद्यालय के व्यवस्थाओं की खोली पोल

जौनपुर । प्रदेश की  सरकार प्राथमिक शिक्षा में  सुधार करने के दावे तो  तमाम कर रही है  लेकिन सरकार के अधीन काम करने वाले शिक्षा विभाग के अधिकारी प्राथमिक शिक्षण संस्थानों को व्यवस्थित करने के लिए कोई प्रयास नहीं  कर रहे है  तभी तो  वर्षात  शुरू होते ही  जिले के लगभग  20 प्रतिशत प्राथमिक विद्यालयों में वर्षा का पानी भर गया है  जिससे शिक्षण कार्य प्रभावित हो गया है ।अध्यापक विद्यालय में ताला बंद कर अवकाश मना रहे हैं । उदाहरण के तौर पर  जिला मुख्यालय से  सटे  गांव  राम नगर भरसणा  प्राथमिक विद्यालय है। जहां पर प्रति वर्ष वर्षात शुरू होते ही विद्यालय में ताला बंद कर दिया जाता है इस वर्ष भी वर्षात का असर दिख गया शिक्षण कार्य प्रभावित हो रहा है । इस सन्दर्भ में  खंड शिक्षा अधिकारी शहर से दूर भाष पर बात किया तो उनका कहना है कि सरकार दावे तो तमाम करती है लेकिन व्यवस्थाओ के लिए बजट की जरूरत होती है जिसे सरकार मुहैया नहीं करा सकती है ऐसे में विद्यालय की व्यवस्थाओ को दुरुस्त करना  संभव नहीं हो सकता है । ग्राम प्रधान  से बातचीत करने का प्रयास तो किया लेकिन  प्रधान  कूछ बताने से परहेज़ कर लिया है

वाराणसी : दो युवतियों ने आपस में ही एक-दूसरे को डाला जयमाल , कर ली शादी

वाराणसी : मोहनसराय क्षेत्र के घांगलवीर बाबा मंदिर के पीछे स्थित शिवमंदिर में मंगलवार को दो युवतियांं एक-दूसरे को जयमाल डाल परिणय सूत्र में बंध गईं। दोनों युवतियां शादी के बाद कानपुर रवाना हो गईं। शादी करने वाली एक युवती कानपुर तो दूसरी वाराणसी की है। शिवमंदिर के पुजारी सूड्डू महराज के अनुसार एक ऑटो में बैठकर दिन में दो युवतियां आईं। दोनों जींस व टी-शर्ट पहने थीं। वहां आते ही दोनों ने पहले पूजा-अर्चना की। शुरू में युवतियां अन्य श्रद्धालुओं की भांति पूजा-पाठ कर रहीं हैं। कुछ ही देर बाद दोनों आपस में शादी की अनुमति मांगने लगीं। यह सुन पुजारी असहज हो गए। लेकिन लड़कियों के अनुनय-विनय को देखते अनुमति दे दी। इसके बाद दोनों ने एक-दूसरे को जयमाल पहनाया। तत्पश्चात एक युवती ने दूसरी को मंगलसूत्र पहनाने के बाद चुनरी भी ओढ़ा दी। पुजारी सूड्डू महराज के अनुसार इस मंदिर में शादी कराई जाती है और बाकायदा शुल्क लेकर पंजीकरण भी किया जाता है। लिखापढ़ी के दौरान वर व कन्या पक्ष का बाकायदा उल्लेख भी होता है। पुजारी का कहना है कि फिलहाल इन दोनों युवतियों की शादी को पंजीकृत नहीं किया गया है। दोनों युवतियां जि