पहली वर्षात ने प्राथमिक विद्यालय के व्यवस्थाओं की खोली पोल

जौनपुर । प्रदेश की  सरकार प्राथमिक शिक्षा में  सुधार करने के दावे तो  तमाम कर रही है  लेकिन सरकार के अधीन काम करने वाले शिक्षा विभाग के अधिकारी प्राथमिक शिक्षण संस्थानों को व्यवस्थित करने के लिए कोई प्रयास नहीं  कर रहे है  तभी तो  वर्षात  शुरू होते ही  जिले के लगभग  20 प्रतिशत प्राथमिक विद्यालयों में वर्षा का पानी भर गया है  जिससे शिक्षण कार्य प्रभावित हो गया है ।अध्यापक विद्यालय में ताला बंद कर अवकाश मना रहे हैं ।
उदाहरण के तौर पर  जिला मुख्यालय से  सटे  गांव  राम नगर भरसणा  प्राथमिक विद्यालय है। जहां पर प्रति वर्ष वर्षात शुरू होते ही विद्यालय में ताला बंद कर दिया जाता है इस वर्ष भी वर्षात का असर दिख गया शिक्षण कार्य प्रभावित हो रहा है ।
इस सन्दर्भ में  खंड शिक्षा अधिकारी शहर से दूर भाष पर बात किया तो उनका कहना है कि सरकार दावे तो तमाम करती है लेकिन व्यवस्थाओ के लिए बजट की जरूरत होती है जिसे सरकार मुहैया नहीं करा सकती है ऐसे में विद्यालय की व्यवस्थाओ को दुरुस्त करना  संभव नहीं हो सकता है ।
ग्राम प्रधान  से बातचीत करने का प्रयास तो किया लेकिन  प्रधान  कूछ बताने से परहेज़ कर लिया है । जो भी  हो खबर के मुताबिक जनपद में लगभग डेढ़ दर्जन के आसपास ऐसे  प्राथमिक विद्यालय है जिनके परिसर में  वर्षात का  पानी भर जाने से शिक्षण कार्य बंद कर दिया गया है । हलांकि जिले के  जिलाधिकारी अरविंद मलप्पा बंगारी  कहते हैं कि  पानी निकालने की व्यवस्था किया जा रहा है ताकि शिक्षण कार्य को सुचारू रूप से चलाया जा सके।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद