शिक्षा विभाग के फर्जीवाड़े से सीएम शख्त, आदेश प्रदेश के सभी शिक्षकों का चेक किया जाये डाक्युमेंट



लखनऊ । प्रदेश में बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जीवाड़ा को लेकर के सीएम योगी आदित्यनाथ काफी गंभीर हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण काल में लॉकडाउन की समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने प्रदेश के हर शिक्षक का डॉक्युमेंट चेक करने का निर्देश दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ रविवार को अपने आवास पर टीम-11 के साथ समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण के साथ ही अनलॉक की समीक्षा की। सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम को निर्देश दिया कि सभी कामगार व श्रमिकों को सामाजिक व आर्थिक सुरक्षा देने के लिए सरकार कार्ययोजना तैयारण करे। सरकार इन सभी को रोजगार देने के लिए हर स्तर पर संल्पित है। इसी उद्देश्य से राज्य सरकार ने इनकी स्किल मैपिंग कराई गई है। उन्होंने कहा कि अब तक 51 लाख से अधिक कामगार व श्रमिकों को रोजगार से जोड़ा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से उन्हेंं ग्रामीण आजीविका मिशन से जोड़ा जाए। इनको अगरबत्ती, धूपबत्ती बनाने जैसी गतिविधियों के तहत उन्हेंं रोजगार मुहैया कराया जा सकता है। इसके साथ ही साथ अलावा अचार, मुरब्बा, पापड़, सिलाई आदि गतिविधियों के तहत रोजगार की काफी सम्भावनाएं हैं। महिलाओं को कारगर प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार के लिए तैयार किया जाए। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों की नियुक्ति में बड़ा घालमेल सामने आ रहा है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि अब प्रदेश में सिर्फ बेसिक ही नहीं बल्कि माध्यमिक शिक्षा व उच्च शिक्षा विभाग के साथ समाज कल्याण विभाग के स्कूल व कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में नियुक्त सभी शिक्षकों डॉक्युमेंट की जांच वरीयता पर कराएं। इनकी जांच के लिए एक डेडिकेटेड टीम बनाई जाए। इसके साथ ही जिसका भी प्रमाण पत्र या अंक पत्र फर्जी या गलत पाया जाता है, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। तत्काल ही सेवा समाप्त करें।

Comments

  1. महोदय
    मै जौनपुर शहर के विद्यालय,सरस्वती बाल मन्दिर इण्टरमीडिएट कालेज शास्त्री नगर जौनपुर की अध्यापिकाओ को जो सम्बद्ध प्राइमरी में 20वर्ष से अधिक समय से पढ़ा रहीं हैं उनको एडेड वेतनमान नहीं मिल रहा है ।कृपया इस प्रकरण पर बहुत गम्भीरता से विचार करके असहाय अध्यापिकाओ को वेतनमान दिलाये । धन्यवाद ।

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा चपरासी ढाई लाख रुपए घूस ले रहा था चपरासी सहित एसीओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद