यूपी में भाजपा ने खेला बैकवर्ड कार्ड स्वतंत्र देव सिंह बने अध्यक्ष

लखनऊ1 योगी सरकार में परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह को यूपी बीजेपी का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है. सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद उनके नाम पर मुहर लगी. वह डॉ महेंद्रनाथ पांडेय की जगह लेंगे। गौरतलब है कि स्वतंत्र देव सिंह का जन्म यूपी के मिर्जापुर जिले में हुआ, लेकिन उनकी कर्मभूमि बुंदेलखंड का जालौन जिला रही. बिना किसी राजनीतिक पृष्ठभूमि वाले स्वतंत्र देव सिंह अपने परिवार के पहले व्यक्ति थे जो आरएसएस से जुड़े फिर बीजेपी में आकर सक्रिय राजनीति में इस मुकाम तक पहुंचे. स्वतंत्र देव सिंह 1986 में आरएसएस से जुड़कर संघ प्रचारक के रूप में काम किया. इसके बाद 1988-89 तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् में संगठन मंत्री बने. वर्ष 1991 में बीजेपी कानपूर के युवा शाखा मोर्चा प्रभारी बने. बाद में उन्हें 1994 में बुंदेलखंड के युवा मोर्चा के प्रभारी के रूप में राजनीति में कदम रखा. उन्हें पार्टी ने 1996 में युवा मोर्चा का महामंत्री नियुक्त किया. साल 1998 में उन्हें दुबारा बीजेपी प्रदेश युवा मोर्चा का महामंत्री बनाया गया. वह 2001 में बीजेपी के युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष भी बने। स्वतंत्र देव सिंह ने पहला विधानसभा चुनाव 2012 में लड़ा. बीजेपी ने स्वतंत्र देव सिंह को उरई की कालपी सीट से मैदान में उतारा था. यहां उन्हें बुरी तरह हार मिली थी. इसके बाद भी उन्हें बीजेपी ने एमएलसी बनाया. वर्ष 2014 में हुए आम चुनाव उनके लिए महत्त्वपूर्ण रहे. बीजेपी ने उत्तर प्रदेश में होने वाली रैलियों के आयोजन की कमान दे दी. यहीं से वह पीएम मोदी व अमित शाह के और करीब आ गए. बुंदेलखंड में मजबूत पकड़ के चलते 19 में से अधिकतर सीटों पर टिकट उनकी सलाह पर ही दिए गए. बीजेपी ने यहां से सभी 19 सीटें जीतीं तो उनका कद और बढ़ गया. वर्ष 2017 में जब बीजेपी को यूपी विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत हासिल हुआ तो मुख्यमंत्री की रेस में उनका भी नाम सामने आया था. हालांकि, बाद में योगी आदित्यनाथ के नाम पर मुहर लगी. इसके बाद स्वतंत्र देव सिंह योगी सरकार में परिवहन मंत्री का स्वतंत्र प्रभार मिला।

Comments

Popular posts from this blog

डीएम जौनपुर ने चार उप जिलाधिकारियों का बदला कार्यक्षेत्र जानें किसे कहां मिली नयी तैनाती देखे सूची

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जौनपुर की अहम भूमिका एसटीएफ को मिली,जानें कहां से जुड़ा है कनेक्शन

जौनपुर में आधा दर्जन से अधिक थानाध्यक्षो का हुआ तबादला,एसपी ने बदला कार्य क्षेत्र